शुरुआती लोगों की मुख्य गलतियाँ

Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे

Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे
Mutual Funds Investment: एकमुश्त के अलावा आप इसमें मंथली किस्तों के रूप में SIP के माध्यम से इन्वेस्ट भी कर सकते हैं. Mutual Funds में भी SIP में लोगों का सबसे ज्यादा Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे इंट्रस्टेड हैं.

20210924 1323071 2

वर्ष 2022 में उच्च रिटर्न देने वाले भारत में शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान

निवेश भारत में संपत्ति बनाने का एक महत्वपूर्ण तरीका है. यह महंगाई को हराने, फाइनेंशियल लक्ष्यों को पूरा करने और अपने आर्थिक भविष्य को स्थिर बनाने में मदद करता है. अपने बैंक अकाउंट में पैसे को रखने की बजाय, आप स्टॉक्स, शेयर्स, म्यूचुअल फंड और फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे विभिन्न विकल्पों में इन्वेस्ट कर सकते हैं.

यह आपको फाइनेंशियल लक्ष्यों को प्राप्त करने और भारत के टॉप इन्वेस्टमेंट विकल्पों में इन्वेस्ट करके सुरक्षित जीवन जीने के लिए, भविष्य के लिए फाइनेंशियल सुरक्षा बनाने में मदद कर सकता है.

मार्केट में कुछ इन्वेस्टमेंट प्लान हैं, जिनमें उच्च स्तर के जोखिम होते हैं और अन्य एसेट क्लास की तुलना में लॉन्ग-टर्म में लाभकारी रिटर्न जनरेट करने की क्षमता होती है.

कई इन्वेस्टमेंट प्लान उपलब्ध होने के कारण, सही विकल्प चुनना चुनौतीपूर्ण हो सकता है. नीचे कुछ इन्वेस्टमेंट प्लान दिए गए हैं, जो सेविंग को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं.

भारत में सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान

अगर आप सोच रहे हैं कि पैसे कहां इन्वेस्ट करें, तो यहां कुछ प्रकार के इन्वेस्टमेंट दिए गए हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं:

स्टॉक्स

स्टॉक किसी कंपनी या इकाई के स्वामित्व में हिस्सेदारी को दर्शाते हैं. स्टॉक लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टर के लिए ज़्यादा रिटर्न प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक हैं. लेकिन, ये मार्केट के उतार-चढ़ाव से जुड़े होते हैं, इसलिए पूंजी की हानि का जोखिम हमेशा बना रहता है.

फिक्स्ड डिपॉजिट

जोखिम से बचने वाले इन्वेस्टर के लिए, फिक्स्ड डिपॉजिट एक आदर्श इन्वेस्टमेंट विकल्प है. एफडी आपके डिपॉजिट पर सुरक्षित रिटर्न प्रदान करती है और इस पर मार्केट के उतार-चढ़ाव का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है. उच्च-जोखिम लेने वाले इन्वेस्टर भी अपने पोर्टफोलियो को स्थिर बनाने के लिए एफडी, आरईआईटीएस और क्रिप्टो में इन्वेस्ट करने का विकल्प चुनते हैं.

आपको अपने पैसे कहां इन्वेस्ट करने चाहिए?

अपनी जोखिम क्षमता के आधार पर, आप या तो मार्केट-लिंक्ड या मार्केट से अप्रभावित रहने वाले इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करने का विकल्प चुन सकते हैं. मार्केट से जुड़े इन्वेस्टमेंट में अधिक रिटर्न मिलते हैं, लेकिन ये हमेशा सर्वश्रेष्ठ इन्वेस्टमेंट प्लान Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे नहीं होते क्योंकि इनमें पूंजी खोने का जोखिम रहता है. तुलना में, फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे इन्वेस्टमेंट टूल, फंड की अधिक सुरक्षा प्रदान करते हैं. बजाज फाइनेंस एक ऐसा फाइनेंसर है जो उच्च एफडी दरों और फंड की सुरक्षा का दोहरा लाभ प्रदान करता है.

अधिकांश इन्वेस्टमेंट विकल्पों में कुछ अस्थिरता होती है, और आमतौर पर जब जोखिम का स्तर अधिक होता है, तो इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न भी अधिक होता है. इसलिए, अक्सर इन्वेस्टमेंट के निर्णय इन्वेस्टर्स की जोखिम क्षमता के आधार पर लिए जाते हैं.

कम जोखिम वाले इन्वेस्टमेंट: फिक्स्ड-इनकम विकल्पों में बॉन्ड, डिबेंचर, फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम, और सरकारी सेविंग स्कीम शामिल हैं.

Mutual Fund क्या है? कैसे करें निवेश की शुरुआत? कितनी होगी कमाई?

क्या है म्यूचुअल फंड? कैसे करें निवेश की शुरुआत

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 04 अगस्त 2022,
  • (अपडेटेड 04 अगस्त 2022, 6:53 PM IST)

हम सभी ने म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) के बारे में कभी न कभी तो Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे सुना ही होगा. लेकिन निवेश का फैसला सभी नहीं ले पाते हैं. ये भी सच है कि अधिकतर लोगों को इस बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है. ऐसे लोग निवेश करना तो चाहते Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे हैं, लेकिन डरते हैं कि कहीं पैसा डूब ना जाए? आज हम आपके लिए म्यूचुअल फंड से जुड़ी पूरी जानकारी लेकर आए हैं.

क्या हैं म्यूचुअल फंड?

म्यूचुअल फंड एक ऐसा फंड है, जो AMC यानी एसेट मैनेजमेंट कंपनीज ऑपरेट करती है. इन कंपनियों में कई लोग अपने पैसे निवेश करते हैं. म्यूचुअल फंड द्वारा इन पैसों को को बॉन्ड, शेयर मार्केट समेत कई जगहों पर निवेश किया जाता है.

सम्बंधित ख़बरें

Infosys, RIL, ICICI Bank ने कराई रिकवरी, छठे दिन भी फायदे में Sensex-Nifty
नई शराब नीति पर दिल्ली सरकार का यू-टर्न, फिर लगेगी दुकानों पर लंबी लाइनें?
सोने-चांदी की कीमत में बड़ी गिरावट, आज इतने रुपये हुआ सस्ता
क्रेडिट कार्ड से पेमेंट से लेकर म्यूचुअल फंड तक, आज से ये 6 बड़े बदलाव
निवेश की राह पर भारतीय, 5 महीने में 70 लाख लोग MF से जुड़े

सम्बंधित ख़बरें

आसान शब्दों में कहें तो म्यूचुअल फंड बहुत सारे लोगों के पैसे से बना एक फंड (Fund) होता है. यहां पर एक फंड मैनेंजर होता है, जो फंड को सुरक्षित तरीके से थोड़ा-थोड़ा करके अलग-अलग जगह पर निवेश करते हैं. म्यूचुअल फंड से आप न सिर्फ शेयर बाजार में बल्कि गोल्ड पर भी निवेश कर सकते हैं.

क्या है एैसेट मैनेजमेंट कंपनी(AMC)?

ऐसी कंपनियां विभिन्न निवेशकों के द्वारा जमा किए गए फंडों को विभिन्न जगहों जैसे इक्विटी, बॉन्ड, गोल्ड, आदि में निवेश करती हैं और इस निवेश से मिलने वाले रिटर्न को निवेशकों में फंड यूनिट्स के अनुसार बांट देती हैं. एक अच्छा फंड मैनेजर फंड को सही तरीके से निवेश कर उसपर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न प्राप्त कर सकता है, जिससे निवेशक को अच्छे रिटर्न प्राप्त होंगे.

किस तरह से म्यूचुअल फंड काम करता है, ध्यान से समझते हैं?

Investment Kya Hota Hai | इन्वेस्टमेंट कितने प्रकार की होती है ?

इन्वेस्टमेंट जिसे हम हिंदी में निवेश कहते है जिसका मतलब होता है अपने पैसो को येसी जगह पर लगाये जिससे फ्यूचर में हम अपने लगाये हुए पैसो से ज्यादा रिटर्न मिल सके और लगाये हुए पैसो पर जितने पैसे हमें मिलते है उसे अपनी इन्वेस्टमेंट का रिटर्न कहते है |

उदाहरण के तौर पर समझे तो अगर हम किसी कंपनी शेयर में 1 लाख रूपए इन्वेस्ट करते है और फ्यूचर में हमारे इन्वेस्ट किये हुए पैसो की वैल्यू Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे बढकर 1 लाख 40 हज़ार रूपए हो जाती है तो हम कन्हेगे की हमे 1 लाख की इन्वेस्टमेंट पर 40 हज़ार का रिटर्न मिला या अगर परसेंटेज में कहे तो हमे 40% का रिटर्न मिला दोस्तों इन्वेस्टमेंट करने पर हमे मैनली चार तरीको से ही होता है |

1 > हमारी इन्वेस्टमेंट की वैल्यू या तो बड जाती है जिसे हम capital appreciation कहते है |

2 > हमारी इन्वेस्टमेंट पर इंटरेस्ट मिलता है जैसे की बैंक में FD पर मिलता है |


आखिर क्यों दुनिया के सबसे आमिर लोग इन्वेस्टमेंट करते है :

दोस्तों दुनिया की जानी मानी बुक rich dad poor dad जिनके लेखक रोबर्ट कियोसाकी ने कहा है जो सबसे इम्पोर्टेन्ट बात ये है की अमीर लोगो को गरीब लोगो से अलग बनाती है वो ये है की आमिर लोग पैसो के लिए काम नही करते है बल्कि पैसो को अपने लिए काम करवाते है और वह पैसे का सही जगह इन्वेस्टमेंट करके सही उपयोग है.

1. real state investment

2. share market investment

3. gold (commodities) investment

4. mutual fund investment

5. equity investment

1. real state investment :-

real state investment का मतलब जमीन (land) , घर , बंगला अपार्टमेंट , दुकान , commerce और non- commerce प्रोपर्टी को खरीद एवं बिक्री से है

अगर आप रियल स्टेट में निवेश करने का फायदा इसमें risk काफी कम होता है |

Investment Options: पैसा ही बनाकर देगा आपको जबरदस्त पैसा! बस जानिए कहां निवेश होगा ज्यादा फायदेमंद?

Investment Options: निवेश न हो तो बचत किस काम की. पैसा का ज्यादा फायदा लेने के लिए निवेश जरूरी है. इसलिए कहा जाता है- पैसा ही पैसा कमाकर देता है.

Investment Options: निवेश (Investment) और बचत (Savings) एक Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे Invesment क्या होता है और इन्वेस्टमेंट कैसे करे दूसरे पर्याय माने जाते हैं. हालांकि, होते बिल्कुल अलग है. बचत की आदत अच्छी होती है. लेकिन, निवेश न हो तो बचत किस काम की. पैसा का ज्यादा फायदा लेने के लिए निवेश जरूरी है. इसलिए कहा जाता है- पैसा ही पैसा कमाकर देता है. ये सिर्फ आपकी जरूरत पड़ने पर मदद नहीं करता. बल्कि आपके भविष्य की पूरी प्लानिंग (Future planning) तय करता है. ये तब संभव है जब आपको अपने गोल्स पता हों और निवेश की शुरुआत (How to start Investment) करने में देरी न करें. ये समझना जरूरी है कि आपकी बचत से ही निवेश का रास्ता खुलेगा.

कहां निवेश करें?

सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर कीर्तन शाह के मुताबिक, अक्सर पैसा पास होता है. लेकिन, ये नहीं पता होता कि निवेश की शुरुआत या कौन इंस्ट्रूमेंट में निवेश करें. लेकिन इसका जवाब आपकी प्लानिंग में ही छुपा है. घर या गाड़ी खरीदने जैसे लक्ष्य हों या शादी और बच्चों की पढ़ाई, सबसे पहले आपको अपने गोल्स के लिए रकम तय करनी होगी. इसके बाद तय करना होगा कि आपको कितना टाइम में ये लक्ष्य पूरे करने हैं.

  • अगर लंबे वक्त के लिए निवेश करना चाहते हैं तो इक्विटी आधारित इन्वेस्टमेंट अच्छा ऑप्शन हो सकता है.
  • छोटी अवधि वाले लक्ष्यों के लिए डेट (Debt Funds) या लिक्विड फंड (Liquid Funds) बेहतर हैं.
  • निवेश करने से पहले बचत जरूरी है, लेकिन इससे पहले किसी आपात स्थिति के लिए हमेशा इमरजेंसी फंड (Emergency Fund) होना जरूरी है.

एक्सपर्ट की बात जरूर सुनें

एक्सपर्ट सलाह देते हैं (Investment option) कम से कम 6 महीने के खर्च के बराबर की रकम को बैक-अप फंड (Bank-up fund) के तौर पर जमा करना चाहिए. एक्सपर्ट का मानना है कि बचत और निवेश (Investment Portfolio) एक ही सिक्के के दो पहलू हैं- एक दूसरे से अलग लेकिन एक दूसरे के बिना अधूरे हैं.

बचत और निवेश कितनी होनी चाहिए? ये इससे तय होगा कि आपको लक्ष्यों को हासिल करने के लिए कितना रकम चाहिए (Goal based Investing).रकम में महंगाई को भी जरूर जोड़कर चलें. आप जो भी रकम जमा करना चाहते हैं उसमें महंगाई के असर का ख्याल रखना जरूरी है.

कैसे करें निवेश

Mutual Funds में इन्वेस्ट करना काफी आसान है. सबसे पहली बात, अगर आप पहली बार इन्वेस्ट कर रहे हैं, तो आपको KYC पूरा करना होगा. KYC का प्रोसेस कम्पलीट करने के लिए आप किसी भी डिस्ट्रिब्यूटर या एक्सपर्ट के पास जा सकते हैं. वहीं आप इसे ऑनलाइन भी निपटा सकते हैं. KYC पूरा करने के बाद ही आप किसी फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं.

KYC प्रोसेस कम्पलीट करने के बाद आप किसी Mutual Fund Distributor, रजिस्टर्ज निवेश सलाहकार, Stock Market Broker या फिर बैंक की मदद से इन्वेस्ट करने पर जोर दे सकते हैं. वहीं अगर आप खुदसे इन्वेस्ट करना चाहते हैं, तो आप फंड हाउस की वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं.

रेटिंग: 4.65
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 602
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *