एक दलाल चुनना

बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी

बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी

बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी

दिल्ली. ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट में ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसी में गुरुवार को गिरावट देखी गई. मार्केट कैप पिछले दिन के दौरान 0.71 प्रतिशत की गिरावट के साथ 989.90 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. वहीं कुल क्रिप्टो मार्केट वॉल्यूम बीते 24 घंटों में 22.82 प्रतिशत घटकर 78.22 अरब डॉलर हो गया है. डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस में कुल वॉल्यूम मौजूदा समय में 5.86 अरब डॉलर है, जो कुल क्रिप्टो मार्केट के 24 घंटों के वॉल्यूम का 7.50 प्रतिशत है. वहीं सभी स्टेबलकॉइन्स का वॉल्यूम अब 73.08 अरब डॉलर हो गया है, जो कुल क्रिप्टो मार्केट के 24 घंटों के वॉल्यूम का 93.48 प्रतिशत है.

मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन की कीमत पिछले 24 घंटों के दौरान 0.45 प्रतिशत घटकर 17,30,000 रुपये पर पहुंच गई है. बिटकॉइन की बाजार में मौजूदगी दिन के दौरान 0.34 प्रतिशत घटकर क्रिप्टो मार्केट का 38.85 फीसदी हो गई है. वहीं Ethereum 1.09 प्रतिशत गिरकर 1,35,500 रुपये पर आ गया है. जबकि, Tether 24 घंटों में 0.68 प्रतिशत की थोड़ी तेजी के साथ 84.78 बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी रुपये पर पहुंच गया है. उधर, Cardano 1.68 प्रतिशत गिरकर 39.2278 रुपये पर ट्रेड कर रहा है.

दूसरी तरफ, Binance Coin 0.86 प्रतिशत गिरकर 22,900 रुपये पर पहुंच गया है. XRP की बात करें, तो इस क्रिप्टोकरेंसी में पिछले 24 घंटों के दौरान 0.68 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है. यह क्रिप्टोकरेंसी मौजूदा समय में 27.8056 रुपये पर मौजूद है. वहीं Polkadot की कीमतें पिछले दिन में 2.74 प्रतिशत घटकर 590 रुपये पर पहुंच गईं हैं. जबकि, Dogecoin 0.3 फीसदी के उछाल के साथ 5.1356 रुपये पर ट्रेड कर रहा है.

इसके अलावा आपको बता दें कि क्रिप्टोकरेंसी की हैकिंग में बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी बड़ा उछाल देखा जा रहा है. हैकिंग की घटना में 60 परसेंट तक बढ़ोतरी हुई है. यह आंकड़ा इस साल के शुरुआती बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी 7 महीने के हैं. हैकिंग में 1.9 बिलियन डॉलर की चपत लगी है. डी-सेंट्रलाइज्ड फाइनेंस प्रोटोकॉल के फंड से चोरी की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि देखने को मिली है. यह रिपोर्ट ब्लॉकचेन एनालिसिस फर्म चेनलिसिस ने मंगलवार को जारी की है. पिछले साल इसी अवधि में हैकरों ने 1.2 बिलियन डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी की चोरी की थी. यानी एक साल में ऐसी वारदातों में लगभग दोगुने की बढ़ोतरी देखी गई है.

क्रिप्टोकरेंसी प्राइस अपडेट: बिटकॉइन में आज भी तेजी जारी, इथीरियम 2000 रुपए सस्ता हुआ

आज लगातार दूसरे दिन यानी रविवार को प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में थोड़ी तेजी देखी जा रही है। बिटकॉइन शाम साढ़े 4 बजे 0.87% (24 घंटे में) की बढ़त के साथ 39.61 लाख रुपए पर कारोबार कर रहा था। इस दौरान इसकी कीमत में 34,042 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि इथीरियम में आज भी गिरावट देखने को मिल रही है। इथीरियम में 0.61% की गिरावट देखी गई। यह बीते 24 घंटों में 1,993 रुपए गिरकर 3.25 लाख रुपए पर आ गई है।

टेदर और कारडानों में भी तेजी
अन्य क्रिप्टोकरेंसी की बात करें तो कारडाओ में 3.95% की तेजी देखी गई। यह बीते 24 घंटों में 4.11 रुपए बढ़कर 108.25 रुपए पर पहुंच गया है। इसके अलावा टेदर और USD कॉइन में भी बढ़त देखने को मिल रही है।

टॉप क्रिप्टोकरेंसी की कीमत (शाम 4.30 बजे)

अपने ऑल टाइम हाई से 24% नीचे आई बिटकॉइन
दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे पसंदीदा क्रिप्टो बिटकॉइन की कीमत बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी 10 नवंबर को 52 लाख रुपए (69,000 डॉलर) के पार पहुंच गई थी लेकिन अब यह 39.61 लाख पर आ गया है। यानी अपने ऑल टाइम हाई से ये अभी भी 24% सस्ता है।

PM मोदी का अकाउंट हैक करके बिटकॉइन को लेकर ट्वीट करा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्विटर अकाउंट शनिवार देर रात कुछ देर के लिए हैक कर लिया गया। उनके अकाउंट से बिटकॉइन को लीगल करने का ट्वीट किया गया। इस ट्वीट में एक लिंक भी शेयर किया गया, जिस पर जाकर लोगों को फ्री बिटकॉइन क्लेम करने को कहा गया।

हालांकि इसके बाद प्रधानमंत्री के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के हैक होने को लेकर पीएमओ ने ट्वीट कर कहा, 'PM नरेंद्र मोदी के ट्विटर हैंडल से छेड़छाड़ की गई थी, जिसे तुरंत सुरक्षित कर लिया गया है और मामले की जानकारी ट्विटर को दे दी गई है। अकाउंट से छेड़छाड़ की गई छोटी सी अवधि में साझा किए गए किसी भी ट्वीट को नजरअंदाज किया जाना चाहिए।'

बिटकॉइन में जोखिम की आहट: टॉप से कीमतों में 50% की आई गिरावट, लेकिन दो दिनों में बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी 10% का उछाल भी आया

बिटकॉइन की हालिया उछाल ने अभी तक अपनी असुरक्षा के बारे में संदेह दूर नहीं किया है। इसकी टॉप प्राइस से अब तक 50% की गिरावट आ चुकी है। हालांकि दो दिनों में इसमें 10% का उछाल भी आया है। इससे इसमें जोखिम की आहट दिख रही है।

सोमवार को 10 % गिरी थी कीमतें

सोमवार को बिटकॉइन की कीमतों में 10% की तेज गिरावट दिखी थी। इस साल में इसका रिटर्न देखें तो कोई खास नहीं रहा है। यह करीब न के बराबर रहा है। सोमवार की इसकी कीमत 31,947 डॉलर रही थी और मार्केट कैप 598 अरब डॉलर रहा था। आज सुबह 9 बजे यह 36,993 डॉलर पर कारोबार कर रह थी।

बुल मार्केट खुश हो सकता है

हालांकि इस उछाल से बुल मार्केट खुश हो सकता है। जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी ने निवेशकों से सावधान रहने को कहा है। जेपी मॉर्गन के रणनीतिकारों ने कहा कि हमारा मानना है कि हाल के सप्ताह में जिस तरह के घटनाक्रम देखे गए हैं उससे मंदी वाले मार्केट की आहट दिख रही है। उन्होंने कहा कि बिटकॉइन की गिर रही कीमतें किसी चिंता में डाल देने वाले ट्रेंड की ओर इशारा कर रही हैं।

तेज अवसर का इंतजार कर रहे हैं ट्रेडर्स

ट्रेडर्स कुछ ऐसे तेज अवसर का इंतजार कर रहे हैं जिसमें बिटकॉइन की कीमत 30,000 से 40,000 डॉलर के रेंज तक पहुंच जाए। अप्रैल में यह लगभग 65,000 डॉलर पर थी और तब से इसमें गिरावट आ रही है। कुछ दिनों पहले टेस्ला के एलन मस्क ने डिजिटल कर्रेंसी की जरूरतों को लेकर इसकी आलोचना की थी। एक चीनी रेगुलेटर ने भी इसे लेकर कुछ कार्रवाई की थी, जिससे इसकी लोकप्रियता में बाधा पहुँची है।

हालांकि अल साल्वाडोर द्वारा बिटकॉइन को लीगल टेंडर घोषित किए जाने के बाद इसमें थोड़ी से तेजी आई। अल साल्वाडोर पहला देश है, जिसने बिटकॉइन को लीगल करार दिया है।

39,460 डॉलर तक जाना चाहिए कीमत

पेपरस्टोन फाइनेंशियल पीतीवाई ले हेड क्रिस वेस्टन ने गुरुवार को अपने रिसर्च नोट में लिखा कि अपनी साख बहाल करने के लिए वर्चुअल करेंसी को 39,460 डॉलर तक जाना चाहिए और अपने टॉप के आस-पास रहना चाहिए। लेकिन हम इस तेजी को परखने के लिए एक ब्रेक लेना चाहेंगे ताकि यह महसूस किया जा सके कि हम कमजोरी के दौर से बाहर निकल चुके हैं।

साल की शुरुआत से 70% वैल्यू कम है

इस बीच, ट्रैकर कॉइनजेको के आंकड़ों के अनुसार, ओवरआल क्रिप्टो मार्केट वैल्यू का बिटकॉइन का हिस्सा वर्तमान में 42% है। इस साल की शुरुआत के वैल्यू से यह करीबन 70% बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी कम है। जेपी मॉर्गन के रणनीतिकारों ने कहा कि मौजूदा मंदी के मार्केट पर बहस पर लगाम लगाने के लिए बिटकॉइन के शेयर को 50% टॉप तक ऊपर जाने की जरूरत हो सकती है।

बिटकॉइन, डॉजकॉइन, इथेरियम सब धड़ाम; जानें वजह, अब क्या करें निवेशक?

जानकारों के मुताबिक, यह एक हेल्दी करेक्शन हो सकता है और निवेश के लिए अच्छा मौका बन सकता है.

बिटकॉइन, डॉजकॉइन, इथेरियम सब धड़ाम; जानें वजह, अब क्या करें निवेशक?

क्रिप्टो बाजार की हलचल ने एक बार फिर निवेशकों को हैरान कर दिया है. बुधवार को सभी क्रिप्टो करेंसी के भाव में बड़ी गिरावट को देखने को मिली. बिटकॉइन, इथेरियम टूटकर अपने कुछ महीनों के न्यूनतम स्तरों पर पहुंच गए हैं. हालांकि, मार्केट अब थोड़ा संभला है, निवेशकों का चिंतित होना स्वाभाविक है. आइए नजर डालते हैं गिरावट की वजहों पर और समझते हैं निवेशकों को क्या रणनीति अपनानी बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी चाहिए.

रॉयटर्स के मुताबिक, बीते दिन एक समय पर क्रिप्टोकरेंसी बाजार का मार्केट कैप 1 ट्रिलियन डॉलर के करीब नीचे जा चुका था.

जनवरी के स्तर पर पहुंच गया था बिटकॉइन:

क्रिप्टो बाजार की बड़ी हलचल से बिटकॉइन अछूता नहीं रहा. बीते 24 घंटों में ही करीब 30% गिरकर बिटकॉइन एक समय 30,681 डॉलर तक पहुंच गया था. यह इस साल जनवरी के बाद का न्यूनतम स्तर है. बिटकॉइन के शिखर स्तर 64,800 डॉलर से तुलना करे तो यह करीब 55% की गिरावट है. बता दें कि फरवरी में जब टेस्ला द्वारा बिटकॉइन में निवेश की बात सामने आई थी, उस समय इसकी कीमत करीब 38,000 डॉलर थी. बिटकॉइन गिरकर इस स्तर से भी काफी नीचे पहुंच गया था.

बिटकॉइन पर क्यों है बवाल, समझिए क्यों बंटी दुनिया?

बिटकॉइन पर क्यों है बवाल, समझिए क्यों बंटी दुनिया?

मस्क के ट्वीट ने दी थोड़ी राहत:

20 मई को सुबह 7 बजे तक, बिटकॉइन थोड़ा संभलते हुए 37,200 के करीब व्यापार कर रहा है. यह पिछले 24 घंटों में करीब 15% की कमजोरी है. बिटकॉइन की कीमत में इस मामूली रिकवरी की वजह एलन मस्क के ट्वीट को बताया जा रहा है. मस्क ने बुधवार की रात ‘टेस्ला एक पास है- और एक डायमंड इमोजी’ ट्वीट किया थी. इस ट्वीट के बाद बिटकॉइन में खरीदारी बढ़ी और यह करेंसी दिन के न्यूनतम से करीब 20% चढ़ी.

इथेरियम, बाइनेंस कॉइन का भी यही हाल:

बिटकॉइन के अलावा अन्य प्रचलित क्रिप्टो करेंसी जैसे इथेरियम, बाइनेंस कॉइन और डॉजकॉइन, इत्यादि भी बड़ी गिरावट के साथ व्यापार कर रहे हैं. इथेरियम अपने शिखर स्तर 4,362 डॉलर की तुलना में करीब 36% नीचे रहते हुए 2,850 डॉलर पर व्यापार कर रहा है. इसी तरह बाइनेंस कॉइन भी बीते 24 घंटों में करीब 30% टूटा है. Dogecoin बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी का भाव 0.34 डॉलर है जो कि करेंसी के सर्वोच्च स्तर से करीब 55% की गिरावट है.

बिटकॉइन Vs इथेरियम Vs निफ्टी: कहां मिल रहा ज्यादा मुनाफा?

बिटकॉइन Vs इथेरियम Vs निफ्टी: कहां मिल रहा ज्यादा मुनाफा?

इस गिरावट के पीछे कई वजहें:

क्रिप्टो बाजार में इस बड़ी बिकवाली के पीछे कई अहम फैक्टर हैं.

मार्केट में वर्तमान कमजोरी की सबसे बड़ी वजह चीन में क्रिप्टोकरेंसी संबंधी नए प्रतिबंध हैं. चीन ने वित्तीय संस्थाओं और भुगतान कंपनियों के क्रिप्टो संबंधी सुविधा देने पर पूरी तरह से रोक लगा दी है. ऑर्डर में स्पेकुलेटिव क्रिप्टो ट्रेडिंग को लेकर भी निवेशकों को चेताया गया है. इसके साथ ही इशारा किया गया है कि वर्चुअल करेंसी की अपनी कोई रियल वैल्यू नहीं होती. डर यह भी है कि अन्य देश भी चीन से सीख लेकर इस दिशा में आगे बढ़ सकते हैं.

टेस्ला ने हाल में बिटकॉइन को भुगतान के तौर स्वीकार करने का अपना फैसला वापस ले लिया था. टेस्ला ने बिटकॉइन के इको फ्रेंडली न होने को इसकी वजह बताया था. इसके बाद क्रिप्टो बाजार में बड़ी हलचल हुई थी. चर्चा यह भी थी टेस्ला ने अपनी क्रिप्टो होल्डिंग्स बेच दी है. हालांकि, इन अटकलों को खारिज किया गया था. क्रिप्टो बाजार में इस कारण बड़ी प्रॉफिट बुकिंग देखी गई थी.

बीते महीनों के क्रिप्टो बाजार में बेतहाशा तेजी ने इस मार्केट के ओवर वैल्यूएशन के संकेत दिए बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी थे. ऐसे में नेगेटिव सेंटीमेंट के समय निवेशकों द्वारा बड़ी प्रॉफिट बुकिंग देखी जा रही है. क्रिप्टो मार्केट में इस वर्ष टेस्ला के निवेश समेत अनेक कारणों से रूचि बढ़ी, जिससे यह चढ़ा था.

टेक्निकल फैक्टर का भी इस बड़े सेल-ऑफ (बिक्री) में बड़ा योगदान रहा. बिटकॉइन ट्रेड के दौरान अपने 200 दिन के मूविंग एवरेज के नीचे आ गया था. इस टेक्निकल इंडिकेटर को काफी अहम माना जाता है.

क्रिप्टो बाजार के इस क्रैश का असर क्रिप्टो ट्रेडिंग एक्सचेंज coinbase के शेयर पर भी पड़ा. बाजार बंद होते समय यह शेयर करीब 6% नीचे रहा.

यदि 30k चिह्न दिखाई देता है, तो बिटकॉइन को मजबूत बिकवाली का अनुभव होने बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी की संभावना है

यदि 30k चिह्न दिखाई देता है, तो बिटकॉइन को मजबूत बिकवाली का अनुभव होने की संभावना है

हालाँकि, आज का रुख 29.000 डॉलर था, जो व्यापार की मात्रा में वृद्धि के बाद आया Bitcoin $ 28.500 पर प्रतिरोध का ब्रेकआउट। हालांकि, $ 30.000 के निशान की दौड़ अभी खत्म नहीं हुई है और ऐसा लग रहा है कि यह बहुत मुश्किल होगा।

मैटेरियल मेट्रिक्स के डेटा से पता चलता है कि वर्तमान में बिनेंस और अन्य प्रमुख क्रिप्टो एक्सचेंजों में $ 30.000 के करीब बिक्री की दीवारें हैं।

इस प्रकार, बिक्री की दीवारों की उपस्थिति से पता चलता है कि $ 30.000 की दौड़ एक मजबूत बिक्री को रोक सकती है और BTC की कीमत को $ 28.000 और $ 27.300 पर प्रमुख समर्थन में ला सकती है, जहां यह वर्तमान में है। 20 घंटे की समय सीमा में 20-दिवसीय मूविंग एवरेज (बिटकॉइन की कीमत थोड़ी बढ़ी MA-4)।

वर्तमान में कई छोटे व्यापारियों को उम्मीद है कि मनोवैज्ञानिक बाधा दूर होने के बाद बिटकॉइन की कीमत 30.000 डॉलर से अधिक हो जाएगी, लेकिन नुन्या बिज़नीज़ - ट्विटर पर एक लोकप्रिय व्यापारी - बताते हैं कि 30.000 डॉलर से ऊपर के बिटकॉइन की कीमत थोड़ी भारी लगती है जब 1.618 फाइबोनैचि रिट्रेसमेंट स्तर $ 30.196 है।

दिसंबर की शुरुआत के बाद से बिटकॉइन की कीमत 64.9% बढ़ी है, फिब 12 की एक हिट आवेग खींचने का संकेत प्रदान कर सकती है। अंततः, हालांकि, वॉल्यूम प्राथमिक संकेतक होगा जहां कीमत जाने की संभावना है।

वर्तमान में, बिटकॉइन की कीमत इस साल 302.6% बढ़ी है और इसने डाउ एंड एस एंड पी 500 जैसे सोने और पारंपरिक बाजारों को पीछे छोड़ दिया है। Q4 में, BTC ने 168.32% प्राप्त किया, 2017 के बाद से दूसरे सर्वश्रेष्ठ तिमाही प्रदर्शन की गारंटी दी, जब Q210.13 4 में डिजिटल संपत्ति 2017% बढ़ी।

रेटिंग: 4.50
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 165
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *