ट्रेडिंग प्लेटफार्मों

किस प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं?

किस प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं?
वही E Rupee Digital Currency की बात करे तो यह सरकार द्वारा नियंत्रित होती है। E Rupee Digital Currency को आप बाद में नोटो में भी तब्दील कर सकते है। E Rupee Digital Currency के प्राइस की बात करे तो वो कोई घटता बढ़ता नही है।

Sabse Sasti Cryptocurrency Kaun Si Hai

E Rupee क्या है (Indian Digital Currency) | E Rupee Digital Currency Explained in Hindi 2022-2023

E Rupee क्या है (Indian Digital Currency) : क्या आपने बिटकॉइन और एथेरियम जैसे काउंस के नाम सुने है? इससे मुख्य तौर पर क्रिप्टोकरेंसी कहा जाता है। हाल के समय इन क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बाजार में काफी सारी न्यूज आती रहती है जिसके चलते आज के समय में क्रिप्टोकरेंसी सबसे ट्रेडिंग टॉपिक बन कर ऊबर कर आया है। इसी को मध्य नजर रखते हुए भारत सरकार ने इस वर्ष के शुरुवात में देश का बजट जारी करते हुए यह ऐलान किया था कि भारत सरकार भी आरबीआई से रेगुलेटेड डिजिटल करेंसी की शुरुवात वर्ष 2022 से 2023 के बीच में करेगी।

तो हाल ही में 1 नवंबर को आरबीआई ने देश का डिजिटल करेंसी E Rupee को लॉन्च कर दिया है। अगर आप भी यह जानना चाहते है कि यह E Rupee क्या है? यह E Rupee किस प्रकार से काम करेगा इन सभी विषयो पर हमने इस आर्टिकल के द्वारा चर्चा करने का प्रयास किया है।

E Rupee (Indian Digital Currency) क्या है

E Rupee क्या है (Indian Digital Currency) : E Rupee एक प्रकार की डिजिटल करेंसी है जिसे सेंट्रल बैंक ऑफ डिजिटल करेंसी द्वारा जारी किया गया है। अगर हम इसे आसानी से आपको बताए तो E Rupee, उसी समान है जैसे नोटो को आरबीआई द्वारा छापा जाता है।

E Rupee को भी आरबीआई द्वारा ही रेगुलेट किया जाएगा। हमारे देश की केंद्र सरकार ने वर्ष 2022 में बजट को जारी करते समय इस बात की घोषणा की थी देश में डिजिटल करेंसी भी जारी होंगे। जिसे 1 नवंबर 2022 को जारी किया गया है।

इन्हें भी पड़े :

E Rupee किस तरह से काम करेगा

अब आप सोचते होंगे कि E Rupee का डाटा आरबीआई को कैसे मालूम चलेगा तो हम आपको बता दे कि यह E Rupee उन्ही सभी प्रिंसिपल और टेक्नोलॉजी पर काम करेगा जिस पर बिटकॉइन और एथेरियम जैसे क्रिप्टो करेंसी काम करते है। यह E Rupee भी ब्लॉकचैन टेक्नोलोजी पर काम करता है।

आपको बता दे कि E Rupee को कुछ ऐसे इस्तेमाल करने से रेग्यूलेट किया जाएगा जिससे आपके बैंक पासबुक पर भी इसकी जानकारी रिफ्लेक्ट करेगी।

E Rupee कहा पर इस्तेमाल किया जाएगा

अभी के लिए E Rupee को केवल पायलट प्रोजेक्ट के लिए लाया जा रहा है। पायलट प्रोजेक्ट की बात करे तो इसमें होल सेल मार्केट जिस पर सरकार लेन देन करती है अभी केवल वही इस E Rupee का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे ही सेंट्रल बैंक ऑफ डिजिटल करेंसी पायलट टेस्टिंग का नाम से रही है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया पहले ही कह चुकी है कि इस डिजिटल करेंसी को भारत के बाजार में लाने का मकसद केवल भारत के बाजार में मौजूद लेन देन के तरीके को बदल कर अच्छा बनाना है। E किस प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं? Rupee के कारण आने वाले समय में लोगो को मौजूदा करेंसी के अलावा एक और भुगतान का तरीका मिल पायेगा जिससे वो लेन देन कर पाने में सक्षम हो पायेंगे।

Crypto Trading : कैसे करते हैं क्रिप्टोकरेंसी में निवेश और कैसे होती है इसकी ट्रेडिंग, समझिए

Crypto Trading : कैसे करते हैं क्रिप्टोकरेंसी में निवेश और कैसे होती है इसकी ट्रेडिंग, समझिए

Cryptocurrency Trading : क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को लेकर है बहुत से भ्रम. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) एन्क्रिप्शन के जरिए सुरक्षित रहने वाली एक डिजिटल करेंसी है. माइनिंग के जरिए नई करेंसी या टोकन जेनरेट किए जाते हैं. माइनिंग का मतलब उत्कृष्ट कंप्यूटरों पर जटिल गणितीय समीकरणों को हल करने से है. इस प्रक्रिया को माइनिंग कहते हैं और इसी तरह नए क्रिप्टो कॉइन जेनरेट होते हैं. लेकिन जो निवेशक होते हैं, वो पहले से मौजूद कॉइन्स में ही ट्रेडिंग कर सकते हैं. क्रिप्टो मार्केट में उतार-चढ़ाव का कोई हिसाब नहीं रहता है. मार्केट अचानक उठता है, अचानक गिरता है, इससे बहुत से लोग लखपति बन चुके हैं, लेकिन बहुतों ने अपना पैसा भी उतनी ही तेजी से डुबोया है.

यह भी पढ़ें

अगर आपको क्रिप्टो ट्रेडिंग को लेकर कुछ कंफ्यूजन है कि आखिर यह कैसे काम करता है, तो आप अकेले नहीं हैं. बहुत से लोग यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि वर्चुअल करेंसी में कैसे निवेश करें. हम इस एक्सप्लेनर में यही एक्सप्लेन करने की कोशिश कर रहे हैं कि आप क्रिप्टोकरेंसी में कैसे निवेश कर सकते हैं, और क्या आपको निवेश करना चाहिए.

क्रिप्टोकरेंसी क्या है, ये समझने के लिए समझिए कि यह क्या नहीं है. यह हमारा ट्रेडिशनल, सरकारी करेंसी नहीं है, लेकिन इसे लेकर स्वीकार्यता बढ़ रही है. ट्रेडिशनल करेंसी एक सेंट्रलाइज्ड डिस्टिब्यूशन यानी एक बिंदु से वितरित होने वाले सिस्टम पर काम करती है, लेकिन क्रिप्टोकरेंसी को डिसेंट्रलाइज्ड टेक्नॉलजी, ब्लॉकचेन, के जरिए मेंटेन किया जाता है. इससे इस सिस्टम में काफी पारदर्शिता रहती है, लेकिन एन्क्रिप्शन के चलते एनॉनिमिटी रहती है यानी कि कुछ चीजें गुप्त रहती हैं. क्रिप्टो के समर्थकों का कहना है कि यह वर्चुअल करेंसी निवेशकों को यह ताकत देती है कि आपस में डील करें, न कि ट्रेडिशनल करेंसी की तरह नियमन संस्थाओं के तहत.

क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग कैसे होती है?

इसके लिए आपको पहले ये जानना होगा कि यह बनता कैसे है. क्रिप्टो जेनरेट करने की प्रक्रिया को माइनिंग कहते हैं. और ये काम बहुत ही उत्कृष्ट कंप्यूटर्स में जटिल क्रिप्टोग्राफिक इक्वेशन्स यानी समीकरणों को हल करके किया जाता है. इसके बदले में यूजर को रिवॉर्ड के रूप में कॉइन मिलती है. इसके बाद इसे उस कॉइन के एक्सचेंज पर बेचा जाता है.

bitcoins 650

कौन कर सकता है ट्रेडिंग?

ऐसे लोग जो कंप्यूटर या टेक सैवी नहीं हैं, वो कैसे क्रिप्टो निवेश की दुनिया में प्रवेश कर सकते हैं? ऐसा जरूरी नहीं है कि हर निवेशक क्रिप्टो माइनिंग करता है. अधिकतर निवेशक बाजार में पहले से मौजूद कॉइन्स या टोकन्स में ट्रेडिंग करते हैं. क्रिप्टो इन्वेस्टर बनने के लिए माइनर बनना जरूरी नहीं है. आप असली पैसों से एक्सचेंज पर मौजूद हजारों कॉइन्स और टोकन्स में से कोई भी खरीद सकते हैं. भारत में ऐसे बहुत सारे एक्सचेंज हैं तो कम फीस या कमीशन में ये सुविधा देते हैं. लेकिन यह जानना जरूरी है कि क्रिप्टो में निवेश जोखिम भरा है और मार्केट कभी-कभी जबरदस्त उतार-चढ़ाव देखता है. इसलिए फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स निवेशकों से एक ही बार में बाजार में पूरी तरह घुसने की बजाय रिस्क को झेलने की क्षमता रखने की सलाह देते हैं.

यह समझना भी जरूरी है कि सिक्योर इन्वेस्टमेंट, सेफ इन्वेस्टमेंट नहीं होता है. यानी कि आपका निवेश ब्लॉकचेन में तो सुरक्षित रहेगा लेकिन बाजार में किस प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं? उतार-चढ़ाव का असर इसपर होगा ही होगा, इसलिए निवेशकों को पैसा लगाने से पहले जरूरी रिसर्च करना चाहिए.

मुझे कौन सी सस्ती क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना चाहिए? (Which Cheap Cryptocurrency Should I Invest?)

वर्तमान समय में क्रिप्टोकरंसी मार्केट (Cryptocurrency Market) में लगभग 1800 से ज्यादा क्रिप्टोकरंसी मौजूद है इनमें से कौन से सस्ती क्रिप्टो करेंसी में हमें निवेश करना चाहिए उसके लिए जरूरी हो जाता है कि हम क्रिप्टोकरंसी का अध्ययन करें।

यही आपके मन में भी यह सवाल आ रहा है कि आपको कौन सी सब्जी क्रिप्टोकरंसी में निवेश करना चाहिए जो हमने इस आर्टिकल में कुछ चुनिंदा सस्ते क्रिप्टोकरंसी के बारे में बताया है जिसमें आप वर्तमान समय में निवेश कर सकते हैं जाग रहे यदि आप लंबे समय के लिए क्रिप्टोकरंसी में निवेश करते हैं तो आपके निवेश की गई रकम की बढ़ोतरी होना तय है।

चलिए अब जानते हैं कि वर्तमान समय में वह कौन सी सस्ती क्रिप्टो करेंसी है जिसमें हमें निवेश करना चाहिए:

निवेश करने के लिए सर्वश्रेष्ठ क्रिप्टोकरेंसी कौन सी किस प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं? है? (Best Cryptocurrency To Invest)

यदि आप भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना चाहते हैं तो क्रिप्टोकरंसी मार्केट में मौजूद कुछ जाने-माने क्रिप्टोकरंसी के बारे में जानना जरूरी है।

बिटकॉइन – Bitcoin

बिटकॉइन दुनिया की सबसे मशहूर क्रिप्टोकरंसी है जिसकी शुरुआत 2009 में Satoshi Nakamoto नाम के किसी व्यक्ति या समूह में निर्माण किया था। बिल्कुल क्रिप्टोकरंसी इन ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित है बिना किसी ब्रोकर के रियल टाइम में ट्रांजैक्शन को वेरीफाई करता है।

इथेरियम – Ethereum

एथेरियम एक ब्लॉकचेन नेटवर्क है जिसका टोकन ETH है। यदि आपने NFT की बनाकर बेचने के बारे में सुना होगा तो आपको पता होगा कि एनएफटी बेचने के लिए अधिकतर एथेरियम का इस्तेमाल होता है। इसका मुख्य उद्देश्य जीवाश्म इंधन की निर्भरता को कम करना है।

FAQ: Sabse Sasti Cryptocurrency Kaun Si Hai – से संबंधित सभी प्रकार के प्रश्न:

सबसे सस्ती क्रिप्टोकरेंसी कौन सी है?

क्रिप्टो करेंसी मार्केट में नई करेंसी सबसे सस्ती होती है जैसे कि Shiba Inu, DOGE और Tron आदि।

सबसे लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी कौन सी है?

वर्तमान समय में बिटकॉइन (BTC) सबसे लोकप्रिय करेंसी है क्योंकि इतनी लोकप्रिय है इसलिए इसमें निवेश करना भी सुरक्षित है।

कौन कर सकता है ट्रेडिंग?

ऐसे लोग जो कंप्यूटर या टेक सैवी नहीं हैं, वो कैसे क्रिप्टो निवेश की दुनिया में प्रवेश कर सकते हैं? ऐसा जरूरी नहीं है कि हर निवेशक क्रिप्टो माइनिंग करता है. अधिकतर निवेशक बाजार में पहले से मौजूद कॉइन्स या टोकन्स में ट्रेडिंग करते हैं. क्रिप्टो इन्वेस्टर बनने के लिए माइनर बनना जरूरी नहीं है. आप असली पैसों से एक्सचेंज पर मौजूद हजारों कॉइन्स और टोकन्स में से कोई भी खरीद सकते हैं. भारत में ऐसे बहुत सारे एक्सचेंज हैं तो कम फीस या कमीशन में ये सुविधा देते हैं. लेकिन यह जानना जरूरी है कि क्रिप्टो में निवेश जोखिम भरा है और मार्केट कभी-कभी जबरदस्त उतार-चढ़ाव देखता है. इसलिए फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स निवेशकों से एक ही बार में बाजार में पूरी तरह घुसने की बजाय रिस्क को झेलने की क्षमता रखने की सलाह देते हैं.

यह समझना भी जरूरी है कि सिक्योर इन्वेस्टमेंट, सेफ इन्वेस्टमेंट नहीं होता है. यानी कि आपका निवेश ब्लॉकचेन में तो सुरक्षित रहेगा लेकिन बाजार में उतार-चढ़ाव का असर इसपर होगा ही होगा, इसलिए निवेशकों को पैसा लगाने से पहले जरूरी रिसर्च करना चाहिए.

वनप्लस मोबाइल फोन क्यों खरीदें? क्या वे इतने सस्ते हैं?

Influencers Guapos

कॉपीराइट © 2022 शीर्ष प्रभावक | द्वारा संचालित एस्ट्रा वर्डप्रेस थीम

कुकीज़ का उपयोग

इस साइट में कुकीज़ का उपयोग करता आप सबसे अच्छा उपयोगकर्ता अनुभव प्राप्त हो लिए। क्या आप ऊपर उल्लिखित कुकीज़ की स्वीकृति और की स्वीकृति के लिए आपकी सहमति दे रहे हैं ब्राउज़ करने के लिए जारी रखते हैं हमारे कुकीज़ नीतिअधिक जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें।प्लगइन कुकीज़

रेटिंग: 4.14
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 711
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *