ब्रोकर ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स

उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता

उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता
गोयल भारत-अमेरिका रणनीतिक भागीदारी मंच सम्मेलन और हिंद-प्रशांत आर्थिक रूपरेखा (आईपीईएफ) मंत्री स्तरीय बैठक में शामिल होने के लिए 5-10 सितंबर तक सैन फ्रांसिस्को और लॉस एंजिल्स आए हुए हैं।

अमेरिका को नया मुक्त व्यापार भागीदार चाहिए, तो भारत बातचीत को तैयार : गोयल

सैन फ्रांसिस्को, छह सितंबर (भाषा) अमेरिका मुक्त व्यापार के लिए यदि नया कारोबारी भागीदार बनाना चाहता है, तो भारत उसके साथ व्यापार समझौते को लेकर बातचीत करने का ‘‘इच्छुक’’ रहेगा और इससे उसे ‘‘प्रसन्नता’’ होगी। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को यह बात कही।

गोयल ने हालांकि कहा कि अपनी नीति के तहत अमेरिकी प्रशासन किसी नए साझेदार के साथ मुक्त व्यापार समझौता (एफटीए) नहीं करना चाहता है।

मंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘अगर वे अपना मन उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता बदलते हैं तो इससे भारत को खुशी होगी और वह बातचीत करना चाहेगा। हालांकि, उसके (एफटीए) बगैर भी दोनों देशों के बीच प्रौद्योगिकी, व्यापार और निवेश आकर्षित करने को लेकर सरोकार है।

पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के दौरान भारत और अमेरिका ने आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए छोट (मिनी) व्यापार समझौते पर बात की थी।

उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता

thumbs-up

Q. Consider the following:Which of the above countries/groupings have उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता a free trade agreement with India?Q. निम्नलिखित पर विचार कीजिए:उपर्युक्त में से किन देशों/समूहों का भारत के साथ मुक्त व्यापार समझौता है?

Q. Consider the following:

Which of the above countries/groupings have a free trade agreement with India?

Q. निम्नलिखित पर विचार कीजिए:

उपर्युक्त में से किन देशों/समूहों का भारत के साथ मुक्त व्यापार समझौता है?

हाल की संधिवार्ता उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता के अनुसार जुलाई 2020 से नैफ्टा (NAFTA) का स्थान कौन लेगा?

Key Points

नाफ्टा:

  • उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता ( नाफ्टा ) एक विवादास्पद व्यापार समझौता है जिस पर 1992 में बातचीत हुई थी, जिसने धीरे-धीरे संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको के बीच से गुजरने वाली वस्तुओं और सेवाओं पर अधिकांश उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता टैरिफ और अन्य व्यापार बाधाओं को हटा दिया।
  • समझौते ने उत्तरी अमेरिका के तीन सबसे बड़े देशों के बीच प्रभावी रूप से एक मुक्त व्यापार ब्लॉक बनाया।
  • नाफ्टा 1994 में लागू हुआ और 2020 तक चला, जब इसे बदल दिया गया।

निम्नलिखित में से कौन नाफ्टा से संबद्ध नहीं है?

Important Points

  • उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता कनाडा (नाफ्टा), मैक्सिको और संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा हस्ताक्षरित एक समझौता है, जो 1 जनवरी 1994 को उत्तर अमेरिका में एक त्रिपक्षीय व्यापार गुट के रूप में बनाया गया था।
  • नाफ्टा के उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता प्रभाव में आने के साथ ही विश्व का सबसे बड़ा मुक्त व्यापार क्षेत्र बन गया।
  • नाफ्टा का लक्ष्य संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको के बीच व्यापार और निवेश के सभी प्रशुल्क और गैर-शुल्क बाधाओं को खत्म करना है।

Share on Whatsapp

Last updated on Nov 18, 2022

BPSC 68th Exam Notification has been released for 281 posts. Candidates can apply for the BPSC 68h Prelims from 25th November 2022 to 20th December 2022. Also, the BPSC 67th Mains Notification has also been released. Candidates can apply for the BPSC 67th Mains from 21st November 2022 to 6th December 2022. The BPSC Prelims Result for the 67th Schedule released on 17th November 2022 along with this BPSC उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता 67th Prelims Final Answer Key has also been released. The BPSC Mains Exam will be taking place on 29th December 2022. The candidates will be selected on the basis of their performance in prelims, mains, and personality tests. A उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता total of 802 candidates will be recruited through the BPSC Exam 67th schedule.

मुक्त व्यापार समझौते में देरी होगी

नई दिल्ली। भारत और ब्रिटेन के बीच प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौते में देरी हो सकती है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने संकेत दिया है कि वे पिछली प्रधानमंत्री लिज ट्रस के मुकाबले व्यापार सौदों के लिए अलग नजरिया अपनाएंगे। भारत और ब्रिटेन के बीच होने वाले व्यापार समझौते पर सुनक ने कहा कि वे रफ्तार के लिए गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं कर सकते। यूरोपीय संघ छोड़ने के बाद से ब्रिटेन की ओर से किए गए व्यापार सौदों की आलोचना के बाद ऋषि सुनक ने कहा है उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता कि वे भारत जैसे देशों के साथ बातचीत उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता में जल्दबाजी नहीं करेंगे। गौरतलब है कि ट्रस ने दिवाली तक ही समझौता पूरा करने की बात कही थी।

बहरहाल, न्यूज एजेंसी ‘रायटर्स’ से उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता बातचीत के दौरान ऋषि सुनक ने कहा- मेरा नजरिया ऐसा होगा, जहां हम गति के लिए गुणवत्ता का त्याग नहीं करेंगे। मैं व्यापार सौदों को ठीक करने के लिए समय लेना चाहता हूं। ऋषि सुनक ने बुधवार को उम्मीद जताई कि ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौता अपने आर्थिक संबंधों को गहरा कर सकते हैं। हालांकि, उन्होंने साफ किया कि उन्होंने विशेष रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ व्यापार समझौते के बारे में बात नहीं की थी।

रेटिंग: 4.75
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 760
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *