एक दलाल चुनना

ग्वार गम वायदा

ग्वार गम वायदा
नयी दिल्ली, 23 अगस्त (भाषा) हाजिर मांग के कारण सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे वायदा कारोबार में मंगलवार को ग्वारगम की कीमत दो रुपये की तेजी के साथ 8,558 रुपये प्रति पांच क्विन्टल हो गई।
एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के सितंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत दो रुपये अथवा 0.02 प्रतिशत की तेजी के साथ 8,558 रुपये प्रति पांच क्विन्टल हो गई जिसमें 35,130 लॉट के लिए कारोबार हुआ।
बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में मजबूती के रुख को देखते हुए व्यापारियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे ग्वारगम वायदा कीमतों में तेजी आई।

खुलासा: मामी के प्यार में पागल भांजे ने मामा को गोली मारकर रास्ते से हटाया, शूटर दोस्त संग चढ़ा पुलिस के हत्थे

ग्वार गम वायदा

Chopal Tv News is for generally provide us news and other information. We will cover Haryana News and this is a platform to share information to others. Our main aim is for website starting to share knowledge and information to others. We have a team that’s work on our website and share original and accurate information to others. We have write news or other article have full proofed and genuine.

Guar News Today: ग्वार में बम्पर तेजी जारी, लगा 6 फीसदी का ऊपरी सर्किट, किसानों की हुई बल्ले बल्ले, देखें आज के ताजा भाव

Guar News Today

नई दिल्ली 18 नवंबर (Guar News Today 18 November 2022): NCDEX सहित हाजिर मंडियों में ग्वार की कीमतों में बीते 10 दिनों से तूफानी तेजी बनी हुई है। आज शुक्रवार को एक बार फिर ग्वार गम और सीड में जबरदस्त तेजी देखने को मिल रही है। NCDEX पर आज सुबह के कारोबारी सत्र में ग्वार गम व सीड दिसंबर और जनवरी वायदा में 6 फीसदी का ऊपरी सर्किट लग चूका है।

अगर बात करे कीमतों की तो ग्वार गम दिसंबर वायदा आज शुक्रवार को 6 फीसदी की तेजी के साथ 12438 के स्तर एवं जनवरी वायदा 12584 के उच्चतम स्तर पर पहुँच चूका है । वहीं ग्वार सीड दिसंबर वायदा तकरीबन 6 फीसदी की तेजी के साथ आज 6020 के स्तर एवं जनवरी वायदा 6082 के उच्चतम स्तर पर कारोबार कर रहा है । गौरतलब है की बीते 4 हफ्तों में ग्वार गम की कीमतों में तकरीबन 36 फीसदी की तेजी आ चुकी है।

Ncdex Guar Price in India Live Update

NCDEX Last Update: Commodity Market Today 18th November 2022 (Time 11:30 A.M.)

CommodityExpiryLTPNetChngChngOpenHighLowClose
GUARGUM520DEC2022124196855.8411762124381170011734
GUARGUM520JAN2023125156435.4211961125841192911872
GUARSEED1020DEC202259592714.ग्वार गम वायदा ग्वार गम वायदा 765718602056885688
GUARSEED1020JAN202360452824.895801608257955763

आज 18 नवंबर को ग्वार का भाव क्या है ?

हाजिर मंडियों में आज के ग्वार के भाव की बात करें तो अभी तक मिली ताजा जानकारी के मुताबिक़ राजस्थान की नोहर कृषि उपज मंडी में ग्वार का अधिकतम बोली भाव Guar 5900-6141 रुपये प्रति क्विंटल बोला गया है । इससे पहले कल ग्वार का भाव नोहर मंडी 5602 रुपये क्विंटल का रहा था।

गोलूवाला मंडी में ग्वार 6051 रुपये/क्विंटल
श्री विजयनगर मंडी में ग्वार 5842 रुपये/क्विंटल
पदमपुर मंडी में ग्वार 6031 रुपये/क्विंटल
हनुमानगढ़ मंडी में ग्वार 5831 रुपये/क्विंटल
संगरिया मंडी में ग्वार 5775 रुपये/क्विंटल
आदमपुर मंडी में ग्वार 5946/6291/6455 रुपये/क्विंटल
भिवानी मंडी में ग्वार 6000 रुपये/क्विंटल

नोट: जैसे जैसे मंडियों में ग्वार की बोली होगी वैसे वैसे आपको आज के ग्वार के ताज़ा भाव यहाँ इसी पोस्ट में अपडेट कर दिए जायेंगे. इसलिए अन्य मंडियों के भाव जान्ने के लिए कृपया थोड़ी देर बाद पुन: इस पोस्ट को देखें .

ग्वार गम वायदा

मंगलवार यानी 14 मई 2013 को ग्वार सीड और ग्वार गम का वायदा कारोबार फिर से आरंभ हो गया।

ग्वार के कारोबारियों और किसानों की ओर से दोबारा ग्वार में वायदा कारोबार में शुरू करने की माँग पर आर्थिक सलाहकार परिषद की तरफ से सरकार को भेजी गयी रिपोर्ट पर मुहर लगने के बाद इसमें वायदा कारोबार शुरू हुआ। फिर से शुरू हुए कारोबार के पहले दिन नेशनल कमोडिटीज ऐंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीईएक्स) और मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) में ग्वार गम और ग्वार सीड में तीखी गिरावट दर्ज की गयी। जहाँ कारोबार के दौरान ग्वार सीड में 10% तक की गिरावट आयी, वहीं दिन के दौरान ग्वार गम में 8% की गिरावट देखी गयी। अगर बात एनसीडीईएक्स की करें तो ग्वार गम का जुलाई कांट्रैक्ट गिर कर 27280 रुपये प्रति क्विंटल और जून कांट्रैक्ट फिसल कर 28150 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। इससे पहले एनसीडीईएक्स पर ग्वार गम का जून कांट्रैक्ट 30700 रुपये प्रति क्विंटल पर खुला।
दूसरी ओर एनसीडीईएक्स पर ग्वार सीड के कारोबार में भी तेज गिरावट देखी गयी। एनसीडीईएक्स पर ग्वार सीड का जून कांट्रैक्ट गिर कर 9460 रुपये प्रति क्विंटल और जुलाई कांट्रैक्ट 9470 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। इस शुरुआत के पहले दिन एनसीडीईएक्स पर 5664 टन ग्वार सीड और 1014 टन ग्वार गम का कारोबार हुआ। दूसरी ओर कारोबार के पहले दिन एमसीएक्स पर जून कांट्रैक्ट 9505 रुपये और जुलाई कांट्रैक्ट 9445 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। एमसीएक्स में 2136 ग्वार सीड तथा 126 टन ग्वार गम का कारोबार हुआ।
दरअसल काफी समय कारोबार बंद रहने के बाद वायदा बाजार आयोग (एफएमसी) ने विभिन्न कड़ी शर्तों के साथ ग्वार सीड और ग्वार गम में वायदा कारोबार शुरू करने की अनुमति दे दी है। अगर हम पीछे मुड़ कर देखें तो मार्च 2012 में एनसीडीईएक्स से ग्वार का कारोबार हटाये जाने के समय वायदा में ग्वार गम और ग्वार सीड में भारी मात्रा में कारोबार हो रहा था और इनकी कीमतों में अचानक काफी तेजी आ गयी थी। यहाँ तक कि 21 मार्च 2012 को एनसीडीईएक्स पर ग्वार गम का भाव बढ़ कर 100195 रुपये प्रति क्विंटल और ग्वार सीड का भाव 30533 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है। ऐसे में कीमतों में आयी तेजी से बाजार नियामक को संदेह हुआ और इसने 27 मार्च 2012 से ग्वार के वायदा कारोबार पर रोक लगा दी थी। बाजार नियामक का मानना था कि सटोरियों की भूमिका की वजह से ग्वार के कारोबार में अनियमितता आयी थी।
एफएमसी ने एमसीएक्स और एनसीडीईएक्स को ग्वार सीड और ग्वार गम के जून, जुलाई, अक्टूबर व नवंबर कांट्रैक्ट आरंभ करने की अनुमति तो जरूर दी है, लेकिन पारदर्शिता लाने और जोखिम प्रबंधन के लिए एफएमसी की ओर से कारोबार की शर्तों में कई महत्वपूर्ण बदलाव किये गये हैं। वायदा बाजार आयोग के पारदर्शिता लाने के उपायों के तहत मांगे जाने पर एक्सचेंजों को वायदा कारोबार में लगायी गयी रकम का विस्तृत विवरण भी उपलब्ध कराना होगा। यही नहीं, वायदा एक्सचेंज पर ग्वार सीड और ग्वार गम में निवेशकों के पास स्टॉक पोजीशन की स्थिति और उनके पास हाजिर स्टॉक की जानकारी भी माँगी जा सकेगी। अब निवेशकों को ग्वार में ग्वार गम वायदा लगायी जाने वाली रकम का स्रोत भी बताना होगा। ग्वार सीड और ग्वार गम में डिलीवरी अनिवार्य की गयी है। साथ ही पूरे कारोबार पर एफएमसी की कड़ी नजर रहेगी।
वहीं दूसरी ओर जोखिम प्रबंधन के लिए ग्वार सीड और ग्वार गम के कांट्रैक्ट में विशेष मार्जिन का प्रावधान वायदा बाजार आयोग की ओर से किया गया है। विशेष मार्जिन का यह प्रावधान इसलिए किया गया है कि कीमतों में ज्यादा उतार-चढ़ाव न हो। एफएमसी की ओर से तय किये गये फॉर्मूले के अनुसार किसी कांट्रैक्ट की अवधि में अगर कीमतें बढ़ती है तो मार्जिन भी अपने आप बढ़ जायेगा। भाव 20-30% बढऩे पर 10%, 30-40% बढऩे पर 20%, 40-50% बढऩे पर 30% और भाव 50% से ज्यादा बढऩे पर 50% विशेष मार्जिन लगेगा।
बाजार के जानकारों का कहना है कि ग्वार सीड और ग्वार गम में वायदा कारोबार आरंभ होने से किसानों को ग्वार के अंतरराष्ट्रीय भाव मिलेंगे और संबंधित कारोबारियों व उद्योगों को अपने जोखिम का प्रबंधन करने में मदद मिलेगी। चूँकि इस बार ग्वार का उत्पादन अधिक हुआ है, ऐसे में किसानों के पास अभी भी अच्छी मात्रा में ग्वार का स्टाक है। इसका किसानों को फायदा मिल सकता है।
(निवेश मंथन, जून 2013)

रेटिंग: 4.62
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 756
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *