ट्रेडिंग प्लेटफार्मों

एक सफल विकल्प व्यापारी

एक सफल विकल्प व्यापारी
तक पंजीयन करायें हर रोज फुटबॉल

जूलियन अल्वारेज़ ने ऑस्ट्रेलियाई गोलकीपर मैथ्यू रयान की गेंद पर अर्जेंटीना की बढ़त को दोगुना कर दिया।

गुजरात, हिमाचल एक सफल विकल्प व्यापारी के विधानसभा और दिल्ली के MCD में समझिए पार्टियों का गणित, Exit Poll के बाद इस पार्टी पर लगा ग्रहण

गुजरात, हिमाचल के विधानसभा और दिल्ली के MCD में समझिए पार्टियों का गणित, Exit Poll के बाद इस पार्टी पर लगा ग्रहण

देश में तीन राज्यों के चुनाव के कारण यहां राजनीति पूरी तरह से गर्माई हुई है, जहां इन राज्यों में चुनाव लड़ने वाली पार्टियों ने अपना पूरा जोर लगा रखा है, बता दें कि तीन राज्यों के चुनाव हो चुकें हैं और अब सभी को केवल चुनाव के परिणाम का इन्तजार है। तो आज हम आपको तीन राज्यों के समीकरण को विस्तार से बताने वाले हैं।

गुजरात-हिमाचल और दिल्ली एमसीडी चुनावों के नतीजों का भले ही इंतजार हो लेकिन अब जो चुवान के एग्जिट पोल सामने आ रहें हैं वह काफी चौकाने वालें हैं। इन राज्यों में बदले सियासी समीकरणों का संकेत दे दिया है। एग्जिट पोल के मुताबिक गुजरात में बीजेपी अपना दबदबा कायम रखने में सफल रही है तो वहीं हिमाचल प्रदेश में कांटे की टक्कर होने के बावजूद सत्ता परिवर्तन का ट्रेंड देखने को मिल रहा है। वहीं अगर हम बात दिल्ली एमसीडी की करें तो यहां एमसीडी के विलय के एक सफल विकल्प व्यापारी एक सफल विकल्प व्यापारी कार्ड के बावजूद बीजेपी बेअसर ही दिख रही है, और एक सफल विकल्प व्यापारी इसका फायदा आम आदमी पार्टी को मिल सकता है।

चीन के उदय को दिशा देने वाले पूर्व राष्ट्रपति जियांग जेमिन का निधन

पूर्व चीनी राष्ट्रपति जियांग जेमिन, जिन्होंने तियानमेन स्क्वायर में लोकतंत्र समर्थक विरोधों को कुचलने के बाद अपने देश को अलगाव से बाहर निकाला और आर्थिक सुधारों का समर्थन किया, जिसके कारण एक दशक तक विस्फोटक वृद्धि हुई, राज्य टीवी ने कहा। वह 96 वर्ष के थे। 1989 के तियानानमेन के दमन के बाद एक विभाजित कम्युनिस्ट पार्टी का नेतृत्व करने के लिए एक आश्चर्यजनक विकल्प, जियांग एक सफल विकल्प व्यापारी ने चीन को बाजार उन्मुख सुधारों के पुनरुद्धार, 1997 में ब्रिटिश शासन से हांगकांग की वापसी और विश्व व्यापार संगठन में बीजिंग के प्रवेश सहित ऐतिहासिक परिवर्तनों के माध्यम से देखा। 2001 में

1989 के तियानानमेन के दमन के बाद एक विभाजित कम्युनिस्ट पार्टी का नेतृत्व करने के लिए एक आश्चर्यजनक विकल्प, जियांग ने चीन को बाजार उन्मुख सुधारों के पुनरुद्धार, 1997 में ब्रिटिश शासन से हांगकांग की वापसी और विश्व व्यापार संगठन में बीजिंग के प्रवेश सहित ऐतिहासिक परिवर्तनों के माध्यम से देखा। 2001 में।

देर से डराने के बावजूद लियोनेल मेसी ने अर्जेंटीना को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत दिलाई | विश्व कप 2022

इतना कीमती कुछ भी आसानी से नहीं मिला। अर्जेंटीना ने क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया विश्व कप एक प्रदर्शन के साथ जो एक भाग पीड़ा और दो भाग परमानंद है। उन्होंने लियोनेल मेस्सी और जूलियन अल्वारेज़ के माध्यम से टूर्नामेंट के अब तक के कुछ सबसे अनियंत्रित और मंत्रमुग्ध कर देने वाले फ़ुटबॉल खेलकर दो गोल की बढ़त ले ली, केवल दूसरे हाफ़ में ऑस्ट्रेलियाई गोल शॉट से किया।

हुक्का बैन : युवाओं ने कहा, हुक्का नशा नहीं जरिया है टाइमपास का

नशे पर ही पाबंदी लगानी है तो क्लब-बार बंद करें, हुक्का बार नहीं
मेयर ने हुक्का बार का नया लाइसेंस जारी करने से मना किया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : हुक्का की कहानी बहुत पुरानी है। पहले के लोग इसे अपनी शान मानकर पीते थे। समय के साथ हुक्का का एक सफल विकल्प व्यापारी चलन बदला और अब शौकिया तौर पर हुक्का का धुआं उड़ाया जाता है। हुक्का के नयेपन में बहुत कुछ नया जोड़ा गया है। तंबाकू के अलावा अब फ्लेवर हुक्का भी मिलता है जो युवा वर्ग को खास आकर्षित करता है। युवाओं के लिए हुक्का बार हुक्का के कश के साथ जगह है अपने दोस्तों के साथ अड्डा एक सफल विकल्प व्यापारी जमाने का, लेकिन इनकी यह खुशी ज्यादा दिन तक टिकी एक सफल विकल्प व्यापारी न रही। हुक्का बार को लेकर लगातार आ रही शिकायतों को सुनने के बाद कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम ने सख्त कदम उठाते हुए हुक्का बार पर बैन लगाने का आदेश दे दिया है। सरकारी स्तर पर इसे एक अच्छी पहल भले मानी जा रही हो लेकिन युवाओं के लिए सरकार का यह कदम अफसोसजनक माना जा रहा है।
युवा बोले, नशा बंद करो हुक्का बैन से एक सफल विकल्प व्यापारी क्या होगा
हुक्का पर लगे बैन को लेकर युवाओं में रोष है, मायूसी है। बादल शर्मा ने बताया कि हम सभी दोस्त हुक्का बार समय बिताने के लिये जाते रहे हैं। वहां हुक्का का कश भी लगाते हैं लेकिन निकोटिन का इस्तेमाल नहीं करते है। अब सरकार इसे बंद कर रही है तो हमारा मूड ऑफ हो गया है। वहीं वर्षा सुरोलिया कहती हैं कि वीकेंड पर हम सभी दोस्त ग्रुप में टाइमपास के लिए हुक्का बार में जाते हैं, वहां मस्ती करते हैं, बातें करते हैं तो स्ट्रेस कम होता है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। सरकार को अगर नशा ही बंद करना है तो बार या क्लब बंद करना चाहिए, हुक्का बार बंद करने का फायदा कुछ होने वाला नहीं है क्योंकि नशे में अपराध शराब पीने के बाद होता है, हुक्का पीने के बाद नहीं।
नहीं है हुक्का का विकल्प, अब क्या करें
युवाओं के लिए हुक्का जैसा विकल्प नहीं है। यहां वैसे ही हुक्का पार्लर की संख्या सीमित है। विजय अग्रवाल ने कहा कि हुक्का चाहे तो हम घर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन वहां बच्चों एक सफल विकल्प व्यापारी पर बुरा असर पड़ सकता है इसलिए पार्लर में एक सफल विकल्प व्यापारी जाकर हुक्का पीते हैं। ऋषभ गुप्ता ने कहा कि हमारे पास विकल्प नहीं है, अब कुछ किया नहीं जा सकता है। बस इतना ही समझ आ रहा है कि सरकारी नीतियों के चक्कर में हमारे मनोरंजन का साधन एक सफल विकल्प व्यापारी शटडाउन कर दिया गया।
100 सिगरेट के बराबर है 1 घंटे तक हुक्का पीना
हुक्का में जो निकोटीन होता है वह धीमे जहर जैसा आपके शरीर में असर डालता है। अपोलो मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल्स के सीनियर कंसल्टेंट इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. विकास मजूमदार ने बताया कि एक घंटे तक हुक्का पीने का मतलब 100 सिगरेट पीने के बराबर है। सिगरेट की ही तरह हुक्का भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। सरकार अगर हुक्का बार बंद कर रही है तो न सिर्फ आज बल्कि भविष्य के लिए भी अच्छी पहल है।

रेटिंग: 4.82
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 322
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *