शुरुआती लोगों की मुख्य गलतियाँ

मोमेंटम को समझना

मोमेंटम को समझना
मोबाइल वैक्सीनेशन प्रोग्राम को किया जारी
यूएसएआईडी/ इंडिया ने अपने कार्यान्वयन भागीदारों जॉन स्नो इंक इंडिया (एम-आरआईटीई) और कैटलिस्ट मैनेजमेंट सर्विसेस- कोविड एक्शन कोलेबोरेटिव के साथ मिलकर समाज के कमजोर और सुविधा-वंचित सदस्यों तक पहुंचने के लिए एक मोबाइल वैक्सीनेशन प्रोग्राम लॉन्च किया है। यह प्रोग्राम दो अग्रणी निजी संस्थाओं गिव इंडिया और 3एम के साथ भागीदारी में परिचालित हो रहा है और एक निजी मोबाइल टीकाकरण कंपनी वैक्सीन ऑन व्हील्स भी मोमेंटम को समझना इसमें साथ दे रही है। डॉक्टरों और नर्सों के साथ 75 से ज्यादा मोबाइल यूनिट्स देश के 22 सबसे कम सेवा-प्राप्त जिलों में निकलेगी। यह जिले झारखण्ड, महाराष्ट्र और तमिलनाडु में हैं। ये यूनिट्स एक गांव से दूसरे गांव जाएंगी और इनका लक्ष्य अगले 3 महीनों में 6 लाख से अधिक डोजेस देना है।

मोमेंटम झारखण्ड के उड़ते हाथी की हालत मोमेंटम को समझना खराब, विद्युत आपूर्ति चरमराने से व्यवसायी गुस्से में

झारखण्ड स्मॉल इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन से मोमेंटम को समझना जुड़े व्यवसायी गुस्से में हैं। गुस्से का कारण पूरे राज्य में विद्युत व्यवस्था का चरमरा जाना है, व्यवसायियों का कहना है कि राज्य सरकार असक्षम जेबीवीएनएल से मुक्ति दिलाएं तथा कुशल विद्युत वितरण व्यवस्था को बहाल करें। झारखण्ड स्मॉल इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन का ये सांकेतिक प्रदर्शन स्पष्ट रुप से बता देता है कि रघुवर सरकार द्वारा पिछले वर्ष चलाये गये मोमेंटम झारखण्ड का क्या हाल है? और उसका उड़ता हाथी कैसे विद्युत आपूर्ति ठप हो जाने के कारण धड़ाम से नीचे गिर पड़ा हैं।

आश्चर्य इस बात की भी है कि इनका ये प्रदर्शन उस स्थान से प्रारम्भ हुआ है, जहां उड़ता हाथी, इसके ब्रांड एंबेस्डर के रुप में प्रयुक्त हुए महेन्द्र सिंह धौनी तथा सीएम रघुवर दास का बड़ा सा होर्डिंग भी मौजूद है, जो दिखाने के लिए काफी है कि राज्य का उद्योग जगत किस बदतर स्थिति में है तथा राज्य सरकार की उद्योग नीति कैसे दम तोड़ने को मजबूर है।

मोमेंटम को समझना

.

बिज़नेस न्यूज डेस्क - शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। स्टॉक कब ऊपर जाएगा और कौन सा स्टॉक नीचे जाएगा, यह बताना इतना आसान नहीं है। वहीं शेयर बाजार में पैसा कमाने के लिए लोग मोमेंटम ट्रेडिंग और एल्गो ट्रेडिंग पर काफी ध्यान दे रहे हैं। शेयर बाजार में ट्रेडिंग पर भी इनका काफी असर पड़ता है। वहीं राइट रिसर्च के संस्थापक सोनम श्रीवास्तव ने मोमेंटम ट्रेडिंग और एल्गो ट्रेडिंग के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। मोमेंटम ट्रेडिंग के बारे में सोनम श्रीवास्तव का कहना है कि मोमेंटम ट्रेडिंग का मतलब बाजार के रुझान को पकड़ना है। यह प्रवृत्ति शेयर की कीमत से भी संबंधित हो सकती है या यह तकनीकी चार्ट से भी संबंधित हो सकती है। साथ ही स्टॉक ने हाल में कैसा मोमेंटम को समझना रिटर्न दिया है, यह भी ट्रेंड हो सकता है। इसे मोमेंटम ट्रेडिंग से समझा जा सकता है।

दुनिया के 20 सबसे तेजी से बढ़ते शहरों में भारत के 6 शहर भी शामिल

Brigade_Road_Bangalore

बेंगलुरू के ब्रिगेड रोड की तस्वीर/ कॉमंस से

नई दिल्लीः तब जब दुनिया की वैश्विक अर्थव्यवस्था की गति चरम पर है इस बढ़ती अर्थव्यवस्था में कई शहर हैं जहां रियल एस्टेट और आर्थिक विकास मजबूत बना हुआ है. इस समय जब वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम वैश्वीकरण 4.0 की जांच कर रहा है, जेएलएल का सिटी मोमेंटम मोमेंटम को समझना इंडेक्स दुनिया के सबसे अधिक सक्रिय शहरों की गति पर केंद्रित है. आर्थिक, सामाजिक और व्यावसायिक रूप से कम समय में तेजी से आगे बढ़ रहे शहरों के हो रहे विकास पर चर्चा हो रही है. सिटी मोमेंटम इंडेक्स में उन 131 सबसे बड़े, स्थापित और व्यावसायिक हब पर विचार किया गया, जिनमें रियल एस्टेट का बाजार और शहरी अर्थव्यवस्था बहुत तेजी से बढ़ी है.

रियल एस्टेट ने इन शहरों के विकास में अहम भूमिका निभाई है

बंद परियोजनाओं का शुरू होना शहरों के विकास में अहम भूमिका निभा रहा है. यही नहीं नए पड़ोस और मिश्रित उपयोग से नए व्यवसायों के विकास और जीवन को बेहतर बनाने में भी मदद मिल सकती है. वहीं दूसरी तरफ बड़े स्तर पर आ रहे इंफ्रास्ट्रक्चर के काम कुछ समस्याएं तो खड़ी करते हैं, लेकिन तकनीक लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभाती है.

नैरोबी इंडेक्स में छठे स्थान पर है. आने वाले पांच वर्षों में यहां की जनसंख्या सबसे तेजी से बढ़ने वाली है. अथॉरिटी ओवरक्राउडिंग की समस्या से निपटने के लिए उच्च और स्मार्ट तकनीक की मदद से तेजी से बढ़ती जनसंख्या को मैनेज करने की कोशिश में लगी है. इस विकास की बयार में इन शहरों की सबसे बड़ी समस्या प्रदूषण और पर्यावरण मोमेंटम को समझना है. लेकिन तकनीक की मदद से ग्रीन और स्मार्ट ब्लिडिंग इस समस्या से निपटने में अहम योगदान दे सकती हैं. चीन के शहर शियान जिसे इस इंडेक्स में नौवां स्थान प्राप्त है वह वायु प्रदूषण और किसी भी दूसरे तेजी से विकसित हो रहे शहर की समस्या से जूझ मोमेंटम को समझना रहा है. इस शहर में 100 मीटर लंबा एक टावर बनाया गया है, जिसका मकसद हवा में फैले जहर को कम करना और शहर के विकास में मदद करना है. तेजी से बढ़ते शहरीकरण के बीच कई तरह की समस्याएं आती रहती हैं.

प्रत्यक्ष विदेशी निवेश लाने के लिए मोमेंटम को समझना पारदर्शिता बढ़ाने की जरूरत

अर्थव्यवस्था में विकास को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए विदेशी निवेश प्रत्यक्ष तौर पर लाना होगा. और यह तभी संभव है जब निवेशक रियल एस्टेट और बाजार में पारदर्शिता को देखेगा. भारत के तेजी से विकसित होते शहरों में विदेशी निवेश सीधे मोमेंटम को समझना तौर पर बढ़ा है.

रियल एस्टेट (विनियमन और विकास) अधिनियम 2016 सहित संरचनात्मक सुधारों के साथ प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के उच्च स्तर को मोमेंटम को समझना आकर्षित करने में हाल के वर्षों में भारत के सबसे तेजी से बढ़ते शहर सफल रहे हैं, और यही विदेशी खरीदारों से अधिक रियल एस्टेट निवेश के लिए प्रोत्साहित करते हैं.

इसी तरह की एक कहानी चीनी शहरों जैसे कि बीजिंग और शंघाई में भी चल रही है, जो दोनों इस साल की शुरुआत में प्रकाशित जेएलएल के ग्लोबल रियल एस्टेट मोमेंटम को समझना ट्रांसपेरेंसी इंडेक्स 2018 के अनुसार दुनिया के ‘ट्रांसपेरेंट’ रियल एस्टेट बाजारों में शामिल होने की कगार पर हैं.

corona vaccination: भारत में टीकाकरण को बढ़ावा देने में अभी भी कई जटिलताएं

मोमेंटम रूटीन इम्युनाइजेशन ट्रांसफॉर्मेशन एंड इक्विटी प्रोजेक्ट मोमेंटम को समझना का वित्त पोषण यूएसएआईडी द्वारा किया जाता है। यह महत्वपूर्ण घटकों जैसे मांग पैदा करना, जोखिम पर संवाद, सामुदायिक संलग्नता, निजी क्षेत्र की भागीदारियां, केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करना एसबीसीसी, डाटा एनालिसिस, सप्लाई चेन लॉजिस्टिक्स को जोड़ता है।

corona vaccination: भारत में टीकाकरण को बढ़ावा देने में अभी भी कई जटिलताएं

corona vaccination: मोमेंटम रूटीन इम्युनाइजेशन ट्रांसफॉर्मेशन एंड इक्विटी प्रोजेक्ट का वित्त पोषण यूएसएआईडी द्वारा किया जाता है। यह महत्वपूर्ण घटकों जैसे मांग पैदा करना, जोखिम पर संवाद, सामुदायिक संलग्नता, निजी क्षेत्र की भागीदारियां, केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करना एसबीसीसी, डाटा एनालिसिस, सप्लाई चेन लॉजिस्टिक्स को जोड़ता है। यह प्रोजेक्ट हाशिये पर खड़ी और कमजोर आबादी तक पहुंचने और टीकाकरण करवाने में इन समूहों के समक्ष आने वाली बाधाओं की पहचान करने पर केंद्रित रहा है। यह प्रोग्राम ऐसे समूहों तक पहुंचने के लिए स्थानीय गैर-सरकारी संगठनों के साथ काम करता है। जॉन स्नो इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. संजय कपूर का कहना है कि मोमेंटम रूटीन इम्युनाइजेशन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय/यूनिवर्सल इम्युनाइजेशन प्रोग्राम के तकनीकी प्रबंधन को सहयोग और देश में कोविड-19 के टीकाकरण के लिए तकनीकी सहायता प्रदान करता है। भारत के कोविड-19 टीकाकरण अभियान के सबसे चुनौतीपूर्ण पहलुओं में से एक रहा है महिलाओं को टीका लगवाने के लिए लामबंद और सहमत करना, क्योंकि महिलाओं को पुरूषों से ज्यादा डर है। लैंगिक आधार पर मुख्य रूप से गर्भवती महिलाओं, स्तनपान करवाने वाली माताओं, ट्रांसजेंडर्स और प्रवासी महिला श्रमिकों का टीकाकरण नहीं हुआ है।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 801
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *