निवेश के तरीके

हड़ताल मूल्य

हड़ताल मूल्य

हड़ताल का असर: समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी 28 से, सहकारी समितियों की हड़ताल से असमंजस, जिला अधिकारी ने कहा- हमारी तैयारी पूरी

एक तरफ तो सहकारी समितियों की हड़ताल चल रही है, तो दूसरी तरफ 28 मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी शुरू होने वाली है। ऐसे में न सिर्फ किसान बल्कि अधिकारी भी पोसेपेश की स्थिति में हैं। यदि नियत तिथि तक हड़ताल समाप्त नहीं हुई तो समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी कार्य प्रभावित हो सकती है। खरीदी तारीख आगे बढ़ने से भी इंकार नहीं किया जा सकता।फिलहाल सोसायटी कार्यालय पर ताले डले हुए हैं।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग केन्द्रों पर खरीदी हेतु व्यवस्था सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहा है।जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी मनोहर सिंह ठाकुर ने बताया की शासन के आदेशानुसार तैयारी कर रह रहे हैं। जिले के सभी खरीदी केन्द्रों पर बारदान एवं अन्य सामग्री रवाना कर दी जाएगी। हालांकि लिखित तो आदेश तो हमारे पास 28 का भी नहीं है। इसके बावजूद हमारी तैयारी 28 मार्च की है।

स्लाट बुकिंग करवाना होगी

खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी अमिताभ शुक्ला ने बताया की पहले किसानों को मैसेज कर उपज बेचने के लिए बुलाते थे। इस वर्ष से किसान अपनी मनचाही तारीख पर उपार्जन बेचने के लिए ऑनलाइन स्लाट बुकिंग करवा सकते हैं। यह स्लाट बुकिंग खरीदी केंद्र, ई उपार्जन पोर्टल, कामन सर्विस सेंटर, लोकसेवा केंद्र, इंटरनेट केफे, एमपी ऑनलाइन पर हो सकती है।चूँकि किसानों के लिए यह प्रक्रिया एकदम नई है, विशेषकर अशिक्षित किसानों के लिए यह प्रक्रिया जटिल हो सकती है।

मार्केटिंग सोसायटी करेगी खरीदी-हड़ताल के चलते वृत्ताकार सहकारी संस्था के काटकूट, बलवाड़ा, बागोद जेठवाय एवं बड़वाह कार्यालय पर ताले लटके हैं। हड़ताल समाप्त न होने पर इन केन्द्रों पर खरीदी होगी या नही इसमें संशय है। मार्केटिंग सोसायटी बडवाह एवं सनावद दोनों सेंटर पर नियत तिथि से गेहूं एवं चना खरीदी कार्य करेगी। हालांकि यहां भी किसनों को अपनी उपज बेचने के लिए स्लाट बुकिंग कराना हड़ताल मूल्य होगा। उपार्जन विक्रय के लिए 3 हजार 7 सौ 84 किसानों ने अपना पंजीयन कराया है। गेहूं का समर्थन मूल्य 2015 है।

टूटी हड़ताल, तुलेगा समर्थन मूल्य पर गेहूं

हड़ताल में तहसील स्तरीय मार्केटिंग सोसायटियाें के कर्मचारी शामिल नहीं थे। इसके चलते धार में मोदी पेट्रोल पंप के पीछे मार्केटिंग सोसायटी पर तैयारी दिखी। यहां छांव के लिए टेंट व पेयजल के बंदोबस्त कर दिए गए। हम्माल बारदान पर छपाई करते नजर आए।

एक नजर
15 मई तक चलेगी खरीदी

1525 रु. है समर्थन मूल्य

82 केंद्रों पर होगी समर्थन मूल्य की गेहूं खरीदी

52030 किसानों ने कराया है पंजीयन

3000 गठानें बारदान भेजा है 15 दिन की खरीदी के लिए केंद्रों पर

धार. कलेक्टर कार्यालय परिसर के शेड में धरने पर बैठे कर्मचारियों को मनाने की कोशिश करते सीसीबी अध्यक्ष व अन्य।

भास्कर संवाददाता | धार

दिनभर की मान-मनौव्वल और बातचीत के दौर के बाद मंगलवार देर शाम सोसायटियों के कर्मचारी-अधिकारियों की हड़ताल टूट गई। इससे बुधवार से शुरू होने वाली समर्थन मूल्य पर गेहूं की सरकारी खरीदी पर छाया संकट टल गया। जिले में पूर्व निर्धारित 82 केंद्रों पर गेहूं तुलेगा।

कर्मचारी-अधिकारी समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के दो दिन पहले सोमवार से बेमियादी हड़ताल पर उतर गए थे। इन्हीं कर्मचारियों के हाथ में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के बंदोबस्त की पूरी जिम्मेदारी थी, जिसके चलते सरकारी खरीदी प्रभावित होने का अंदेशा बना हुआ था। अफसरों ने तो हाथ टेक दिए थे लेकिन सीसीबी अध्यक्ष राजीव यादव मंगलवार को दिनभर गतिरोध खत्म करने के लिए जुटे रहे। सीसीबी के पूरे बोर्ड को लेकर कलेक्टोरेट के टीन शेड में हड़तालियों को मनाने पहुंचे। प्रदेश स्तर पर उपाध्यक्ष देवराजसिंह परिहार से चर्चा की। प्रदेश सरकार द्वारा कर्मचारियों की मांगों पर दिए गए आश्वासन और स्थानीय मांगों को लेकर की गई कार्रवाई के बारे में बताया। यादव से कर्मचारियों ने दोपहर में निर्णय लेने के लिए शाम तक का समय मांगा। शाम को सूचित किया कि हड़ताल खत्म कर गेहूं खरीदी में जुटेंगे। हड़ताल खत्म होने से जिले में सोमवार से बंद पड़ी राशन दुकानें भी खुल जाएंगी। सोसायटियों में ऋण की अटकी वसूली भी शुरू हो जाएगी। सीसीबी ने वसूली के लिए आखिरी तारीख 15 मार्च से बढ़ाकर 28 मार्च कर दी है।

दोपहर में सीसीबी अध्यक्ष यादव के धरनास्थल पर पहुंचने पर कर्मचारियों से हड़ताल खत्म करने का निवेदन किया गया। इस पर कर्मचारी संघ के कुछ सदस्यों ने मौके पर ही यादव को हड़ताल समाप्त करने का आश्वासन दे दिया। इसके बाद कर्मचारी धरना स्थल पर ही आपस में उलझ गए। अन्य कर्मचारी बोले-आपने तो बताया था कि सीसीबी अध्यक्ष आएंगे, उनसे चर्चा के बाद अापस में निर्णय कर हड़ताल के बारे में तय किया जाएगा लेकिन सीधे फैसला सुना दिया। इस पर हड़ताल समाप्ति के पक्षधर दूसरे गुट के कर्मचारी बोले-आपको हड़ताल करनी है तो करो, हम तो कल से गेहूं तौलेंगे। खासी बहस के बाद हड़ताल खत्म करने की सूचना दी गई। देर शाम को जिले के सभी केंद्रों पर हड़ताल समाप्ति के बारे में बता दिया गया। अधिकारी भी व्यवस्थाओं को लेकर राहत महसूस करने लगे।

मोहनपुरा-नौगांव केंद्र एनमौके पर शिफ्ट
गेहूं खरीदी के लिए बनाए गए 82 केंद्रों में से दो केंद्र मोहनपुरा और नौगांव को शिफ्ट करने के आदेश मंगलवार को अचानक कर दिए गए। इन दोनों केंद्रों की उपज धार में पुराने बायपास पर अामखेड़ा वेयरहाउस पर तौली जाएगी। आदेश मिलने के बाद सोसायटी के ऑपरेटर आदि वेयरहाउस पहुंचे तो पानी, छांव, बिजली के बंदोबस्त नहीं देख चौंक गए। कहते रहे यहां खरीदी कैसे करेंगे।

मूल्य वृद्धि पर हड़ताल ग्रीस हड़ताल मूल्य को पंगु बना दिया

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को ग्रीस के सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों की यूनियनों द्वारा आयोजित हड़तालों ने स्कूलों, अस्पतालों और मीडिया जैसी सार्वजनिक सेवाओं को रोक दिया और सार्वजनिक परिवहन को भी प्रभावित किया।

प्रतिभागियों ने बढ़ती मुद्रास्फीति से निपटने के लिए और अधिक समर्थन मांगा जिससे उनकी क्रय शक्ति कम हो गई है।

निजी क्षेत्र के एक कर्मचारी ने सिन्हुआ को बताया, "आज हमारे देश में जो हो रहा है वह तर्क से परे है. हम पीड़ित हैं।"

"हम आज यहां हमारे लिए हैं, हमारे बच्चों के लिए, हमारे माता-पिता के लिए, हमारे भाइयों के लिए, पूरे समाज के लिए… सामाजिक असमानताओं के लिए नहीं। श्रमिकों के लिए हाँ, "एक सिविल सेवक ने कहा, इससे पहले कि प्रदर्शनकारियों और पुलिस के एक समूह के बीच मामूली झड़पें हुईं।

श्रमिक संघों ने राज्य की सब्सिडी को अब तक अपर्याप्त बताते हुए बिजली की कीमतों में भारी कटौती का अनुरोध किया है।

उन्होंने घरों और व्यवसायों के लिए मूल वस्तुओं पर हड़ताल मूल्य मूल्य सीमा और कम करों के साथ-साथ मजदूरी और पेंशन में पर्याप्त वृद्धि के हड़ताल मूल्य लिए भी कहा।

वित्त मंत्रालय के अनुसार, एक वर्ष के भीतर घरों और व्यवसायों को राज्य सब्सिडी में लगभग 10 बिलियन यूरो आवंटित किए गए हैं।

सरकार ने हाल ही में न्यूनतम वेतन में वृद्धि की थी और अगले साल पेंशन में 7 प्रतिशत की वृद्धि का वादा किया था।

मूल्य वृद्धि के खिलाफ हड़ताल ग्रीस में सेवाएं बंद

सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के कुछ कर्मचारियों ने कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ 24 घंटे की राष्ट्रव्यापी हड़ताल के दौरान बुधवार को ग्रीस में नौकरी छोड़ दी, जिससे देश भर में सेवाओं और परिवहन में बाधा आ रही थी।

घाट बंदरगाह में बंधे रहे, ग्रीस के द्वीपों से संबंध विच्छेद कर रहे थे, जबकि ग्रीक राजधानी में टैक्सियाँ सड़कों से दूर रहीं। एथेंस में कोई बस या ट्रॉली नहीं चल रही थी, जबकि तीन मेट्रो लाइनों में से केवल एक ही चालू थी, दोपहर तक सीमित सेवा चल रही थी।

उड़ान यातायात नियंत्रकों को हड़ताल में भाग लेने के कारण छह घंटे का काम रोक दिया गया था, लेकिन अदालत द्वारा उनकी भागीदारी को अवैध मानने के बाद मंगलवार देर रात को उस फैसले को उलटना पड़ा। हालांकि, एयरलाइंस ने पहले ही दर्जनों उड़ानें रद्द कर दी थीं, जिन्हें वे अंतिम समय में पुनर्निर्धारित करने में असमर्थ थीं।

एथेंस के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने वाले यात्रियों ने शहर में आने के लिए बेहद सीमित विकल्पों के साथ खुद को पाया, क्योंकि न तो बसें, न ही नियमित टैक्सी और न ही मेट्रो और न ही उपनगरीय रेलवे चल रहे थे। हवाई अड्डे पर कार किराए पर लेने वाली एजेंसियों पर भीड़ जमा हो गई, जबकि अन्य ने इंटर-सिटी बसों पर जाने की कोशिश की, हड़ताल मूल्य जो अभी भी चलने वाले सार्वजनिक परिवहन का एकमात्र रूप थी।

सरकारी स्कूल बंद थे, जबकि सरकारी अस्पताल कम कर्मचारियों के साथ चल रहे थे और स्थानीय पत्रकार हड़ताल में शामिल होने के कारण निजी या सरकारी मीडिया पर कोई समाचार बुलेटिन नहीं चल रहे थे।

निजी क्षेत्र की ट्रेड यूनियनों के एक संघ, जीएसईई ने ऊर्जा और बुनियादी वस्तुओं के लिए कीमतों में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए कहा, "यूनियनों के साथ-साथ श्रमिक बढ़ी हुई कीमतों के खिलाफ लड़ रहे हैं जो ग्रीक परिवारों को डूब रहे हैं।" यूनियनों ने न्यूनतम वेतन में वृद्धि का आह्वान किया, वर्तमान में वेतनभोगी श्रमिकों के लिए प्रति माह हड़ताल मूल्य केवल 700 यूरो (डॉलर) और मुद्रास्फीति से निपटने के लिए साहसिक उपाय, जो सितंबर में 12% थी।

मध्य एथेंस के लिए विरोध मार्च की योजना बनाई गई थी, मुख्य सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के ट्रेड यूनियनों के साथ अपने प्रदर्शनों को सुबह 11 बजे शुरू करने के कारण, जबकि कम्युनिस्ट पार्टी-संबद्ध संघ ने आधे घंटे पहले अपने मार्च की योजना बनाई थी।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 195
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *