शुरुआती लोगों की मुख्य गलतियाँ

जानिए NFT दुनिया के क

जानिए NFT दुनिया के क
To be auctioned 21/12 with proceeds going to @UNHCRUK 👇— Vodafone UK (@VodafoneUK) December 14, 2021

जानिए क्या है क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency)?

Home » जानिए क्या है क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency)?

एक समय ऐसा था जब दुनिया में किसी भी प्रकार की मुद्रा नहीं चलती थी। पुराने ज़माने में लेन-देन केवल वस्तुओ के माध्यम से ही किया जाता था। जिसे हम सब Barter System के नाम से भी जानते हैं। लेकिन जेसे-जेसे समय बदलता गया वेसे-वेसे दुनिया अपग्रेड होती रही, और जानिए NFT दुनिया के क कुछ समय बाद नोट और सिक्कों का निर्माण हुआ जिस से लेन-देन का तरिका पूरी तरह से बदल गया।

और आज के समय में यही नोट और सिक्के हमारे प्रमुख करेंसी है, जिनके आधार पर पूरी दुनिया का लेने-देन चलता आ रहा है।

लेकिन क्या आप जानते हैं इनके अलावा भी एक करेंसी (Currency) है जो पूरी तरह से डिजिटल है। और इस डिजिटल करेंसी को क्रिप्टोकरेंसी के नाम से जाना जाता है।आज समय एकदम फास्ट फॉरवर्ड हो चुका है, टेक्नोलॉजी (Technology) के साथ हर रोज एक नया आविष्कार कर के लोगो में जागरुकता फेला रहा है। लेकिन कई लोगो के मन में अभी भी ये प्रश्न है की क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) क्या है? और ये करेंसी डिजिटल हो के भी काम कैसे करती हैं? साथ ही इसे इस्तमाल करने के फ़ायदे क्या है?

सारे स्वालो के जवाब जान ने के लिए आर्टिकल (Article) को पूरा जरूर पढ़े।

मुद्रा (Currency) क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को समझने से पहले हम जानेंगे की करेंसी (Currency) क्या है।

देखा जाए तो आज हर देश के पास अपनी-अपनी करेंसी है। जेसे भारत के पास अपनी मुद्रा (Currency) रुपया है, वेसे ही अमेरिका के पास डॉलर है। और हर एक देश के पास ठीक इसी तरह अपनी-अपनी देश की मुद्रा (Currency) है। करेंसी वो है जो देश दवारा मान्याता प्रपात की गई हो। तभी उस करेंसी की असली वैल्यू (Value) मानी जाती है। करेंसी के बदले में कोई भी वस्तु या सेवा खरीदी जा जानिए NFT दुनिया के क सके, उसे ही करेंसी कहा जाता है। देखा जाए तो करेंसी कागज और धातु के रूप में बनाये जाते हैं जो सरकार द्वार मान्य हो। इन करेंसी को हम आशनी से छू सकते है, पकड़ सकते हैं या फिर पर्स में रख भी सकते हैं। तभी इनको भौतिक मुद्रा (Physical Currency) के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन क्रिप्टोकरेंसी के मामले ऐसा नहीं होता है।

जानिए क्या है क्रिप्टोकरेंसी?

क्रिप्टोकरेंसी , जिसे क्रिप्टो-मुद्रा या क्रिप्टो के रूप में भी जाना जाता है, एक प्रकार की डिजिटल या आभासी मुद्रा (Virtual Currency) है जो लेनदेन की सुरक्षा के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करता है। क्रिप्टोकरेंसी ऐसी मुद्रा है जिसे विकेंद्रीकृत प्रणाली (Decentralized System) द्वारा प्रबंधित (managed) किया जाता है।

दूसरे शब्दों में समझे तो ये एक ऐसी करेंसी है जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी (Blockchain Technology) पर आधारित है, जो क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित भी है। जिस कारण से इसे हैक (Hack) करना या कॉपी (Copy) करना बहुत ही मुश्किल है।

देखा जाये तोह क्रिप्टोकरेंसी का Physical कोई भी अस्तित्व नहीं है क्योंकि यह ऐसी डिजिटल करेंसी है जो Computer Algorithm पर बनी है। क्रिप्टोकरेंसी की सबसे खास बात यह है कि ये पूरी तरह से विकेंद्रीकृत है मतलब किसी भी देश या सरकार का इस पर नियंत्रण (Control) नहीं है।

क्या क्रिप्टोकरेंसी की Value है?

क्रिप्टोकरेंसी को भले ही किसी नोट या सिक्को में प्रिंट (Print) नहीं किया जाता। लेकिन आज के समय में इसकी अपनी वैल्यू है। इसे भले ही आप अपने पॉकेट या तिजोरी में रख नहीं सकते लेकिन आप इसका भरपुर इस्तेमाल कर सकते है जैसे आप देश की करेंसी को करते है।

क्रिप्टोकरेंसी से आप सामान खरीद सकते है, Investment कर सकते है, Trade कर सकते है। फर्क सिर्फ इतना है कि आप इसे किसी भी बैंक या लॉकर जानिए NFT दुनिया के क में नहीं रख सकते हैं क्योंकि यह पूरी तरह से डिजिट (Digit) पर आधारित है यानी आप इसे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन (Online Transaction) के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसीलिए इसे डिजिटल मनी (Digital Money) और वर्चुअल मनी (Virtual Money) भी कहा जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी का आविष्कार:

दुनिया का सबसे पहले क्रिप्टोकरेंसी “Bitcoin” है। इसका आविष्कार सातोशी नाकामोतो नामक एक इंजीनियर ने 2008 में किया था और 2009 में इसे ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में जारी किया गया था। कहा जाता है ब्लॉकचेन पे सबसे पहले रन होने वाली करेंसी भी बिटकॉइन “Bitcoin” ही थी।

कुछ विशेषज्ञ (Experts) के अनुसार सन 2008 से लेकर सन 2022 जानिए NFT दुनिया के क तक अनुमान लगाया जा रहा है की मार्केट में 20,000 से भी ज्यादा क्रिप्टोकरंसी लॉन्च हो चुके हैं। मतलब क्रिप्टोकोर्रेंसी शुरुआती दौर से ही अपनी जानिए NFT दुनिया के क कामियाबी की छाप छोड़ता जा रहा है। कहा जाता है की आने वाले समय में क्रिप्टोकुरेंसी और भी ज्यदा उपयोगी और फायदेमंद सबित होगा।

Top क्रिप्टोकुरेंसी (Cryptocurrencies)

Bitcoin: हाल ही आपने लेख (Article) में पढ़ा की बिटकॉइन दुनिया की सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी है।

Ethereum: एथेरियम एक विकेंद्रीकृत ओपन-सोर्स ब्लॉकचेन है। CoinMarket Cap के हिसब से यह दुनिया की दुसरी बड़ी क्रिप्टो करेंसी में से है। इसका आविष्कार 2015 में हुआ था और से ईथर (Ether) के नाम से भी जाना जाता है।

Dogecoin: डॉगकॉइन का निर्माण 2013 में दुनिया के सबसे बेहतरीन दो सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स ने किया था। यह ऐसी क्रिप्टोकरेंसी है जिसका नाम एक Sarcastic meme के आधार पर रखा गया है।

CNF Token: CNF टोकन का निर्माण 2021 में हुआ था। CNF टोकन TRC 20 टोकन है जो ट्रॉन ब्लॉकचेन (Tron Blockchain) पर बनाया गया है।

आज के समय में सभी को क्रिप्टोकरेंसी से वर्चित होना चाहिए क्योकि क्रिप्टोकरेंसी हमारा फ्यूचर मनी (Future Money) है आज नहीं तो कल ये हमारी जिंदगी का एक महत्वपूर्ण (Important) हिसा जरूर बन जाएगा और तकनीक (Technology) भी तेज गति से आगे बढ़ रही है और आने वाले समय में ये और भी ज्यादा फास्ट (Fast) और उपयोगी (Useful) होने वाला है।

दुनिया का सबसे पहला SMS जल्द होने जा रहा नीलाम, 1.5 करोड़ से शुरू होगी बोली

दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज आज से 30 साल पहले साल 1992 में भेजा गया था. यह खास मैसेज आज भी सुरक्षित है. इस मैसेज को 21 दिसंबर को नीलामी के लिए रखा गया है. आइए जानें-

World First SMS

World First Text Message : क्या आप जानते हैं कि आखिर वह कौन-सा मैसेज था, जिसे दुनिया में पहली बार किसी हैंडसेट पर भेजा गया था. अगर नहीं, तो जान लें कि दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज आज से 30 साल पहले साल 1992 में भेजा गया था. यह खास मैसेज आज भी सुरक्षित है. इस मैसेज को 21 दिसंबर को नीलामी के लिए रखा गया है. आइए जानें दुनिया के पहले टेक्स्ट मैसेज के बारे में-

वोडाफोन नंबर पर भेजा गया था पहला मैसेज

दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज वोडाफोन के नंबर से किया गया था. वोडाफोन वह पहली कंपनी थी, जिसके नंबर से सबसे पहला मैसेज किया गया था. आपको जानकर हैरानी होगी कि यह मैसेज करनेवाला भी एक वोडाफोन कर्मचारी था. इंजीनियर नील पापवर्थ की तरफ से न्यूबरी वर्कशायर में रिचर्ड जार्विस को 3 दिसंबर 1992 को पहला टेक्स्ट मैसेज भेजा गया था.

FOR SALE: World’s first text message 💬, 1992 #NFT

Used once, over 14 characters, festive theme 🎄

To be auctioned 21/12 with proceeds going to @UNHCRUK 👇

— Vodafone UK (@VodafoneUK) December 14, 2021

दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज क्या था?

22 साल के पापवर्थ वोडाफोन के लिए शाॅर्ट मैसेज सर्विस (SMS) पर काम कर रहे थे. पापवर्थ की तरफ से पहला मैसेज क्रिसमस की बधाई को लेकर दिया गया था. इस तरह 14 कैरेक्टर का यह मैसेज यह दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज बन गया. आज के दौर में टेक्स्ट मैसेज काफी आम हो गया है. व्हाट्सऐप से लेकर ई-मेल के जरिये दिन में अनगिनत टेक्स्ट मैसेज भेजे जा रहे हैं.

Vodafone Idea ने 5G ट्रायल में हासिल की 3.7 Gbps की रिकॉर्ड स्पीड

Vodafone Idea ने 5G ट्रायल में हासिल की 3.7 Gbps की रिकॉर्ड स्पीड

21 दिसंबर को पहले टेक्स्ट मैसेज की नीलामी

21 दिसंबर को दुनिया के पहले टेक्स्ट मैसेज की नीलामी हो रही है. इस मैसेज को फ्रांस में एगट्स ऑक्‍सन हाउस (Aguttes Auction House) की ओर से नीलाम किया जा रहा है. इस टेक्स्ट मैसेज को क्रिप्टोकरेंसी में खरीदा जा सकता है. मैसेज को 2 लाख डॉलर यानी लगभग 1 करोड़ 52 लाख रुपये में नीलाम के लिए लिस्ट किया गया है. सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले व्यक्ति को सबसे पहले वोडाफोन ग्रुप की तरफ से प्रामाणिकता का एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा. उन्हें ऑरिजनल कम्यूनिकेशन प्रोटोकॉल का एक रेप्लिका मिलेगा जिसे वोडाफोन ने तैयार किया है. इसके अलावा, टेक्स्ट मैसेज सेंडर और रिसीवर की जानकारी वाली एक डिजिटल फाइल मिलेगी.

SMS को NFT बनाएगी Vodafone

टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन दुनिया के पहले SMS को नीलाम करनेवाली है. दुनिया का यह पहला SMS 14 वर्ड का था और यह 1.5 करोड़ रुपये से ज्यादा में नीलाम होने को तैयार है. कंपनी ने कहा है कि वह इस SMS को Non-Fungible Token (NFT) के तौर पर नीलाम करेगी. कंपनी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से पोस्ट करके बताया है कि यह वोडाफोन का सबसे पहला NFT है और कंपनी दुनिया के सबसे पहले SMS टेक्स्ट को नीलाम करने के लिए इसे NFT में बदलने जा रही है. नीलामी में 2 लाख डॉलर (लगभग 1,52,48,300 रुपये) से ज्यादा की राशि जुटाये जाने की उम्मीद है. कंपनी यह रकम शरणार्थियों की मदद के लिए दान करेगी.

Best Prepaid Plans: महंगे होने के बाद भी सबसे सस्ते हैं Jio Airtel Vi के ये प्रीपेड प्लान, जानें बेनिफिट्स

Best Prepaid Plans: महंगे होने के बाद भी सबसे सस्ते हैं Jio Airtel Vi के ये प्रीपेड प्लान, जानें बेनिफिट्स

Prabhat Khabar App : जानिए NFT दुनिया के क

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

NFT शुरू करने से पहले सबसे आपको इस की फुल फॉर्म पता होनी चाहिए जो की है ।( NON- FUNGIBLE TOKEN)

NFT Kya है । NFT का मतलब (NON -FUNGIBLE) TOKEN है । ये क्रिप्टोग्राफिक टोकन है जो किसी यूनिक चीज को दर्शाता है । किसी अन्य व्यक्ति के पास NFT का होना ये दर्शाता है की उस के पास कोई यूनिक या एंटीक डिजीटल आर्ट वर्क है जो और दुनिया में किसी और के पास नही है । NFT यूनिक टोकन होते है या यू कहा जाता है की ये डिजीटल ओटस होते है जो वेल्यू को जनरेट करते है । अगर किसी के पास अगर बिटकॉइन है तो वो उन्हे एक्सचेंज कर सकते है । ये मायने इक जैसे ही होते है इसलिए इनकी कीमत जानिए NFT दुनिया के क इक जैसी होती है ।

दुनिया भर में NFT का उत्साह देखने को मिल रहा है ।

जैसे की दुनिया तेजी से डिजिटाइजेशन की और बढ़ती जा रही है । इसे कर्म में कुछ समय से NFT का नाम काफी लिया जा रहा है । इसे से एक क्रिपटो ग्राफिफ टोकन कहा जाता है । कोई ऐसी टेक्निक जिस के बारे में हम के सके के ये यूनिक है । और उसे साबित कर सके के उस का मालिकाना हक किसी खास व्यक्ति के पास है । तो उसे एनएफटी यानी नॉन-फंजिबल टोकन कहा जाता है। आज कल के समय में निवेशक इस तरह की चीजों में खास ध्यान दे रहे है ।जो की सिर्फ ऑनलाइन ही हासिल हो सकता है ।

NFT में लोगो की खास रुचि ।(NFT Kya है ।)

पिछले कुछ दिनो में NFT को लेकर खबरे सामने आ रही है । जिस से लोगो मन में कई परकार के सवाल पैदा हो रहे है । इस के बारे में लोगो की खास रुचि तब बड़ी जब कुछ दिन पहले एक 10 सेकंड की वीडियो क्लिप 60 लाख डालर यानी 48.44 करोड़ रुपए में बिकी । इसे मियामी के एक आर्ट कलेक्टर पाब्लो रोड्रिगूज फ्रेले ने खरीदा है।

आई जानिए NFT कैसे करती है काम।(NFT Kya है ।)

(Non fungible token) का इस्तेमाल डिजीटल ओट्स या सामानों के लिए किया जाता है जो एक दूसरे से अलग होते है । और इनकी कीमत और यूनिकनेस साबित होती है ये वर्चुअल से आर्टवर्क तक हर चीज के लिए स्वीकृति परदान कर सकते है ।

भारत में NFT


भारत में NFT का कॉन्सेप्ट इक दम नया है यह पर इसे इस पकड़ने में काफी समय तो लग सकता है । NFT को भारत में लॉन्च करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज में भारतीय कंपनी बनने की तयारी में है । और जिस में इस का नाम DAZZLE दिया जा रहा है ।

Hot Topics

Daily News
For More information :
1. Web Development Project.
2. E-commerce Projects.
3. Liquid Code

विग्नेश सुंदरेसन ने 500 करोड़ में खरीदा NFT, लेकिन कोई भी कर सकता है डाउनलोड

डिजिटल आर्टिस्ट बीपल का बनाया गया डिजिटल आर्टपीस विग्नेश ने 500 करोड़ रुपये में NFT के तौर पर खरीदा था

विग्नेश सुंदरेसन ने 500 करोड़ में खरीदा NFT, लेकिन कोई भी कर सकता है डाउनलोड

टेक कंपनी पोर्टकी टेक्नोलॉजीज के सीईओ और मेटाकोवन के नाम से मशहूर विग्नेश सुंदरेसन (Vignesh Sundaresan) ने 69.3 मिलियन डॉलर (करीब 500 करोड़ रुपये) एक नॉन फंजेबल टोकन (NFT) को खरीदने में खर्च कर दिए. लेकिन इसके बावजूद वो इस पर पूरा अधिकार नहीं रखना चाहते हैं.

ब्लूमबर्ग के साथ एक इंटरव्यू में भारत के क्रिप्टोकरेंसी (जानिए NFT दुनिया के क cryptocurrency) एंटरप्रेन्योर विग्नेश सुंदरेसन ने कहा कि, एनएफटी की खूबसूरती है कि हर कोई इसका लुत्फ उठाता है. उन्होंने यहां तक कहा कि उन्हें इस बात से खुशी होगी कि सभी लोग "Everydays: the First 5000 Days" की एक कॉपी डाउनलोड करें.

बता दें कि "Everydays: the First 5000 Days" डिजिटल आर्टिस्ट Beeple का वो डिजिटल आर्टपीस है, जिसे विग्नेश ने 500 करोड़ रुपये में खरीदा. ये आर्टपीस jpg इमेज को मिलाकर बनाया गया है. हाल ही में इसकी एनएफटी के तौर पर इसकी नीलामी हुई और 69.3 मिलियन डॉलर में इसे खरीदा गया. पहले तो पता नहीं लगा कि इस एक डिजिटल फोटो को किसने इतनी कीमत देकर खरीदा है, लेकिन बाद में खुद विग्नेश सुंदरेसन ने खुलासा किया कि वो ही मेटाकोवन हैं.

एनएफटी पर दुनियाभर की नजरें

एक एनएफटी पर करीब 500 करोड़ रुपये खर्च करने वाले विग्नेश ने भारत समेत पूरी दुनिया का ध्यान तेजी से एनएफटी की तरफ खींचा. भारत जैसे देश में लोगों को यकीन नहीं हो रहा था कि ऐसा भी कुछ हो सकता है. जिसमें एक फोटो, जिसे कोई शख्स छू भी नहीं सकता उसके लिए इतने पैसे खर्च किए जाएं. इसके बाद से ही बड़े-बड़े बिजनेसमैन और सेलिब्रिटीज का ध्यान भी इस तरफ गया. हालांकि इस पर अब तक बहस जारी है कि एक एनएफटी को खरीदने पर खरीदार को क्या फायदा होता है.

ब्लूमबर्ग रिपोर्टर ने जब विग्नेश से एनएफटी के प्रॉपर्टी राइट्स को लेकर सवाल किया तो उन्होंने जवाब में कहा कि, सूचना किसी भी तरह से बाहर निकलना चाहती है. आप उसे रोकने के लिए काफी कुछ करते हैं लेकिन ये उतना नहीं हो पाता है. हर तरह की सिक्योरिटी के बावजूद ये जानकारी बाहर आती है. अगर कोई म्यूजिक रिलीज करता है तो हो सकता है कि ये पायरेटेड हो. ये सभी चीजें इंटरनेट की एक खासियत हैं. इनसे लड़ने की कोशिश करना बिल्कुल भी ठीक नहीं है. उन्होंने जानिए NFT दुनिया के क आगे कहा,

एनएफटी सिर्फ उस एक फाइल को महत्व नहीं देता है. ये उससे भी काफी बड़ा है. ये इसके लिए है कि किसी शख्स जानिए NFT दुनिया के क ने एक आर्टिस्ट को समर्थन किया और उसकी आर्ट को यादगार बना दिया. अगर आपके पास एनएफटी है तो सभी को इसका आनंद मिलना चाहिए. इसके लिए सभी को आपको पैसे देने की जरूरत नहीं है. कुछ लोग ऐसे हो सकते हैं जो इसके प्रोडक्शन के लिए पैसे दें और उन्हें इसका क्रेडिट भी मिलता है.

विग्नेश ने अपने 500 करोड़ रुपये के आर्टवर्क को डाउनलोड करने पर कहा कि, मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं है. मैं खुश हूं अगर कोई बीपल की इस आर्टवर्क को डाउनलोड करता है.

किस तरह के टोकन पसंद करते हैं विग्नेश?

जब विग्नेश से पूछा गया कि उन्हें किस तरह के टोकन्स पसंद हैं तो उन्होंने पोलकाडॉट के पैराचिन का नाम लिया. उन्होंने कहा कि पोलकाडॉट एक कंकाल है और उससे जुड़ी कई चेन हो सकती हैं, जो खुद को बढ़ा सकती हैं. इसके लिए आप पैराचेन नीलामी में हिस्सा ले सकते हैं. जहां आप अपने DOT को कुछ सालों के लिए बंद कर देते हैं, आपको अपना DOT वापस मिल जाता है. साथ ही आपको कुछ पैराचेन टोकन्स के साथ इनाम भी दिया जाता है.

रेटिंग: 4.63
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 493
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *