ब्रोकर ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स

क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है

क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है
उसमें कमजोरी आने लगी तो आप उसके लिए 95 रुपये का स्टॉप लॉस सेट कर सकते हैं. इससे आपके जोखिम का प्रबंधन होता है. आपका नुकसान एक सीमित दायरे में ही रह जाता है.

money

स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग करते समय इन कुछ बातों का ज़रूर रखें ध्यान

money

स्टॉक मार्केट में निवेश से मिलनेवाले ऊंचे रिटर्न्स की वजह से लोग हमेशा से ही स्टॉक मार्केट की ओर आकर्षित होते हैं, लेकिन इक्विटीज़ में पैस बनाना कभी-भी आसान नहीं होता. इसके लिए रिसर्च के साथ-साथ मार्केट की समझ होना भी ज़रूरी है, जिसके लिए बहुत धीरज और अनुशासन की ज़रूरत होती है.

नीचे हम कुछ ऐसे महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में बता रहे हैं, जिनके बारे में ट्रेडिंग करने से पहले आपको ज़रूर ध्यान देना चाहिए:

money


1. ट्रेडिंग कॉस्ट
ट्रेडिंग कॉस्ट में ब्रोकरेज, टैक्स और मार्जिन फ़ंड कॉस्ट तीनों ही शामिल होते हैं. इन तीनों में से ब्रोकरेज का हिस्सा बड़ा होता है. यदि ब्रोकरेज की राशि में बचत की जा सके तो ट्रेडिंग कॉस्ट कम हो जाती है और लाभ बढ़ जाता है.
मंथली अनलिमिटेड ट्रेडिंग प्लान्स में ग्राहकों की ब्रोकरेज पर सबसे ज़्यादा बचत होती है. इस प्लान में ग्राहकों को एक सेग्मेंट के लिए अनलिमिटेड संख्या में ट्रेड्स के लिए एक निश्चित मासिक शुल्क देना होता है.
एक इन्ट्राडे ट्रेडर एक दिन में औसतन 20 ट्रेड्स करता है और 15 रु प्रति ट्रेड ब्रोकरेज के हिसाब से एक महीने में 6000 रुपए के ब्रोकरेज का भुगतान करता है. वहीं अनलिमिटेड ट्रेडिंग प्लान्स लगभग 899 रुपए प्रति माह पर ही मिल जाते हैं, जिससे आपकी बड़ी बचत होती है.

Stock Market Tips: ये हैं वो 5 अहम जानकारी जो Share Market क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है में आपके निवेश पर दिलाएगा बंपर रिटर्न

Alok Kumar

Written By: Alok Kumar @alocksone
Updated on: July 18, 2022 14:31 IST

Money Tips: Share Market - India TV Hindi

Photo:INDIA TV Money Tips: Share Market

Money Tips: Share Market को पैसे बनाने का काफी अच्छा रास्ता माना जाता है। इस चक्कर में बहुत सारे लोग शेयर मार्केट में पैसा लगाते भी हैं और नुकसान करा बैठते क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है हैं। शेयर मार्केट में नुकसान की सबसे बड़ी वजह होती है कि सही जानकारी का अभाव। जब कभी आप बाजार में निवेश करना शुरू करें तो कुछ बातों का गांठ बांध लें। ये न सिर्फ आपको मार्केट के जोखिम से बचाएगा बल्कि किए निवेश पर अच्छा रिटर्न दिलाने का भी काम करेगा। तो आइए जानते हैं बाजार में पैसे निवेश करने से पहले किन 5 बातों का ध्यान रखना चाहिए-

2. इस तरह करें सही शेयर का चुनाव

शेयर बाजार में निवेश शुरू करने के लिए बड़ी रकम की जरूरत नहीं होती है। आप थोड़ी-थोड़ी रकम से बाजार में निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। अगर आप नए निवेश हैं तो केवल अच्छी कंपनी के शेयर में ही निवेश करें। कभी भी penny stocks में पैसा लगाने से बचें। कई निवेशकों को लगता है कि पेनी स्टॉक में पैसा लगाकर कम समय में मोटा मुनाफा कमाया जा सकता है, लेकिन वो बड़ा नुकसान कर बैठते हैं। जब आप शेयर बाजार अच्छी तरह समझने लगें तो ही जोखिम उठा सकते हैं।

शेयर बाजार क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है में उतार-चढ़ाव आना आम बात है। ऐसे में संभव है कि आपने जिस शेयर में निवेश किया है वह टूटकर नीचे आ जाए या तेजी आने पर मुनाफा देने लगे। अगर आप पैसा बनाना क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है चाहते हैं तो कभी भी शेयर को जल्दबाजी में बेचे नहीं। शेयर के दाम बढ़ने से पहले खरीदना और गिरने से पहले तुरंत बेचने का फैसला नुकसान करा सकता है। अधिकांश निवेशक यह मानते हैं कि ट्राइंग टू टाइम इन मार्केट सही स्‍ट्रैटजी नहीं है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि किसी भी स्‍टॉक में सटीक टॉप और बॉटम का अंदाजा लगाना मुमकिन नहीं है।

4. यह गलती कभी भी न करें

कभी भी सोशल मीडिया पर दिए गए टिप्स के आधार पर किसी शेयर में निवेश नहीं करें। आप उन कंपनियों के शेयर पर फोकस रहें जिसमें आपने पूरी रिसर्च और भरोसे के साथ निवेश किया है। सुनी-सुनाई बातें अक्सर नुकसान करा देती है। अगर आपने सिर्फ stock के प्रदर्शन को देखकर जल्दी पैसा कमाने के चक्कर में कहीं इनवेस्ट किया है तो तुरंत अपने निवेश की समीक्षा करें।

अगर आप निवेशक हैं तो हमेशा किसी शेयर में निवेश लंबी अवधि के लिए करें। यह आपके निवेश पर जोखिम को कम करेगा और मोटा मुनाफा भी देगा। लंबी अविध वाले निवेश ही बाजार में उतार-चढ़ाव के दौरान भी स्टॉक मार्केट में से सबसे अधिक लाभ कमाते हैं।

तो फिर ये क्यों कहते हैं कि म्यूचुअल फंड बाज़ार जोखिम के अधीन हैं?

तो फिर ये क्यों कहते हैं कि म्यूचुअल फंड बाज़ार जोखिम के अधीन हैं?

ये सभी प्रतिभूतियां हालांकि 'बाज़ार' में ट्रेड होती हैं। कंपनी के शेयर स्टॉक एक्सचेंज द्वारा खरीदे व बेचे जाते हैं, जो पूंजी बाज़ार का हिस्सा होते हैं। इसी तरह से ऋण प्रपत्र जैसे सरकारी प्रतिभूतियां, स्टॉक एक्सचेंज या NDS कहे जाने वाले विशेषज्ञता सिस्टम के माध्यम से ट्रेड की जा सकती हैं। ये प्रतिभूतियों की खरीदारी व बिक्री के लिए बाज़ार की तरह काम करते हैं, जिसमें खरीदार और बेचने वाले विविध प्रकार के होते हैं। इसलिए खरीद व बिक्री की पूरी प्रक्रिया और मूल्य 'बाज़ार' द्वारा निर्धारित होती है।

किसी प्रतिभूति का मूल्य ‘बाज़ार शक्तियों’ पर निर्भर करता है और बाज़ार किसी समाचार या घटना पर, जिसमें कि बाज़ार की दिशा की पूर्व-जानकारी कठिन होती है, छोटी अवधि में किसी शेयर या प्रतिभूति के मूल्य का पूर्वानुमान असंभव होता है। इसकी दिशा को प्रभावित करने वाले बहुत से कारक व खिलाड़ी होते हैं।

शेयर बाजार से कमाई करना चाहते हैं तो जान लें ये 6 बातें

शेयर बाजार से कमाई करना चाहते हैं तो जान लें ये 6 बातें

यह ध्यान रखें कि इक्विटी ट्रेडिंग आसान काम नहीं है. आप समय के साथ ही निवेश की बारीकियां सीख सकेंगे. आप पहली बार स्टॉक मार्केट में निवेश कर रहे हैं तो इन छह बातों का ध्यान रखने से आपको काफी मदद मिल सकती है:

1. बचत की रकम को शेयरों में ना लगायें
शेयर बाजार में निवेश में जोखिम होता है. अगर आपने निवेश के लिए कंपनी चुनने में गलती की तो आपका पैसा डूब भी सकता है.

एक्सपर्ट यह सलाह देते हैं कि शेयर बाजार में निवेश तभी करें जब आपके पास बचत के अलावा भी रकम हो. इस स्थिति में अगर आपको कोई भी नुकसान होगा तो आप उसे झेल सकेंगे.

सिर्फ 13 फीसदी भारतीय निवेशकों को पसंद है शेयर बाजार, जानिए दुनिया का हाल

Only 13 percent Indian investors like the stock market, know the world

नई दिल्ली। कोरोना काल में दुनियाभर के शेयर बाजारों ने जबरदस्त गिरावट देखी हैं। मार्च और अप्रैल के महीने में तो हालत काफी खराब थी। कुछेक कंपनियों को छोड़ दिया जाए तो सभी को काफी नुकसान झेलना पड़ा। जिसकी निवेशकों को भी काफी नुकसान हुआ। अमेजन, एप्पल, टेस्ला, रिलायंस जैसी बड़ी कंपनियों को फायदा भी हुआ। रिलायंस तो कोरोना काल में ही अपने सबसे अच्छे दौर से गुजर रही है। जिसका फायदा निवेशकों को भी मिला है। क्या प जानते हैं आखिर भारत में कितने इंवेस्टर हैं, जोकि शेयर बाजार में अपना रुपया लगाते हैं? आखिर पूरी दुनिया के मुकाबले भारतीय निवेशकों का शेयर बाजार पर कितना विश्वास है? भारतीय निवेशक किस सेगमेंट में निवेश करना पसंद करते हैं? आइए आपको भी बताते हैं।

रेटिंग: 4.48
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 496
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *