एक दलाल चुनना

शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है

शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है
report this ad

Dividend क्या होता है | Dividend Meaning in Hindi

स्टॉक मार्केट की दुनिया में कुछ ऐसी कंपनियां मौजूद हैं जो निवेशकों को टाईम-टाइम पर अपने मुनाफे में से कुछ हिस्सा देती हैं. लाभ के रूप में मिलने वाला यही हिस्सा डिविडेंड कहलाता है. ऐसी कंपनियों के शेयरों को Dividend yield स्टॉक कहा जाता है. हालांकि ये डिविडेंड देना या ना देना किसी भी कंपनी का खुद का फैसला होता है. ये नियम अनिवार्य नहीं है. पीएसयू (PSU =Public Sector Undertaking) सेक्टर की कंपनियां अधिकतर अपने शेयरहोल्डर्स को डिविडेंड देती हैं।

डिविडेंड से कैसे प्रॉफिट होता है ?

शेयर शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है में निवेश करके मुनाफा कमाने के दो तरीके होते हैं। आपको तब लाभ होगा जब शेयरों में तेजी आएगी. और दूसरा बात यह है कि कंपनी को जो भी लाभ हो रहा शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है है, कंपनी उसी लाभ को कुछ हिस्सा में आपको देगी. शेयरों में हमेशा उतार-चढ़ाव आता रहता है. जब बाजार गिरता है तो निवेशक अपने शेयर बेचने लगते हैं, इससे शेयरों के दाम घट जाते हैं. ऐसे वक्त में अगर आपने किसी डिविडेंड स्टॉक में निवेश कर रखा है तो आप ऐसे नुकसान के बीच में भी संभले रह सकते हैं.डिविडेंड को भी बाजार के लिए अच्छा माना जाता है. डिविडेंड मिलने से बाजार का सेंटीमेंट पॉजिटिव बना रहता है. अगर आप ऐसी किसी कंपनी में निवेश करते हैं जो ज्यादा डिविडेंड देती है तो, आप अपने शेयर शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है बेचे बिना भी अच्छी खासी इनकम कर सकते हैं।

डिविडेंड कब मिलता है ?

कंपनियों पर Depend करता है कि वह डिविडेंड कब आपको देती हैं, कितना देती हैं और कितनी बार देती हैं. कुछ कंपनियां साल में एक बार तो कुछ तो दो-तीन बार भी डिविडेंड देती हैं. डिविडेंड प्रति शेयर के आधार पर दिया जाता है. वित्त वर्ष के अंत में कंपनी अपने मुनाफे में से टैक्स और दूसरे खर्चों का पैसा अलग करने के बाद जो शुद्ध मुनाफा बनता है, उसमें से प्रॉफिट को अपने शेयरहोल्डर्स को शेअर क्वांटिटी अनुसार बॉट देती है।

INTERIM DIVIDEND :

कंपनी शेयर होल्डर को कभी भी डिविडेंड दे सकती हैं. कंपनी अगर अच्छी मुनाफा Quarter कमाई कर रहा है। तो हो सकता है की कंपनी मुनाफा का कुछ हिस्सा शेयरहोल्डर के साथ Interim Dividend के रूप में घोषणा करे। आम तौर पर तिमाही रिजल्ट के बाद ही डिविडेंड घोषित होता हैं। इसे देने के लिए Annual General Meeting कोई भी जरुरत नहीं पड़ती।

Final Dividend :

फाइनल डिविडेंड जैसा की आपको नाम से ही पता लग जाता है की अंतिम बार मिलने वाला डिविडेंड। Final Dividend किसी भी शेयर होल्डर को तब मिलता है। जब Financial year खत्म होने के बाद AGM (Annual General Meeting) में ये घोषित किया जाता है सारे इक्विटी शेयरहोल्डर को डिविडेंड मिलने वाला हैं। मतलब जब कंपनी को उस साल में कितना प्रॉफिट हुआ ये पता चल जाता है तब कंपनी Final Dividend की घोषणा करता हैं। इस डिविडेंड को कंपनी साल में एक बार ही दे सकती हैं।

डिविडेंड का फार्मूला :

Dividend = Current share price × dividend yield × number of shares

जब हम शेयर मार्केट में निवेश करते हैं तो दो तरीका से पैसे कमाए जा सकता हैं ।

  • स्टॉक का प्राइस बढ़ने से
  • डिविडेंड के रूप में

1) स्टॉक का प्राइस बढ़ने से प्रॉफिट :

जब हम शेअर मार्केट में निवेश करते है और जब स्टॉक का प्राइस तेजी से बढ़ता है तो हमे प्रॉफिट होता है।

2) डिविडेंड के रूप में :

जब आप स्टॉक मार्केट में एक स्टॉक पर बड़ा अमाउंट निवेश करते हैं तो यही उम्मीद रखते हैं कि आपको अच्छा खासा लाभ हो। और यदि मुनाफा दो रास्तों से आए तो फिर बात ही क्या है. इसे कहते हैं डबल बेनिफिट प्राप्त करना । स्टॉक मार्केट में ऐसे कई स्टॉक मौजूद हैं जिनसे आप ऐसा फायदा उठा सकते हैं. कुछ ऐसी कंपनियां हैं जो अपने निवेशकों को अलग-अलग समय पर अपने मुनाफे से कमाया हुआ जो कुछ रुपए देती है वह कंपनी हमे डिविडेंड (Dividend) देती हैं. इनके स्टॉक में निवेश कर निवेशक अच्छा खासा लाभ कमा सकते हैं। डिविडेंड क्या होता है, इसके बारे मे विस्तार से जानते हैं।

Dividend से जुड़ी 4 महत्वपूर्ण दिन :

स्टॉक मार्केट में निवेश करने वाले लोगो डिविडेंड से जुड़ी 4 महत्वपूर्ण दिन को जरुर जाना चाहिए। ताकि अगर आपको किसी शेयर में डिविडेंड मिलना है तो सरलता समझ सके क्या आप डिविडेंड के लिए समर्थ हो या नहीं।

1) Declaration Date :-

Board of Director डिविडेंड को मंजूर और घोषणा करते है की इस साल वो कंपनी शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है Dividend पेमेंट करने वाले हैं। इस दिन ही कितने रुपये का डिविडेंड देंगे, कब देगा बताया जाता हैं।

2) Ex- Dividend Date:-

रिकॉर्ड दिन के 2 दिन पहले को Ex Dividend Date कहते हैं। जो शेयरहोल्डर इस दिन के बाद शेयर खरीद लेते है उसको डिविडेंड नहीं मिलता हैं। इसका मतलब आपको Dividend चाहिए तो Ex Dividend Date से पहले ही आपको शेअर खरीदना चाहिए।

3) Record Date :-

इस दिन कंपनी घोषणा करता है की कौन सा शेयरहोल्डर योग्य है और कौन नहीं। जिस भी Shareholder का नाम रिकॉर्ड दिन तक होता है उसे कंपनी Dividend पेमेंट करता ही हैं। अगर कोई निवेशक रिकॉर्ड दिन ही शेयर खरीदता है तो वो डिविडेंड के लिए योग्य नहीं हैं।

4) Payment Date :

इस दिन कंपनी सारे योग्य इन्वेस्टर को Dividend वितरित करता हैं। ज्यादातर पेमेंट दिन AGM(Annual General Meeting) के 30 दिन बाद आता हैं।

उदाहरण :

Vedanta कंपनी का Dividend डाटा :

निष्कर्ष :

आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा कि डिविडेंड क्या है, के बारे में सभी जरूरी बातें पता चल सके। साथ की पूरी जानकारी विस्तार से देने की कोशिश की है। मैं आशा करता हूं आपको इस पोस्ट से डिविडेंड क्या होता है (what is dividend in hindi) के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा और कुछ ऐसी चीजें पता चली होगी जो आपको पहले नहीं पता थी ।अगर आपके मन में डिविडेंड से रिलेटेड कोई भी सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें।

सबसे अच्छा डिविडेंड देने वाली कंपनी कोन है?

Indian oil company देती है, जोकि 12.08% year डिविडेंड देती है।

डिविडेंड देने वाली कंपनी कोन है?

Indian oil =12.08%
Hindustan Unilever limited = 8.36%
coal India limited = 6.65%
Gail। = 7.52%
NMDC। = 12.96%
REC = 11.38%
ONGC। = 7.57%
Power Grid = 5.37%

Dividend kya hota hai hindi,dividend ka matalab , stock market

नमस्कार दोस्तों स्वागत है , इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि डिविडेंड का मतलब क्या होता है , dividend kya hota hai दोस्तों इसे आपने या तो share market news पर या फिर आपने अगर कभी business news में जरूर सुना होगा डिविडेंड का उपयोग हम वैसे डेली लाइफ में भी कर सकते हैं पर मगर इसका मुख्य प्रयोग शेयर मार्केट में या फिर बिजनेस में इस शब्द का प्रयोग किया जाता है तो आइए जानते हैं डिविडेंड का मतलब क्या होता है।

dividend ka matalab kya hota hai

दोस्तों अगर डिविडेंड का हिंदी मतलब देखा जाए तो उसका मतलब होता है लाभांश यानी आपको लाभ के अतिरिक्त भी लाभ का कुछ अंश प्राप्त होता है तो उसे हम लाभांश कहते हैं । मान लीजिए आपने एक कंपनी में अपने पैसे निवेश किए अब आपने कुछ सालों तक निवेश को लगातार बढ़ाते रहें अब आपके शेयर का जो प्राइस है वह तो बड़ा ही है । पर आपके इन्वेस्ट किए हुए पैसे से कंपनी को जितना प्रॉफिट हुआ उस प्रॉफिट में से कुछ प्रतिशत कंपनी आपको dividend देती है , और ऐसा तभी होता है जब कंपनी के बोर्ड मेंबर यह डिसाइड करें कि हमें लाभांश यानी डिविडेंड अपने investors को देना है या कंपनी की आगामी ग्रोथ पर निवेश करना है। dividend ka matalab hindi

कंपनी डिविडेंड कब देती हैं।

दोस्तों शेयर मार्केट में ऐसी बहुत सारी कंपनियां हैं जो समय समय पर dividend देती आ रही है पर क्या आपको पता है कि dividend वही कंपनी देती है जो पहले से ही अच्छी खासी ग्रोथ कर चुकी है यानी अब उसके पास अपने इन्वेस्टर को देने के लिए dividend के अतिरिक्त पैसे बचे हुए हैं इसलिए वह अपने इन्वेस्टर dividend pay करके उन्हें शुक्रिया कहती है ताकि उनके दिए हुए पैसे से कंपनी ने इतनी ज्यादा ग्रोथ की है इसलिए कंपनी समय-समय पर डिविडेंड देती है। dividend ka matalab share market

विश्व भर के सबसे बड़े इन्वेस्टर वारेन बुफेट में 27 सौ करोड रुपए मात्र कोको कोला के डिविडेंड से ही कमाए हैं अब आप समझ सकते हैं कि कोकोकोला कितनी बड़ी कंपनी है वह अपने आप में ही एक बहुत बड़ा एंपायर है वह कंपनी डिविडेंड दे सकती है क्योंकि उसे साल भर में इतना ज्यादा प्रॉफिट होता है की यह अगले कुछ सालों के पैसे बचा कर भी डिविडेंड पे कर सकती है।

भारतीय शेयर मार्केट में ऐसी बहुत सारी कंपनी है जो आपको डिविडेंड पर करती है डिविडेंड वही कंपनी दे सकती है जो अच्छी खासी ग्रोथ कर चुकी है।

Read More Articles 📝👇

दोस्तों हमें आशा है कि आप ने आसान भाषा में dividend kya hota hai और dividend ka matalab समझा होगा आप कमेंट करके बताइए आर्टिकल कैसा लगा बने रहिए हिंदी पेजेस के साथ।

Dividend क्या होता है और कैसे दिया जाता है जानिए पूरी जानकारी

शेयर बाजार मे निवेश करके मुनाफा कमाने के काफी सारे अवसर होते है रोजाना ट्रेडिंग करने वाले निवेशक शार्ट सेल्लिंग करके हर दिन मुनाफा कमाते है कुछ लोग लम्बे समय तक निवेश करके एक निवेश लक्ष बनाते है। इसके आलावा डिविडेंड लाभांश देने वाले शेयर मे भी निवेश करके एक रेगुलर इनकम और निवेश लक्ष को पूरा किया जा सकता है। कंपनी अपने शेयर धारक को उसके लिए हुए शेयर के अनुपात मे डिविडेंड देती है जो की हर साल एक तय समय पर दिया जाता है।

  • डिविडेंड मतलब लाभांश कंपनी के प्रॉफिट मे से शेयरधारक को मिलने वाला हिस्सा होता है।
  • कंपनी की बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स इस डिविडेंड की घोषणा करते है।
  • अगर आपने डिविडेंड की घोषणा होने के पहले किसी कंपनी के शेयर ख़रीदे है तो आप डिविडेंड लेने के लिए पात्र होते है।
  • कंपनी अपने शुद्ध लाभ नेट प्रॉफिट के हिस्से को अपने शेयर धारक को देती है।
  • जिस समय कंपनी डिविडेंड की घोषणा करती है उस समय के अनुसार उसके प्रकार है।
  • इसमे Interim Dividend मतलब जब कंपनी आर्थिक साल पूरा होने के पहले क्वार्टर रिजल्ट मे डिविडेंड की घोषणा करती है।
  • और Final Dividend मतलब साल के आखिर मे रिजल्ट घोषित होने पर दिया जाने वाला डिविडेंड।
  • डिविडेंड यील्ड उस कंपनी के शेयर की डिविडेंड इनकम की क्षमता की जानकारी देता है।
  • यह एक फाइनेंसियल रेशो है जिसे आप डिविडेंड देने वाले शेयर खरीदने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।
  • डिविडेंड यील्ड जितना ज्यादा होगा कंपनी उतना ही डिविडेंड देने वाली होगी।
  • आप इस यील्ड रेशो को मनी कण्ट्रोल जैसे वेबसाइट पर देख सकते है।
  • सबसे पहले कंपनी के सालाना नतीजे घोषित किये जाते है जिसमे कंपनी के प्रॉफिट या फिर नुकसान की जानकारी दी जाती है।
  • कम्पनी के नतीजों मे कंपनी के कुल प्रॉफिट और नेट प्रॉफिट की जानकारी होती है जिसके आधार पर डिविडेंड का निर्णय लिया जाता है।
  • नयी कम्पनिया अपने नेट प्रॉफिट पर डिविडेंड देने के बजाये उसे कंपनी के प्रोडक्शन बढ़ने के लिए शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है इस्तेमाल करती है वही पहले से सेटल कंपनी डिविडेंड की घोषणा करती है।
  • इसके बाद कमपनी अपनी AGM मीटिंग लेती है जिसमे डिविडेंड देने का फैसला बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर करते है।
  • इसके बाद डिविडेंड को देने के लिए कैलकुलेशन जाहिर किया जाता है।
  • कमपनी डिविडेंड देते समय उसका कैलकुलेशन शेयर के फेस वैल्यू पर करती है।
  • इसका मतलब अगर रिलायंस कंपनी के शेयर की इस समय की कीमत है 700 रुपये शेयर।
  • लेकिन रिलायंस के शेयर की फेस वैल्यू है 10 रपये प्रति शेयर और कंपनी ने 50 फीसदी डिविडेंड की घोषणा की है तो आपको प्रति शेयर 5 रुपये लाभांश मिलेगा।
  • कंपनी डिविडेंड की घोषणा करने का समय पर और डिविडेंड पाने का समय अलग अलग होता है।
  • इसे कमपनी अपने AGM के जरिये घोषित करती है अपने शेयर होल्डर को बताती है।
  • सबसे पहले जिस दिन कंपनी डिविडेंड घोषित करती है उसे Dividend Decleration Date कहा जाता है।
  • इसी समय एक तारीख तय की जाती है उस तारीख के बाद शेयर खरीदने वालो को डिविडेंड नहीं मिलता है जिसे Ex-Dividend Date कहा जाता है।
  • इसके बाद Record Date मतलब उस तारीख को जिन लोगो के पास कंपनी के शेयर जमा है इस रिकॉर्ड डेट के समय पर जिनके पास कमपनी के शेयर होते है सिर्फ उन्ही को डिविडेंड दिया जाता है।
  • आखिर मे एक Dividend पेमेंट डेट होती है उस दिन शेयर धारक को डिविडेंड की राशि दी जाती है।
  • डिविडेंड देने वाले शेयर मे निवेश करने से आपको दोगुना लाभ मिलता।
  • डिविडेंड एक हार साल फिक्स्ड इनकम की तरह लिया जा सकता है और इसी समय शेयर की कीमत बढ़ने से आपका निवेश भी बढ़ता है।
  • डिविडेंड के जरिये मिलने वाली पूरी तरह टैक्स फ्री होती है।
  • डिविडेंड देने से या फिर ना देने से कमपनी के शेयर पर असर नहीं पड़ता है इससे शेयर की कीमत बढ़ सकती है।
  • डिविडेंड देने वाली कंपनी काफी बड़ी और पुराणी होती है जिसमे आपका निवेश भी सुरक्षित रहता है
  • हर साल डिविडेंड देने वाली कंपनी आर्थिक स्तिथि से मजबूत मानी जाती है।
  • डिविडेंड घोषणा के बाद पेमेंट के समय आपके डीमैट खाते से लिंक बैंक अकाउंट पर आपको डिविडेंड पेमेंट किया जाता है।
  • डिविडेंड देने वाली कंपनी की जानकारी के लिए सबसे पहले आपको कमपनी का अभ्यास करना जरुरी है।
  • आपके ब्रोकर के जरिये आप ऐसे कंपनी की जानकारी प्राप्त कर सकते है।
  • मनी कण्ट्रोल जैसे प्लेटफार्म पर यह जानकारी मिल सकती है।

report this ad

Dividend Meaning In Hindi | Dividend Kya Hota Hai

Dividend Meaning In Hindi

दोस्तों, क्या आप जानते हैं की डिविडेंड क्या होता है और Dividend Meaning In Hindi यदि नही, तो आपके लिए ये शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है पोस्ट काफी महत्वपूर्ण होने वाला है। क्योंकि आज के इस पोस्ट में हम डिविडेंड क्या है और इससे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी को आपके साथ शेयर करने वाले हैं। डिविडेंट से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी को प्राप्त करने हेतु इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

सरल शब्दों में समझा जाए तो जब भी हम लोग किसी स्टॉक मार्केट या शेयर बाजार में इन्वेस्टमेंट करते है, तो हमें इसमें दो प्रकार से लाभ प्राप्त हो सकता है। सबसे पहले तो आपके स्टॉक मार्केट के कीमत में लाभ प्राप्त हो सकता है तो दूसरा आपको डिवीडेंट के माध्यम से भी लाभ प्राप्त हो सकता है।

डिविडेंट क्या है ?

यदि हम लोग Meaning of dividend in Hindi की चर्चा करें, तो इसे हम लोग हिंदी भाषा में लाभांश कहते हैं। अगर आपको लाभांश का अर्थ नही पता है, तो इसका अर्थ होता है लाभ का अंश या फिर लाभ से हमे प्राप्त होने वाला भाग।

डिविडेंड की बात करें तो यह किसी कंपनी के माध्यम से उसके शेयर धारक को प्रदान किया जाने वाला कंपनी का शुद्ध मुनाफे का एक भाग माना जाता है।

कंपनी को जो भी प्रॉफिट प्राप्त होता है, जैसे कि उसमें किसी भी प्रकार का टैक्स और भी विभिन्न प्रकार के अन्य अन्य दूसरे लाभ को कंपनी के शेयर धारकों में एक समान बांट दिया जाता है और यही नही जिन भी लोगों के पास उनके जितने भी शेयर उनके पास मौजूद रहते हैं, उन सभी लोगों को उसी अनुपात में डिविडेंड का फायदा होता है।

डिविडेंड कैसे प्रदान किया जाता है ?

जानकारी के मुताबिक, शेयर होल्डर्स को उनके माध्यम से धारित शेयर्स के हिसाब से ही शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है डिविडेंड प्रदान किया जाता है। यही नहीं जब भी प्रदान किया जाता है तो सबसे पहले डिविडेंड की रकम को प्रति शेयर के मुताबिक घोषणा किया जाता है। उसके बाद जिन व्यक्ति के पास जितना शेयर मौजूद होता है, उसे उतना ही डिविडेंड प्राप्त होता है।

डिविडेंड के कितने प्रकार होते हैं ?

Dividend meaning in Hindi के आगे के पोस्ट में हम आपको डिविडेंड कितने प्रकार के होते हैं, इसकी जानकारी साझा करने वाले हैं:

  • Stock Dividend
  • Scrip Dividend
  • Cash Dividend
  • Liquidating Dividend
  • Property Dividend

क्या loss making कंपनी डिविडेंड प्रदान कर सकती हैं?

ज्यादातर मैंने देखा है और हमारी रिपोर्ट में भी यह साबित हुआ है की ज्यादातर मामलों में प्रॉफिट में रहने वाली कंपनियां ही डिविडेंड का पेमेंट करती है। अगर देखा जाए तो किसी कंपनी को किसी फाइनेंशियल वर्ष में हानि हुआ है, तो भी वो कंपनी लाभांश का पेमेंट कर सकता है।

निष्कर्ष

दोस्तों, आज के इस महत्वपूर्ण पोस्ट में मैने आपको Meaning of dividend in Hindi से संबंधित सभी महत्वपूर्ण डिटेल्स को आपके सामने पेश किया है। यदि आपको मीनिंग ऑफ डिविडेंड इन हिंदी से संबंधित कोई भी सवाल पूछना है, तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक पूछ सकते हैं।

Dividend Update: शेयर बाजार की ये कंपनी देने जा रही है 525 फीसदी डिविडेंड, जानें कब तय की है रिकॉर्ड डेट?

Dividend Update News: कमिंस इंडिया के शेयरधारक बंपर डिविडेंड पाने जा रहे हैं. कंपनी ने कहा शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है कि उसके बोर्ड ने मार्च तिमाही के लिए हर शेयर की फेस वैल्यु पर 525 फीसदी के डिविडेंड की सिफारिश की है.

By: ABP Live | Updated at : 14 Jun 2022 07:27 AM (IST)

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज

Dividend News Update: कमिंस इंडिया (Cummins India) के शेयरधारकों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है. कंपनी अपने शेयरधारकों (Share Holders) को तगड़ा मुनाफा देने वाली है. कमिंस इंडिया (Cummins India) के बोर्ड ने हर शेयर पर 525 फीसदी डिविडेंड की सिफारिश की है. कमिंस इंडिया के शेयरों की फेस वैल्यु 2 रुपये है. 525 फीसदी के डिविडेंड (Dividend) का मतलब है कि हर शेयर शेयरधारकों को करीब 10 रुपये से ज्यादा का डिविडेंड मिलेगा. कंपनी के शेयर सोमवार को बीएसई पर 1008 रुपये पर बंद हुए. इसके शेयरों में आज करीब आधे फीसदी की गिरावट देखने को मिली.

बीते वित्त वर्ष कंपनी ने की अंतिम तिमाही में 189 करोड़ रुपये से ज्यादा का मुनाफा दर्ज किया है. मार्च 2022 तिमाही में कंपनी का की कुल शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है आय 1570 करोड़ रुपये रही थी.

हर शेयर पर मिलेगा 10 रुपये से ज्यादा का डिविडेंड

कमिंस इंडिया ने शेयर बाजार (Share Market)को दी गई जानकारी में बताया है कि कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने 31 मार्च 2022 को खत्म हुए वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 2 रुपये फेस वैल्यू वाले हर शेयर पर 525 प्रतिशत का फाइनल डिविडेंड देने की सिफारिश (Dividend) की है. इसका मतलब है कि हर शेयर पर 10.50 रुपये का डिविडेंड दिया जाना है. कमिंस इंडिया ने फाइनल डिविडेंड के लिए एक्स डिविडेंड डेट 2 अगस्त 2022 और रिकॉर्ड डेट 3 अगस्त 2022 रखी है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एक्स डिविडेंड डेट से पहले शेयर खरीदने वालों को ही डिविडेंड दिया जाता है. कंपनी ने इससे पहले 10 फरवरी 2022 को हर शेयर पर 8 रुपये का अंतरिम डिविडेंड डिक्लेयर किया था.

News Reels

कंपनी के शेयरों ने दिया है 2100% से ज्यादा का रिटर्न

कमिंस इंडिया के शेयरों ने शुरुआत से लेकर अब तक निवेशकों को 2170 फीसदी के करीब रिटर्न दिया है. 1 जनवरी 1999 को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर कमिंस इंडिया के शेयर 44.43 रुपये के स्तर पर थे. कंपनी के शेयर 13 जून 2022 को बीएसई पर में 1008 रुपये के स्तर पर बंद हुए. अगर किसी व्यक्ति ने 1 जनवरी 1999 को कमिंस इंडिया के शेयरों में 1 लाख रुपये लगाए होते और अपने इनवेस्टमेंट को बनाए रखा होता तो अभी तक यह पैसा 22.69 लाख रुपये हो गया होता. कमिंस इंडिया के शेयरों ने इस साल अब तक 7 फीसदी का रिटर्न दिया है. वहीं, पिछले एक साल में कंपनी के शेयरों ने निवेशकों की संपत्ति में 21 फीसदी से अधिक का इजाफा करवाया है.

डिस्क्लेमर: (यहां मुहैया जानकारी सिर्फ़ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना ज़रूरी है की मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें. ABPLive.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है.)

ये भी पढ़ें

Published at : 14 Jun 2022 07:27 AM (IST) Tags: India NSE bse share market news Investment Money हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: News in Hindi

रेटिंग: 4.41
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 137
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *