ट्रेडिंग प्लेटफार्मों

कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं?

कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं?
सरपट भाग रहा Rakesh Jhunjhunwala का यह स्टॉक, कंपनी दे रही निवेशकों को बोनस शेयर, जानिए क्या है रेकॉर्ड डेट
क्या होते हैं बोनस शेयर
बोनस शेयर वे शेयर होते हैं जो कंपनी अपने निवेशकों को फ्री में देती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि शेयरहोल्डर के पास कितने शेयर हैं। उदाहरण के लिए कोई कंपनी एक शेयर पर एक बोनस शेयर दे सकती है या एक शेयर पर दो बोनस शेयर दे सकती है। इस तरह बोनस जारी करने को कैपिटेलाइजेशन ऑफ रिजर्व्स कहा जाता है। यानी बोनस शेयर जारी करके मुनाफे के एक हिस्से को कैपिटल में बदला जाता है।

Dividend kya hota Hai | Dividend meaning in Hindi

Dividend kya hai क्या आपको पता है अगर dividend के बारे में कुछ भी पता नहीं है तो आपको हम Dividend meaning in hindi डिविडेंड कितना और कब मिलता है। की जानकारी देने वाले हैं। तो आईये जानते हैं डिविडेंड क्या होता है और कौनसी कंपनी Dividend देती हैं।

डिविडेंड क्या होता है | What is Dividend in Hindi

डिविडेंड का मतलब कंपनी के द्वारा अपने शेयर होल्डर को शुद्ध लाभ यानि Net Profit में कुछ हिस्सा कुछ राशि लाभ के रूप में देती हैं। कंपनी शेयर धारको की निवेश की गई राशि के हिसाब से देती हैं.

अगर टाटा के मेरे पास 200 शेयर है। और कंपनी एलान करती हैं 20₹ प्रति शेयर का Dividend देंगी तो मुझे 200×20 = 4000 रूपए मिलेंगे। अब तो आप Dividend ka matlab kya hai समझ गए हैं। अब Dividनिकाले ना ज़रूरी होता है क्या? तो चलिए जानते हैं।

कंपनी के लिए डिविडेंड देना ज़रूरी है या नहीं

ऐसी बहुत सारी कंपनी है जो डिविडेंड देती हैं। लेकिन अब कंपनी को डिविडेंड देना ही पड़ेगा ऐसा ज़रूरी नहीं है। कंपनी डिविडेंड देंगी या नहीं ये कंपनी के Board Member Decide करते हैं।

ऐसी भी कंपनी है जिनका डिविडेंड देने का काफी सालो से रिकॉर्ड रहा है। जो कंपनी अपने निवेशक को डिविडेंड देती हैं। मतलब वो काफी ज़्यादा मात्रा में प्रॉफिट कमा रही है। लेकिन कंपनी ज़्यादा प्रॉफिट कमाए तो डिविडेंड देगी। यह भी ज़रूरी नहीं है। अब तो आप समझ गए हैं। कंपनी पर डिविडेंड देना compulsory नहीं होता है

कंपनी कितना डिविडेंड दे सकती हैं

कंपनी अपने शेयर धारको को कितना डिविडेंड देगी ये उसके Face Value पर Decide निर्भर करता है। फेस वैल्यू क्या है। कंपनी जब रजिस्टर होती हैं। तो वह Face Value decide करती हैं। जैसे 20₹ फेस वैल्यू है तो इसका 50% Dividend देना होगा। मतलब वह अपने शेयर होल्डर को प्रति शेयर 10₹ का Dividend देगी। अब आपको कंपनी से डिविडेंड प्राप्त करने की लिए 4 अहम Date के बारे में अच्छे से पता होना चाहिए वह डेट ये हैं।

Devidend Declaration Date - ये दिन है जब कंपनी अपने शेयर होल्डर को डिविडेंड देने का एलान करती हैं।

Ex-Date - शेयर होल्डर ने इस तारीख से पहले शेयर ख़रीदा था सिर्फ उन्हें ही डिविडेंड मिलेगा।

Record Date - निवेशक के Demat Account में इस कंपनी के शेयर है उन्हीं को डिविडेंड दिया जाएगा।

Devidend Payout Date - इस दिन शेयर धारको को Devidend दिया जाता है।

इसे पड़े Motual funds क्या है और इसमें कैसे निवेश करे

डिविडेंड कब मिलता है | Devidend kab milta hai

interim devidend meaning in hindi कंपनी दो तरह से डिविडेंड देती हैं। पहला interim Dividend और दोसरा Final Dividend। कंपनी फाइनल डिविडेंड वित्त वर्ष के खत्म के बाद देती हैं। और interim Dividend को वित्त वर्ष के बीच में दे देती हैं।

डिविडेंड कैसे मिलता है | Devidend kaise milta hai

शेयर होल्डर के खाता में जो शेयर धारको के Demat Account से लिंक होता है उसमे डिविडेंड का पैसा जमा कर दिया जाता है जैसे आपने अपने demat account में SBI, HDFC, ICICI का बैंक अकाउंट जोड़ा है। तो आपकी डिविडेंड अमाउंट इस खाते में आयेगी।

डिविडेंड पर कितना टैक्स लगता है

शेयर होल्डर के पास जमा डिविडेंड के पैसों पर कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? कोई टैक्स नहीं लगता है। क्यों पहले ही कंपनी की द्वारा डिविडेंड पर Dividend Distribution Tax दे दिया जाता हैं।

अब अगर से किसी शेयर धारको को साल में 10 लाख या इससे ज़्यादा का Dividend मिला है तो इसपे टैक्स देना होगा। ये Finance act 2016 section 115BBDA के तहत कहा गया है। जो प्राप्त की गई राशि पर टैक्स 10% लगेगा । अब आपको कंपनी से 15 लाख का Dividend amount मिली है। तो इसपर Dividend tax 15 हज़ार देना होगा।

कौनसी कंपनी डिविडेंड देती हैं

कौनसी कंपनी डिविडेंड देती हैं ये जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे यहाँ से आप Dividend dene wali Company पता लगा सकते हैं। और आपको नीचे Dividend provide करने वाली कंपनी की लिस्ट भी दे रखी है।

1. ITC Ltd
2. Power Grid Corporation of india Ltd
3. Telecom Tower

सबसे ज़्यादा डिविडेंड कौनसी कंपनी देती हैं

सबसे ज़्यादा डिविडेंड देने के मामले पहला नंबर ITC Ltd का आता है। जो अपने शेयर धारको को लगातार कई सालो तक Cash Dividend देती आ रही है। और Current 2021 में इसने 2 बार Dividend दिया है।

आखरी बात

आपको Devidend kya hai.डिविडेंड का मतलब क्या होता है. what is Dividend meaning in hindi डिविडेंड की पूरी जानकरी आपको समझ आ गई होंगी। अगर आपकी मन में कुछ भी सवाल है तो कृपया कमेंट बॉक्स में लिखें। और नीचे दिए गए शेयर बटन की मदद से इस पोस्ट को शेयर ज़रूर करदे और हमारा फेसबुक ग्रुप भी ज्वाइन करले।

Dividend Paying Stocks in Sep: ये कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को देंगी डबल मुनाफा, समझिए डिविडेंड का फंडा

SBI 1

Dividend Paying Stocks in Sep: : शेयर बाजार में निवेश करने पर निवेशकों को एक तो शेयरों के वैल्यू पर कमाई होती है, वहीं एक और रास्ता होता है, जिससे उन्हें निवेश का फायदा मिलता है. शेयर बाजार में डिविडेंड एक टर्म होता है, जो निवेशकों को डबल फायदा दिलवा सकता है. डिविडेंड का मतलब होता है कंपनियों की कमाई के लाभ के कुछ हिस्से को शेयरहोल्डर्स के बीच बांटा जाता है. हिंदी में इसे लाभांश कहते हैं. वित्त वर्ष के अंत में कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? कंपनियां अपने मुनाफे में से टैक्स और दूसरे खर्चों का पैसा अलग करने के बाद जो शुद्ध मुनाफा बनता है, उसमें से लाभांश अपने शेयरहोल्डर्स को देती हैं. यह लाभांश कंपनी के बोर्ड के डायरेक्टर तय करते हैं कि कंपनी के नेट प्रॉफिट का कितना प्रतिशत डिविडेंड में बांटा जाए.

यहां आपको डिविडेंड के बारे में विस्तार से जानकारी मिलेगी, और उसके साथ यह भी जानेंगे कि इस महीने ऐसी कुछ कौन सी कंपनियां हैं, जो अपने शेयर पर डिविडेंड देने वाली हैं.

Table of Contents

Bamboos farmer

download (2)

डिविडेंड से जुड़ी कुछ अहम बातें जो आपको जाननी चाहिए

– कंपनियों के प्रॉफिट के कुछ हिस्से को पात्र शेयरहोल्डर्स के साथ शेयर करना डिविडेंड का डिस्ट्रीब्यूशन है. डिविडेंड का पेमेंट और अमाउंट कंपनी के बोर्ड डायरेक्टर तय करते हैं.

– प्रति शेयर पर मिलने वाले डिविडेंड या लाभांश को डिविडेंड यील्ड कहते हैं.

– ये डिविडेंड देना या न देना किसी भी कंपनी का अपना फैसला होता है. ये अनिवार्य नियम नहीं है. पब्लिक सेक्टर की अधिकतर कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को डिविडेंड देती हैं. कुछ प्राइवेट कंपनियां भी डिविडेंड यील्ड देती हैं.

– यह डिविडेंड हर तिमाही के नतीजे के साथ दिया जाता है. कुछ कंपनियां साल की आखिरी तिमाही में एक बार ही डिविडेंड देती है, जिसे फाइनल डिविडेंड कहा जाता है.

– यह कंपनियों पर निर्भर करता है कि वो डिविडेंड कब देती हैं, कितना देती हैं और कितनी बार देती हैं. कुछ कंपनियां साल में एक बार तो कुछ दो-तीन बार भी दे सकती हैं.

– डिविडेंड या तो आपके अकाउंट में कैश में भी आ सकता है या फिर एडिशनल स्टॉक में रिइन्वेस्टमेंट के तौर पर भी मिल सकता है.

– डिविडेंड मिलने की एक शर्त होती है कि उन्हीं शेयरहोल्डर्स को लाभांश मिलता है, जिन्होंने एक्स

– शेयरों के अलावा, कुछ म्युचुअल फंड और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड भी निवेशकों को डिविडेंड देते हैं.

– कभी-कभी ऐसा भी होता है कि कंपनियां अपने नेट प्रॉफिट पर लाभांश न देकर इसका हिस्सा अपने रिटेन्ड अर्निंग्स में रख लें और अपने ग्रोथ में लगाएं.

– डिविडेंड का एक्स डेट और रिकॉर्ड डेट होता है. एक्स डेट उस तारीख को कहते हैं, जब डिविडेंड एलिजिबिलिटी एक्सपायर हो रही हो. यानी कि अगर किसी कंपनी ने 13 सितंबर एक्स डेट फिक्स किया है तो उस दिन पर या उस दिन के बाद स्टॉक खरीदने वालों को डिविडेंड नहीं मिलेगा.

– रिकॉर्ड डेट एक तरह से कटऑफ डेट होती है. कंपनी यह तारीख तय करती है और इससे यह तय किया जाता है कि कौन सा शेयरहोल्डर डिविडेंड पाने का पात्र है या नहीं. एक तरीके से यह लॉयल्टी देखी जाती है कि आप कितने वक्त से कंपनी का स्टॉक होल्ड किए हुए हैं.

इस महीने आ सकते हैं कुछ चर्चित कंपनियों के डिविडेंड

LIC Housing Finance

फाइनेंशियल सेक्टर की बड़ी पीएसयू कंपनी एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस इस महीने अपने शेयरहोल्डर्स को डिविडेंड यील्ड दे सकती हैं. BSE के मुताबिक, कंपनी ने प्रति शेयर पर 8.50 रुपये का डिविडेंड देने की घोषणा की है. कंपनी के शेयर 13 सितंबर को दोपहर 3.30 बजे 436.50 रुपये पर बंद हुए. इसमें 1.05 अंक या 0.24% की तेजी दर्ज हुई थी. इसका एक्स-डेट 19 सितंबर, 2022 है.

Zee Entertainment

मीडिया कॉन्गलोमरेट ज़ी एंटरटेनमेंट प्रति शेयर 3 रुपये का डिविडेंड देगी. इसका एक्स डेट 15 सितंबर और रिकॉर्ड डेट 16 सितंबर है. इसका शेयर इस दौरान 0.24% या 0.65 अंक की तेजी के साथ 271 रुपये प्रति शेयर पर दर्ज हुआ.

Southern Gas Limited

सदर्न गैस लिमिटेड प्रति शेयर 50 रुपये का डिविडेंड यील्ड देगा. इसका एक्स और रिकॉर्ड डेट दोनों ही 15 सितंबर हैं.

Polyplex Corporations

पॉलिएस्टर बनाने वाली बड़ी कंपनी पॉलिप्लेक्स 21 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान कर चुकी है. इसका एक्स डेट 22 और रिकॉर्ड डेट 24 सितंबर है. इसके शेयर की कीमत मंगलवार को क्लोजिंग पर 2,183 रुपये प्रति शेयर के आसपास कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? दर्ज हुई.

Bharat Bijlee

भारत बिजली अपने एक शेयर पर 30 रुपये का डिविडेंड देगी. कंपनी ने 19 सितंबर को एक्स डेट और रिकॉर्ड डेट 22 सितंबर रखा है.

आखिर डिविडेंड होता क्या है और हमें कैसे मिलता है? और कंपनियां डिविडेंड क्यों देती हैं?

डिविडेंड (Dividend) का अर्थ-
dividends 5

दोस्तों स्टॉक मार्केट में आपने जरूर सुना होगा कि किसी कंपनी ने 50% और किसी ने 100 फीसद डिविडेंड दे दिया है. आपको बता दे की स्टॉक मार्किट में बड़े-बड़े निवेशक डिविडेंड से बहुत पैसा कमाते हैं. जानकारी के लिए बता दे की दुनिया के टॉप 10 अमीर लोगो में गिने जाने वाले इन्वेस्टर Warren Buffett हर साल मात्र एक कंपनी के डिविडेंड से तीन हज़ार करोड़ से भी ज्यादा पैसा कमाते है. लेकिन मन में सवाल होता है की आखिर डिविडेंड क्या है? और इससे हम कितने पैसे कमा सकते हैं और कोन से स्टॉक डिविडेंड वाले है.तो दोस्तों आइये हमारी इस पोस्ट को आखिर तक ज़रूर पढ़िए इस पोस्ट में हम आपके हर सवालो के जवाब बहुत ही आसान शब्दों में देंगे।

स्टॉक मार्केट में Dividend क्या है?
2

दोस्तों Dividend कंपनी के लाभ का वो हिस्सा है. जो कंपनी अपने शेयर होल्डर्स यानि के जो उसके शेयर पर मालिकाना कुछ% अधिकार रखता है. उसको प्रॉफिट के रूप में देती हैं. यानि जैसे अपने किसी कंपनी के शेयर खरीदे है. मान लीजिये 10 शेयर ख़रीदे है. अब जब कंपनी को अपनी कंपनी में प्रॉफिट हुआ तो जितने% आप कंपनी का मालिकाना अधिकार रखते है तो प्रॉफिट का जितने % आपके हिस्से में आता है वो कंपनी आपको उतना ही प्रॉफिट देती है तो उसे शेयर मार्केट में Dividend कहते हैं। सिर्फ कुछ ही कंपनियां Dividend देती हैं.और ये पर शेयर के हिसाब से दिया जाता है. इन्वेस्टर को ये डिविडेंड का पैसा 3 महीने में या साल बेसिस पर मिलता है।और जो कंपनियां Dividend नहीं देती हैं वह अपने बचे हुए प्रॉफिट को वापस से कंपनी की ग्रोथ में लगा देती है.

सरल भाषा या फिर हिंदी में कहे तो डिविडेंड का अर्थ है लाभांश’मतलब लाभ का अंश जो कंपनी के नेट प्रॉफिट का एक भाग है जो शेयर होल्डर्स को दिया जाता है.

Dividend इनकम क्या है?

डिविडेंड इनकम वो पैसा होता है.जो शेयर को होल्ड रखने पर मिलता है. उधारण जैसे आपके पास Dividend देने वाली कंपनी के जितने अधिक शेयर होंगे आपकी उतनी ही ज्यादा डिविडेंड इनकम होंगी।आपको सरल भाषा मे बताते हैं जैसे-किसी व्यक्ति के पास 1000 शेयर हैं. और अगर उनका cash Dividend कीमत 1 रुपये हैं तो उसे Dividend के रूप में 1000 रुपये मिलेंगे।.

सवाल किया गया था की डिविडेंड per share होता क्या है?

दोस्तों जानकारी के लिए आपको बता दे की कंपनी के एक शेयर पर जितना डिविडेंड मिलता है.उसको ही ‘Dividend per share‘ कहा जाता हैं. और इसको शार्ट में DPS भी कहते हैैं. उदहारण देकर आपको समझाते हैं-

दोस्तों जैसे- आपके पास Vama Industries Ltd कंपनी के 100 शेयर हैं. और एक शेयर पर डिविडेंड 10 रुपये है.तो आपकी डिविडेंड इनकम होंगी (100 ×10 = 1 000) रुपये

Dividend यील्ड क्या होता है?

डिविडेंड यील्ड का अर्थ है कि, शेयर की कीमत पर कंपनी कितने फीसद का डिविडेंड देती है. दूसरे शब्दों में बात करें तो Dividend यील्ड एक ratio है, जो यह दर्शाता है कि कंपनी ने 1 शेयर पर जितना Dividend दिया है. वो कंपनी के वर्तमान मार्केट कीमत का कितना फीसदी (%) है.

उदाहरण― जैसे अगर Vama Industries Ltd कंपनी के शेयर की कीमत ₹100 है और Vama Industries Ltd कंपनी ने 5 रुपये per share का डिविडेंड दिया है.तो कंपनी का Dividend यील्ड होगा। /100) × 100 = 5%

और इसका मतलब है Vama Industries Ltd कंपनी में इन्वेस्टमेंट करने पर आपको साल का 5% का डिविडेंड मिलेगा.

डिविडेंड वाले शेयर में इन्वेस्टमेंट करने के फायदे-

दोस्तों इन्वेस्टर डिविडेंड को लेकर इसीलिए उत्तेजित रहते हैं. क्योंकि शेयर मार्किट में आप लाभ दो तरीके से कमाते हैं―

1 शेयर को कम कीमत में खरीद कर ज्यादा में बेचना

2 . डिविडेंड से .

  1. निवेशक Dividend देने वाले शेयर में इसलिए निवेश करते हैं. क्योंकि 1, तो शेयर होल्डर्स को हर साल शेयर का जो प्राइस बढ़ेगा उसमे तो प्रॉफिट होगा ही इसके साथ ही एक साल में एक या दो बार एक fixed Amount भी मिलेगा
  2. दोस्तों कुछ इन्वेस्टर यह भी सोच कर इन्वेस्ट करते हैं कि अगर शेयर कीमत बढ़ेगी भी नहीं तो भी वो अगर 10% डिविडेंड yield वाली कंपनी में इन्वेस्ट कर देते हैं. तब भी FD के 6% से ज्यादा रिटर्न तो कमा ही लेंगे। ये भी डिविडेंड वाली कंपनी में निवेश करने का फायदा है।
  3. दोस्तों Demat अकाउंट के पोर्टफोलियो में जितने अधिक शेयर होंगे उतना ही ज्यादा आपको Dividend मिलेगा. इसलिए इन्वेस्टर इसे स्टॉक मार्केट से नियमित Income या निष्क्रिय Income कमाने का जरिया भी मानते हैं.
    4 शेयर मार्केट में कुछ अच्छे Dividend देने वाले मजबूत स्टॉक भी हैं जैसे; Britania Industries जिसमे इन्वेस्ट करने से आपका पैसा वक़्त के साथ Grow होता रहता है और side में Dividend Income भी मिलती रहता है.
    दोस्तों दुनिया के किसी भी अमीर आदमी को देख लो चाहे वो इंडिया के मुकेश अंबानी या गौतम अडानी हों, टेस्ला के Elon Musk, Microsoft के बिल गेट्स या फिर Amazon के जैफ बेजॉस ये सभी इस वजह से आमिर नहीं की, इनकी कंपनियों के अधिक शेयर हैं. दोस्तों ये तो इसलिए आमिर है क्योंकि ये सभी सालाना अपनी कंपनियों से हजारों करोड़ों रुपए की Dividend Income कमाते हैं

Dividend को समझना बहुत जरूरी है-

केवल Dividend से हम किसी भी कंपनी के प्रवर्तक के बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं. जैसे; प्रबंधन की प्रकृति,, ईमानदारी, योजनाएँ और वो कंपनी को लेकर कितने Serious है कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? और वो कंपनी को किस नज़र से देखते हैं.

हमें देखना होगा कि कंपनी कैसे Dividend देती है.और उसका Past Dividend Track क्या रहा है.

डिविडेंड आखिर कौन -कौन सी कंपनियां देती हैं?

आपको बता दे की Dividend सदैव वो ही कंपनियां देती है. जो लाभ में होती है.नुकसान में होने वाली कंपनियां कभी भी Dividend नहीं देती है. Dividend वो कंपनियां देती है. जो काफी बड़ी और Mature हो चुकी होती है.और जो नई कंपनियां होती है.वो अपने आगे का फ्यूचर देखती है.और उसकी ग्रोथ में ही सारा प्रॉफिट लगाती है. क्युकी उनको फ्यूचर का कुछ पता नहीं होता. इसके अलावा दोस्तों ऐसा भी नहीं है. की जो कंपनियां डिविडेंड नहीं देती है. तो निवेशक को लाभ नहीं होता है.कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? आपको बता दे की अगर कंपनी अपने लाभ को डिविडेंड देने की बजाय सही जगह लगाकर अपने बिजनेस की ग्रोथ को बढ़ाती जाएगी. तो उसका नेट प्रॉफिट भी बढ़ता रहेगा. इससे अगर लाभ बढ़ेगा तो फायदा भी इन्वेस्टर्स को ही मिलेगा. दोस्तों इसमें 2 तरीके से शेयर होल्डर्स को लाभ मिलेगा ― एक तो कंपनियों का लाभ बढ़ने से शेयर कीमत भी बढेगा और इसका प्रॉफिट शेयर होल्डर को ही मिलेगा.और दूसरा ये भी है की अगर वो कंपनी फ्यूचर में डिविडेंड देती है.तो वह आज के डिविडेंड से बहुत ज्यादा होगा. क्योंकि जब तक आने वाले समय में कंपनी बहुत बड़ी हो चुकी होगी और उसका प्रॉफिट भी बहुत ज्यादा हो चुका होगा.

Dividend 5 प्रकार के होते हैं-

Dividend-types 6

ज्यादातर कंपनियां Cash डिविडेंड ही कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? देती है और इसी लिए बाकी सब डिविडेंड के बारे में जानने की कोई भी आवश्यकता नहीं है.

आपको बता दे की Cash dividend दो प्रकार के होते हैं―

Dividend का फार्मूला

Dividend = Current share price × dividend yield × number of shares-

आपको इस फार्मूले में डिविडेंड को कैलकुलेट करने के लिए आपको 3 चीज़े के बारे में जानना बहुत ज़रूरी है ―

एक तो आपको कंपनी का करंट मार्केट कीमत (CMP)पता होनी चाहिए

और दूसरा आपको , डिविडेंड यील्ड जो शेयर के चार्ट के नीचे छोटे अक्षरों में लिखी रहती है वो पता होनी चाहिए

और तीसरा आपको ये भी पता होना चाहिए की आपके पास कितने शेयर हैं और उनकी संख्या जो आप अपने डीमैट अकाउंट के पोर्टफोलियो में जाकर देख सकते हैं। वो भी पता होनी चाहिए

तो दोस्तों ये थी आपके लिए डिविडेंड से जुडी जानकारी जो हम आपके लिए लेकर आए थे ,ऐसी ही और भी जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट को सुब्स्क्राइब कीजिये और टेक्निकल कोर्स सीखने के लिए हमे कॉल या व्हाट्सअप कीजिए 9897563039

डिविडेंड क्या होता है? डिविडेंड कौन देता है यह कब और कैसे मिलता है ?

जब कंपनी अपने प्रोफिट में से कुछ प्रतिशत अपने शेयर होल्डर को देती है तो इसे ही डिविडेंड कहते हैं। जब किसी कंपनी में आप कोई स्टॉक या शेयर खरीदते हैं तो कंपनी अपने तय किए गए समय पर आपको प्रति शेयर के हिसाब से डिविडेंड देती है।

डिविडेंड कौन तय करता है?

किसको कितना डिविडेंड मिलेगा ये कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स तय करते हैं। लेकिन हां शेयर धारकों के पास वोट करने का अधिकार होता है। जिसकी मदद से वो डिविडेंड को एप्रूव करते हैं।

डिविडेंड कब मिलता है?

कुछ कंपनी डिविडेंड हर तीन महीने में देती है तो कुछ कंपनी साल में एक बार या फिर हर महीने देती है‌। डिविडेंड देने वाली कंपनी के आम शेयर धारक डिविडेंड वितरण के एलिजिबल होते हैं, जब तक वे एक्स-डिविडेंड-डेट के पहले तक उस कंपनी के स्टॉक के मालिक होते हैं।

एक्स-डिविडेंड-डेट क्या होता है?

जिस तारीख को डिविडेंड मिलने की पात्रता समाप्त होती है, उसी को एक्स डिविडेंड डेट कहते हैं, या संक्षेप में कहें तो इसे एक्स डेट भी कहते हैं। उदहारण के तौर पर अगर किसी स्टॉक का एक्स डेट सोमवार 5 मई है तो उस तारीख को या उसके बाद जो लोग शेयर खरीदेंगे, उन्हें डिविडेंड कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? नहीं मिलेगा। लेकिन जिन लोगों ने शुक्रवार 2 मई को शेयर खरीदे हैं या उसके पहले से शेयर खरीद कर रखे हैं, तो उन्हें डिविडेंड मिलेगा। सारांश ये है कि एक्स डेट के पहले से आप उस कंपनी के स्टॉक के मालिक कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? होने चाहिए जिस कंपनी से आप डिविडेंड लेना चाहते हैं।

कौन सी कंपनी डिविडेंड देती है?

हर तरह की कंपनी अपने शेयर होल्डर्स को डिविडेंड नहीं देती है। जो बड़ी और इसटैब्लिश्ड कंपनी होती है सिर्फ वही डिविडेंड देती हैं। कुछ खास सेक्टर जैसे कि बेसिक मैटेरियल्स, ऑयल एंड गैस, बैंक्स और फाइनेंस ,हेल्थ केयर, फार्मास्युटिकल और युटिलिटीज वाली कंपनियां आमतौर पर अपने शेयर होल्डर्स को डिविडेंड देती है। स्टार्टअप जैसे कि टेक्नोलॉजी और बायोटेक वाले ये सब डिविडेंड नहीं देते हैं। क्योंकि इनकी कमाई का बहुत बड़ा हिस्सा रिसर्च एंड डेवलपमेंट में खर्च होता है।

डिविडेंड यील्ड किसे कहते हैं?

किसी भी शेयर का डिविडेंड यील्ड उस डिविडेंड का अनुपात होता हो जो शेयर धारकों को दिया जाता है। दोस्तों यह डिविडेंड आपके स्टॉक इंवेस्टमेंट पर आपकी पैसिव इनकम का जरिया हो सकती है ।

क्या डिविडेंड इनकम टैक्स फ्री है?

हमारे भारत में डिविडेंड इनकम दस लाख से कम हो तो टैक्स फ्री होता है। अगर आपको ये डोमेस्टिक कंपनी मतलब देश के अंदर की कंपनी से मिला है तो, सिर्फ शर्त ये है कि आप इस देश में रहते हो। हां इसमें एक बात ध्यान रखनी होगी कि अगर आप ट्रेडर हैं तो आप पर टैक्स लगेगा, लेकिन अगर आप इंवेस्टर हैं, और स्टॉक खरीद कर बहुत समय के लिए रखते हैं तो आपको टैक्स से राहत मिलेगी।

एनआरआई के लिए डिविडेंड पर टैक्स ।

इंडियन एनआरआई जो यहां की कंपनी के शेयर फोरेन करेंसी में खरीदते हैं, तो उन्हें अपने डिविडेंड वाली कमाई पर दस से बीस प्रतिशत तक का कर देना पड़ता है। डिविडेंड की कमाई पर टैक्स का मुद्दा बहुत बड़ी चर्चा का विषय है, इसलिए अभी हम उसके बारे में बात नहीं करेंगे। वैसे दोस्तों आप बताईए कि आप इंडिया में रहते हैं या फिर आप एक एनआरआई हैं।

डिविडेंड इनकम का उदाहरण ।

डिविडेंड इनकम को आप इस उदाहरण से और भी बेहतर तरीके से समझ सकते हैं। मान लीजिए कि हमने मार्च 2009 में टीसीएस के दस शेयर खरीदे। तब उस कंपनी के एक शेयर का दाम 260 रुपया था। इस तरह टीसीएस कंपनी में कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? हमने 2600 रुपए लगाए। फिर हमें उसी साल एक शेयर पर 14 रुपया डिविडेंड मिला तो हमारे पास दस शेयर के कुल 140 रुपये हो गए । फिर हमने अपने ये खरीदे हुए शेयर 2018 तक नहीं बेचे। इस दौरान सारे शेयर होल्डर्स को 1:1 का बोनस भी मिला और इस तरह टीसीएस कंपनी में हमारे पास 20 शेयर हो गए। हमको अब 2018 में एक शेयर पर 50 रुपये डिविडेंड मिला और हमारे पूरे एक हजार रूपए हो गए, ये बस सिर्फ हमारा डिविडेंड इनकम है, और हमारा खरीदा हुआ स्टॉक अब भी हमारे पास ही है। इस प्रकार डिविडेंड यील्ड अब 38.4% हो गया है, जो कि 2009 में सिर्फ 5.38% था। अगर कोई कंपनी इतने समय में इतना ग्रो करती है, तो इसको आप अपने इंवेस्टमेंट करने के पैसे पे लगा करके देख सकते हैं, कि आपको कितना रिटर्न मिलेगा।

इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि मार्केट में क्या चल रहा है।अगर आप एक अच्छी खासी कंपनी में निवेश करते हैं, जो कि बहुत बढ़िया डिविडेंड दे रही है, तो आप भरोसेमंद कमाई का स्रोत बना सकते हैं।

डिविडेंड शेयर के दाम पर भी असर डालता है। अगर कोई कंपनी पिछली बार से अधिक डिविडेंड देने का अनाउंसमेंट करती है. तो शेयर के दाम उस बढ़े हुए डिविडेंड की दर से बढ़ जाते हैं, और अगर कंपनी डिविडेंड कम कर देती है तो उसी के दर में शेयर के दाम में गिरावट आती है।

Raining Bonus: इनवेस्टर्स पर बोनस शेयर्स की बरसात, 73 कंपनियां कर चुकी हैं घोषणा, जानिए कौन-कौन हैं लिस्ट में

फाइनेंशियल ईयर 2022 में कॉरपोरेट प्रॉफिट में 48 फीसदी तेजी आई है। बंपर कमाई से उत्साहित कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को कई तरीकों से खुश करने में लगी हैं। इनमें बायबैक, बोनस इश्यू और स्पेशल डिविडेंड शामिल है। अब तक 73 कंपनियां अपने लॉयल इनवेस्टर्स के लिए बोनस शेयर की घोषणा कर चुकी हैं।

currency

हाइलाइट्स

  • 73 कंपनियां कर चुकी है बोनस शेयर देने की घोषणा
  • 2010 में 90 से अधिक कंपनियों ने बोनस शेयर दिया था
  • वित्त वर्ष 2022 कॉरपोरेट प्रॉफिट में 48 फीसदी उछल आया
  • इनकम टैक्स कानून में एक बदलाव से भी कंपनियां प्रोत्साहित

सरपट भाग रहा Rakesh Jhunjhunwala का यह स्टॉक, कंपनी दे रही निवेशकों को बोनस शेयर, जानिए क्या है रेकॉर्ड डेट
क्या होते हैं बोनस शेयर
बोनस शेयर वे शेयर होते हैं जो कंपनी अपने निवेशकों को फ्री में देती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि शेयरहोल्डर के पास कितने शेयर हैं। उदाहरण के लिए कोई कंपनी एक शेयर पर एक बोनस शेयर दे सकती है या एक शेयर पर कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती हैं? दो बोनस शेयर दे सकती है। इस तरह बोनस जारी करने को कैपिटेलाइजेशन ऑफ रिजर्व्स कहा जाता है। यानी बोनस शेयर जारी करके मुनाफे के एक हिस्से को कैपिटल में बदला जाता है।

bonus shares

बोनस शेयरों से लिक्विडिटी में सुधार होता है क्योंकि इससे शेयर की कीमत गिरती है। यह इश्यूएंस रेश्यो पर निर्भर करता है। शेयर की कीमत कम होने से रिटेल इनवेस्टर्स के इन्हें खरीदने की संभावना बढ़ जाती है। जब वित्तीय तौर पर मजबूत कोई कंपनी बोनस शेयर देने की घोषणा करती है तो इससे कंपनी में निवेशकों का भरोसा बढ़ता है।

कितनी कंपनियां कर चुकी हैं घोषणा
इंडियन ऑयल, वरुण बेवरेजेज, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, अजंता फार्मा, नजारा टेक्नोलॉजीज, मिंडा इंडस्ट्रीज, टॉरेंट फार्मा, GMM Pfaulder और आरईसी उन 67 कंपनियों में शामिल हैं जो बोनस शेयर जारी कर चुकी हैं या बोनस स्टॉक के लिए रेकॉर्ड डेट घोषित कर चुकी हैं। इसके अलावा सोनाटा सॉफ्टवेयर समेत छह कंपनियां बोनस शेयर पर विचार करने के लिए बोर्ड मीटिंग बुला चुकी हैं।

इस बैंक के पांच साल हुए पूरे तो शेयरहोल्डर्स को दिया एक पर एक शेयर फ्री
वित्त वर्ष 2022 में कंपनियों के मुनाफे में औसतन 48 फीसदी तेजी आई है। कॉरपोरेट प्रॉफिट टू जीडीपी रेश्यो बढ़कर 4.3 फीसदी पहुंच गया है जो फाइनेंशियल ईयर 2020 में 2.2 फीसदी रह गया था। सबसे ज्यादा फायदा बैंक्स, फाइनेंशियल सर्विसेज, इंश्योरेंस (BFSI), आईटी, एनर्जी और मेटल्स सेक्टर्स को हुआ है। बंपर कमाई से उत्साहित कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को कई तरीकों से खुश करने में लगी हैं। इनमें बायबैक, बोनस इश्यू और स्पेशल डिविडेंड शामिल है।

रेटिंग: 4.39
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 234
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *