बहुआयामी व्यापार मंच

कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल

कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल
रोजाना 3850 टन नीम कोटेड यूरिया का उत्पादन होगा

स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के लिए नौ दिसंबर तक मतदाता बनने का अवसर है। - प्रतीकात्मक तस्वीर

पश्चिम बंगाल का आर्थिक पराभव लगातार जारी

प्रति व्यक्ति आय की रैंकिंग के हिसाब से देखें तो पश्चिम बंगाल सन 1980 में 25 राज्यों के बीच सातवें स्थान से फिसलकर 2018-19 में 29 राज्यों में 21वें स्थान पर आ गया था। सन 1950 और 1960 के दशक में पश्चिम बंगाल की तुलना महाराष्ट्र और तमिलनाडु से होती थी, अब आंध्र प्रदेश, कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल छत्तीसगढ़, पंजाब और राजस्थान जैसे राज्य उसके समतुल्य हैं। पश्चिम बंगाल की तट रेखा लंबी है और उसकी अंतरराष्ट्रीय सीमा भूटान और बांग्लादेश से मिलती है। यह राज्य देश के पूर्वोत्तर हिस्से का प्रवेश द्वार है। एक औद्योगिक और कारोबारी केंद्र के रूप में भी उसका समृद्ध इतिहास रहा है। वह कई लौह एवं इस्पात कारखानों के करीब है। जाहिर है अपना अतीत का गौरव हासिल करने के लिए राज्य को सही नीतियां बनाने की आवश्यकता है ताकि वह शेष मुल्क से अधिक तेज गति कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल से उस दिशा में बढ़ सके।

ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल की सरकार तात्कालिक खपत की वस्तुओं के लिए खरीद और व्यय की नीति को जारी रखे हुए है। मार्च के अंत में उसका बकाया कर्ज 2021 के 4.82 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 2022 में 5.29 लाख करोड़ रुपये हो जाने का अनुमान है। 2023 में यह और अधिक बढ़कर 5.86 लाख करोड़ रुपये हो सकता है। राज्य का कर्ज-सकल घरेलू उत्पाद अनुपात भी राजकोषीय जवाबदेही एवं बजट प्रबंधन अधिनियम में उल्लिखित 25 फीसदी की सीमा से काफी अधिक है। पंजाब के साथ-साथ राजस्व व्यय कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल में उसकी ब्याज भुगतान की हिस्सेदारी भी उच्चतम में है। सन 2022-23 के बजट अनुमान में अपनी 48 फीसदी प्राप्तियों के लिए पश्चिम बंगाल केंद्र सरकार से मिलने वाली कर अंतरण राशि तथा अनुदान पर निर्भर रहेगा। शेष 33 फीसदी हिस्सा उधारी से आएगा। यह अनुपात बहुत ज्यादा है। उदाहरण के लिए महाराष्ट्र में कर अंतरण तथा अनुदान पर निर्भरता केवल 21 फीसदी है जबकि उधारी 27 फीसदी है।

विदेशी मुद्रा बहिर्वाह पर अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 35 पैसे गिरकर 81.26 पर बंद हुआ

निराशाजनक व्यापार आंकड़ों और विदेशी फंड की निकासी से रुपया बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 35 पैसे की गिरावट के साथ 81.26 पर बंद हुआ।विदेशी मुद्रा व्यापारियों कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल ने कहा कि वैश्विक बाजारों में जोखिम से बचने का नकारात्मक पूर्वाग्रह स्थानीय इकाई पर तौला गया।इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में, स्थानीय इकाई 81.41 पर खुली और बाद में सत्र के दौरान 81.23 के उच्च स्तर और 81.58 के निचले स्तर पर रही।

घरेलू इकाई अंत में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 81.26 पर बंद हुई, जो पिछले बंद के मुकाबले 35 पैसे की गिरावट दर्ज की गई।मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 37 पैसे की मजबूती के साथ 80.91 पर बंद हुआ।बीएनपी पारिबा द्वारा शेयरखान में अनुसंधान विश्लेषक अनुज चौधरी ने कहा, "वैश्विक बाजारों में जोखिम से बचने और कमजोर एशियाई मुद्राओं के कारण भारतीय रुपये में गिरावट आई है। एफआईआई के बहिर्वाह से निराशाजनक वृहद आर्थिक आंकड़ों का भी रुपये पर असर पड़ा है।"

गोरखपुर में यूरिया बनने से विदेशी मुद्रा की होगी बचत, हर साल कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल बचेंगे 75 अरब रुपये

गोरखपुर खाद कारखाना से उत्‍पादन शुरू हो गया है। - जागरण

हिन्‍दुस्‍तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड के खाद कारखाना में बनी नीम कोटेड यूरिया से न सिर्फ खेतों में हरियाली आएगी और किसानों की खुशहाली बढ़ेगी वरन भारत सरकार को भी काफी फायदा होगा। हर साल तकरीबन 47 अरब रुपये की विदेशी मुद्रा की भारत सरकार को बचत होगी।

गोरखपुर, दुर्गेश त्रिपाठी। हिन्‍दुस्‍तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड (एचयूआरएल) के खाद कारखाना में बनी नीम कोटेड यूरिया से न सिर्फ खेतों में हरियाली आएगी और किसानों की खुशहाली बढ़ेगी वरन भारत सरकार को भी काफी फायदा होगा। हर साल तकरीबन 47 अरब रुपये की विदेशी मुद्रा की भारत सरकार को बचत होगी। यूरिया ले आने का खर्च अलग से बचेगा।

21 करोड़ मिलने के बाद मंत्री की करीबी मॉडल अर्पिता की जमानत खारिज

प्रवर्तन निदेशालय की ओर से पश्चिम बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार अर्पिता मुखर्जी की बैंकशाल अदालत ने रविवार को जमानत याचिका खारिज कर दी। उसे एक दिन की ईडी के रिमांड में भेज दिया। इससे पहले उसे ईडी की ओर से ईएसआई अस्पताल ले जाया गया।

21 करोड़ मिलने के बाद मंत्री की करीबी मॉडल अर्पिता की जमानत खारिज

शिक्षक भर्ती घोटाला: ईडी की हिरासत में भेजा
निर्दोष बताया, किसी पार्टी से संबंध नहीं होने का दावा
कोलकाता. प्रवर्तन निदेशालय की ओर से पश्चिम बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार अर्पिता मुखर्जी की बैंकशाल अदालत ने रविवार को जमानत याचिका खारिज कर दी। उसे एक दिन की ईडी के रिमांड में भेज दिया। इससे पहले उसे ईडी की ओर से ईएसआई अस्पताल ले जाया गया। अदालत लाए जाने से पहले अर्पिता को खुद को निर्दोष बताते हुए किसी भी राजनीतिक दल से कोई संबंध नहीं होने का दावा किया। वहीं अदालत में उसकी जमानत का विरोध करते हुए ईडी ने उनके आवास से जब्त नकदी व अन्य सामान की फेहरिश्त जमा की। घोटाले की जांच के लिए उनसे पूछताछ की आवश्यकता जताई। जिसके बाद अदालत ने उसे ईडी की हिरासत में भेज दिया। सोमवार को अर्पिता को फिर से ईडी की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। अर्पिता इस मामले में गिरफ्तार राज्य के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी की निकट सहयोगी बताई जा रही है।
--
प्याज और अलीबाबा का जिक्र
ईडी के अधिवक्ता ने बैंकशाल अदालत में अर्पिता के फ्लैट से मिली सम्पत्ति की तुलना प्याज और अलीबाबा के तहखानों से की। अधिवक्ता ने कहा कि अर्पिता के फ्लैट कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल के जिस बक्शे को खोला गया वहां से नकदी, सोना, विदेशी मुद्रा, सम्पत्ति की कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल दलील मिली। जिस तरह से प्याज के हर छिलके के बाद दूसरा छिलका शुरू होता है वही हाल अर्पिता के घर मिली सम्पत्ति से है।
--
12 फर्जी कंपनियों में हुआ निवेश
अर्पिता के फ्लैट से ईडी ने 21.90 करोड़ रुपए नगद, 91 लाख के जेवर ,विदेशी मुद्रा और दस्तावेज बरामद किये हैं। ईडी के अधिवक्ता ने अदालत से कहा कि अपिॅता के पास और भी रुपये थे, जिन्हें उसने 12 फर्जी कंपनियों में निवेश किया है। इसके अलावा छह अन्य कंपनियों में रुपये निवेश किए गए है जिनका संबंध अर्पिता के करीबियों से है। अधिवक्ता ने यह भी कहा कि छापामारी के दौरान उसके फ्लैट से 14 ऐसे दस्तावेज मिले हैं जिन से अर्पिता के पास बड़े पैमाने पर संपत्ति होने का खुलासा हुआ है।
--
सब ईडी के पास: अधिवक्ता
अर्पिता के अधिवक्ता ने कहा कि फ्लैट से जो कुछ भी बरामद हुए है वह ईडी के पास है। अर्पिता महिला हैं इसलिए उन्हें अंतरिम जमानत दी जाए। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत में अपिॅता को एक दिन के लिए हिरासत में भेज दिया है।
--
अर्पिता को सीजीओ कॉम्पलेक्स ले जाते समय दुर्घटना
अर्पिता मुखर्जी को बैंकशल कोर्ट से सॉल्टलेक के सीजीओ कॉम्पलेक्स ले जाते समय ईडी के काफिले के एक वाहन को अपनी चपेट में ले लिया। मिली जानकारी के मुताबिक रात करीब आठ बजे सॉल्टलेक स्टेडियम के गेट नंबर तीन के सर्विस रोड पास ईडी के काफिले में एक वाहन आ गया। जिसने ईडी के एक वाहन को अपनी चपेट में ले लिया। दुर्घटना में अर्पिता और ईडी के अधिकारी सुरक्षित हैं। दुर्घटना के बाद सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं।
--
क्या करती हो, कई बार उससे पूछा: मां
कोलकाता. मॉडल अर्पिता मुखर्जी की मां मिनती मुखर्जी का कहना है कि उन्होंने अपनी बेटी से कई दफे पूछा था कि कि तुम क्या काम करती हो पर कभी कोई सटीक जवाब नहीं मिला। अर्पिता के आवास में 21.20 करोड़ की नकदी, लाखों के गहने, विदेशी मुद्रा, 20 फोन व कई चल अचल सम्पत्तियों का पता चला है। मिनती मुखर्जी ने कहा कि उन्हें पता चला कि उसके फ्लैट से भारी नकदी बरामद हुई है। मैंने उससे पहले भी कई कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल बार पूछा कि वह क्या काम कर रही है लेकिन मुझे कभी कोई निश्चित जवाब नहीं मिला। अगर उन्हें यह सब पता होता तो वे उसकी शादी जरूर करवा देतीं।
--
ओडिय़ा फिल्मों में काम किया
जांच में सामने आया है कि अर्पिता ने अपने करियर के शुरुआती दिनों में ओडिय़ा फिल्मों में काम किया है। वे मॉडलिंग भी करती रही हैं। इसके साथ ही मंत्री पार्थ चटर्जी की दुर्गापूजा नाकतला उदयन संघ से भी जुड़ी रही हैं।
--
पिता की अनुकंपा नियुक्ति ठुकराई
ईडी सूत्रों के मुताबिक अर्पिता मुखर्जी के पिता केंद्र सरकार के कर्मचारी थे। रिटायरमेंट से पहले उनका निधन हो गया था। अर्पिता को अनुकंपा के आधार पर नौकरी की पेशकश की कारखाना विदेशी मुद्रा पश्चिम बंगाल गई थी। जिसे उसने ठुकरा दिया था। उसने मॉडलिंग और अभिनय के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए ऐसा किया था।

वाइट हॉल की ग्रीन लेबल के अधिग्रहण की योजना

Get business news in hindi , stock exchange, sensex news and all breaking news from share market in Hindi . Browse Navbharat Times to get latest news in hindi from Business.

रेटिंग: 4.89
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 702
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *