ब्रोकर ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स

शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है?

शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है?

म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट कैसे करे – आसान हिन्दी में बेहतरीन आर्टिकल्स की एक शुरुआती गाइड

म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट हर एक इन्वेस्टर के बीच काफ़ी लोकप्रिय हैं । जिसका कारण है इससे शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? मिलने वाले फायदे। इसके कईं फायदों में से कुछ सबसे महत्वपूर्ण फ़ायदे नीचे दिए हैं, जो इन्वेस्टर्स को अपनी ओर खींचते है और जिसकी वजह से –

  • इन्वेस्टर्स कितनी भी राशि के साथ शुरुआत कर सकते हैं ( 500 जितना कम भी )
  • इन्वेस्टर्स, अलग-अलग स्टॉक्स और डेट,गोल्ड जैसे इंस्ट्रूमेंट्स में इन्वेस्ट कर सकते हैं
  • हर महीने ऑटोमेटेड इन्वेस्मेंट्स शुरू कर सकते हैं (SIP)
  • डीमैट शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? अकाउंट खोले बिना भी इन्वेस्ट कर सकते हैं

शुरुआती इन्वेस्टर्स के लिए इस म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट गाइड में हमने कुछ आर्टिकल्स को आपके लिए चुना है। जो म्युचुअल फंड को समझने में और कैसे इन्वेस्ट करना शुरू करें, इसमें आपकी मदद करेंगे। हम सुझाव देंगे कि आप इस पेज को बुकमार्क कर लें ताकि आप इन आर्टिकल्स को अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी पढ़ सकें।

1.म्युचुअल फंड्स की जानकारी

अगर आप म्युचुअल फंड्स और उसके प्रकारों के बारे में पहले से जानते हैं, तो आप सीधे अगले सेक्शन पर जा सकते है । ये 5 आर्टिकल्स, म्युचुअल फंड्स और उसके प्रकारों के बारे में सारी ज़रूरी जानकारी देंगे । हम टैक्स सेविंग फंड्स पर भी एक विशेष आर्टिकल दे रहे हैं।

    और ये कैसे काम करते हैं?
  • म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करना बनाम डायरेक्ट इक्विटी
  • . म्युचुअल फंड्स के फायदे और नुकसान
  • टैक्स सेविंग(ईएलएसएस) फंड्स

2.म्युचुअल फंड्स का एक पोर्टफ़ोलियो बनाना

म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करने का सही तरीका है – सबसे पहले इसका पोर्टफोलियो बनाना । एक पोर्टफोलियो, म्युचुअल फंड का एक समूह होता है। यह आपको अपने इन्वेस्टमेंट के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करेगा। आपका सारा रिटर्न् आपके पूरे पोर्टफोलियो पर टिका होता है, ना कि किसी एक विशेष फंड पर। इस सेक्शन में, हम यह सीखेंगे कि म्युचुअल फंड पोर्टफोलियो कैसे तैयार किया जाता है।

  • पोर्टफोलियो इन्वेस्टिंग क्या है कैसे तैयार किया जाए
  • अपने पोर्टफोलियो के लिए सही म्युचुअल फंड चुनना
  • म्युचुअल फंड को कब बेचें

3.म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करना

कईं शुरुआती इन्वेस्टर्स म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करने की प्रक्रिया को मुश्किल मानकर उसमें इन्वेस्ट करने से कतराते हैं। ये आर्टिकल्स ऐसे ही शुरुआती इन्वेस्टर्स को म्युचुअल फंड को समझने में और इन्वेस्टमेंट शुरू करने में मदद करेंगे।

    और ये म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करने के लिए ज़रूरी क्यों है (SIP) के द्वारा इन्वेस्ट करना

4.कुछ और महत्वपूर्ण जानकारियाँ

म्युचुअल फंड्स में इन्वेस्ट करते समय कुछ ज़रूरी बातें है, जिनकी जानकारी हर शुरुआती इन्वेस्टर को होनी चाहिए । इन बातों को समझे बिना इन्वेस्ट करने से, रिटर्न्स पर काफ़ी बुरा असर पड़ सकता है।

  • म्युचुअल फंड्स पर टैक्स
  • म्युचुअल फंड्स से पैसे निकालने पर एग्ज़िट लोड
  • म्युचुअल फंड्स का एक्सपेंस रेशो
  • इन्वेस्टमेंट से जुड़ी भाषा की जानकारी

जहाँ म्युचुअल फंड्स की बात आती है वहाँ आमतौर पर लिस्ट में दिए गए इन शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है । हालाँकि शुरुआती इन्वेस्टर्स को इन सभी शब्दों को याद रखने की ज़रूरत नहीं है, आप किसी भी शब्द को सीखने के लिए, ग्लोसरी (डिक्शनरी) के तौर पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीखें | How to Learn Option Trading

नमस्कार प्रिय पाठक आज इस लेख में हम आपको ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं जब लोग शेयर मार्केट में नए-नए आते हैं तो उनको ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में पता चलता है लेकिन हमने आज तक यह देखा है कि इंटरनेट पर ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में किसी ने भी अच्छे से जानकारी प्रदान नहीं की है तो आज के इस लेख में आपको ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीखें, ऑप्शन ट्रेडिंग कहां करें, ऑप्शन ट्रेडिंग क्या है, ऑप्शन ट्रेडिंग के फायदे, ऑप्शन ट्रेडिंग के नुकसान ऑप्शन और ट्रेडिंग के प्रकार आदि के बारे में विस्तार से चर्चा करने वाले हैं

ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीखें – How to Learn option Trading

यदि आप शेयर बाजार में बिल्कुल नहीं है तो हमारा सुझाव यह रहेगा कि आप ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में सीख सकते हैं लेकिन आपको ऑप्शन ट्रेडिंग करना नहीं है

क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि जब कोई व्यक्ति शेयर मार्केट में नया आता है तो वह इक्विटी के अंदर ट्रेड करता है इक्विटी के अंदर अक्सर देखा गया है कि कम प्रॉफिट होता है

अब जब व्यक्ति को ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में पता चलता है तो वह ऑप्शन ट्रेडिंग को करने लगता है लेकिन आपको हमेशा यह याद रखना है कि ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में अच्छे से सीख कर ही आपको इसमें अपना पहला कदम रखना है

यदि आप शेयर मार्केट में पहले से ही ट्रेडिंग करते हैं तो आपको ऑप्शन ट्रेडिंग को समझने में ज्यादा टाइम नहीं लगेगा क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग भी इक्विटी की तरह ही होती है इसमें बस सबसे बड़ा फर्क यह होता है कि इक्विटी में मूवमेंट बहुत ही धीरे-धीरे होती है जबकि ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर मूवमेंट पलक झपकते ही काफी ज्यादा ऊपर से नीचे हो जाती है

ऑप्शन ट्रेडिंग क्या है – What is option trading

ऑप्शन ट्रेडिंग का मतलब किसी इंडेक्स के जैसे कि निफ्टी और बैंक निफ़्टी ऊपर जाने वाला है या नीचे जाने वाला है उसके हिसाब से आपको अपने ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम से बैंक निफ्टी और निफ्टी की कॉल और पूट को खरीदना पड़ता है

  • यदि मार्केट ऊपर जाने वाला है तो आपको कॉल ऑप्शन खरीदना पड़ता है
  • मार्केट नीचे जाने वाला है तो आपको पुट ऑप्शन खरीदना पड़ता है

हम आपको बता दें ऑप्शन ट्रेडिंग करते समय बहुत ही सावधानी रखनी पड़ती है मार्केट के सेंटीमेंट को और टेक्निकल को अच्छे से समझने के बाद ही ट्रेडिंग की जाती है यदि कोई व्यक्ति ऐसे ही ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरुआत करता है तो हमेशा बर्बाद ही होता है इसलिए यह बात याद रखें कि आपको हमेशा ऑप्शन चाहिए तब ही शुरू करनी है जब आप इसके बारे में अच्छे से सीख जाए

ऑप्शन ट्रेडिंग के फायदे – Benefit of option trading

हम आपको बताना चाहते हैं कि ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर पैसा बहुत ही तेजी से बनता है यहां पर मार्केट की फ्लकचुएशन के हिसाब से आपके ऑप्शन का प्रीमियम में काफी तेजी से उतार और चढ़ाव आता रहता है ऑप्शन ट्रेडिंग करते समय आपको बिल्कुल अलर्ट होकर बैठना पड़ता है ऑप्शन ट्रेडिंग मैं आपको बिना किसी डिस्क्रिप्शन शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? के साथ में काम करना पड़ता है

  • ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर बहुत जल्दी पैसा बनता है
  • ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर आप कम पैसों के साथ ज्यादा पैसा बना सकते हैं
  • यहां पर 1 दिन में अपने पैसों का कई गुना कर सकते हैं
  • यदि आप शेयर मार्केट में बहुत जल्दी ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं तो ऑप्शन ट्रेडिंग आपके लिए है लेकिन इससे पहले आपको इसके बारे में अच्छे से सीखना चाहिए

ऑप्शन ट्रेडिंग के नुकसान – Disadvantage of option trading

जिस प्रकार ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर बहुत तेजी से पैसा बनता है उसी तरह यहां पर पैसा बर्बाद बहुत तेजी से होता है यदि कोई व्यक्ति बिना सीखें ही ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर घुसता है

तो वह व्यक्ति कुछ दिनों के भीतर ही अपने सारे पैसे यहां पर गवा देता है क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग बहुत ही खतरनाक ट्रेडिंग है ऑप्शन ट्रेडिंग एक एक्सपीरियंस व्यक्ति ही अच्छे से कर पाता है अक्सर यह देखा गया है कि ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर नए व्यक्ति हमेशा बर्बाद होते हैं

    शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है?
  • ऑप्शन ट्रेडिंग बहुत ही खतरनाक ट्रेनिंग है
  • ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर पैसा बहुत ही तेजी के साथ loss में बदलता है
  • अक्सर यह देखा गया है कि ऑप्शन ट्रेडिंग करने वाले 100 में से 90 लोग Loss ही करते हैं
  • हमेशा ऑप्शन ट्रेडिंग करते समय उतनी ही पैसे लगाने चाहिए जितने पैसे होने पर आपको किसी प्रकार का दुख नहीं हो

कॉल और पुट में क्या अंतर है – what is the difference between call and put

कॉल और पूट में क्या अंतर है जब बैंक निफ़्टी और निफ्टी ऊपर जाने वाला होता है तब आपको अपने Demat अकाउंट में कॉल ऑप्शन खरीदना होता है

जब बैंक निफ्टी और निफ्टी नीचे जाने वाला होता है तब आपको पुट ऑप्शन खरीदना पड़ता है

ऑप्शन ट्रेडिंग सीखने में कितना समय लगता है

यदि आप पूरे लगन और मेहनत के साथ में ऑप्शन ट्रेडिंग सीखने का कार्य करते हैं तो आपको 1 से 2 साल का समय लगता है

ऑप्शन ट्रेडिंग में कितना चार्ज लगता है

Option trading पर कितना चार्ज लगेगा यह आपका डिमैट अकाउंट किस ब्रोकर के पास है उसके ऊपर निर्भर करता है क्योंकि मार्केट में कई सारे ऐसे ब्रोकर है जो ₹10 ऑप्शन ट्रेडिंग पर चार्ज करते हैं जबकि कुछ ब्रोकर शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? ₹20 और कुछ ब्रोकर तो ₹50 तक भी ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए चार्ज करते हैं

ऑप्शन ट्रेडिंग क्या है और कैसे किया जाता है

भारतीय शेयर बाजार में ऑप्शन ट्रेडिंग पैसे कमाने का सबसे फास्ट तरीका है ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास एक डीमैट अकाउंट होना बहुत ही आवश्यक है डीमेट अकाउंट के बाद आपके पास सही नॉलेज का होना भी बहुत जरूरी है क्योंकि बिना सीखे ऑप्शन ट्रेडिंग करना मतलब बर्बाद होना है

ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स – option trading tips

हमारे पास आपके लिए ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए कुछ अच्छे टिप्स है

  • ऑप्शन ट्रेडिंग के अंदर आपको कभी शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? भी शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? ज्यादा पैसे के साथ में ट्रेडिंग नहीं करनी चाहिए
  • हमेशा ऑप्शन ट्रेडिंग चेक कर ही करनी चाहिए बिना सीखे कभी भी ऑप्शन ट्रेडिंग में नहीं गुसना चाहिए
  • कभी भी और कॉन्फिडेंस और लालच में आकर ऑप्शन ट्रेडिंग नहीं करनी चाहिए
  • हमेशा डिसिप्लिन के साथ ऑप्शन ट्रेडिंग करना चाहिए
शुरुआती लोगों के लिए कौनसा ट्रेडिंग सबसे अच्छा है

यदि आप शेयर मार्केट में बिल्कुल नहीं है तो आपको ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए नए लोगों के लिए शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने का सबसे अच्छा तरीका स्विंग ट्रेडिंग है

निष्कर्ष – Option trading Meaning Conclusion

आज के इस लेख ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीखे मैं आपने ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में संपूर्ण जानकारी जानने जानी है यदि आपका इसलिए से संबंधित कोई भी सवाल किया सुझाव है तो आप हमारे साथ कमेंट में साझा कर सकते हैं ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीखे लेख को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

शेयर बाजार से कौन कमाता है सबसे ज्यादा पैसा, इन 5 को आप जानते हैं?

अमित कुमार दुबे

हर कोई शेयर बाजार से पैसा बनाना चाहता है. पिछले कुछ महीनों में शेयर बाजार के प्रति रिटेल निवेशकों का झुकाव बढ़ा है. लेकिन अधिकतर लोग शेयर बाजार से पैसे नहीं कमा पाते हैं. कम अनुभव और बाजार की चाल को सही से नहीं समझ पाने के कारण स्टॉक मार्केट में नाकामी मिलती है. लेकिन कई ऐसे लोग हैं, जो बाजार की नब्ज को समझते हैं और आज देश से बड़े निवेशक माने जाते हैं. आज हम आपको 5 ऐसी शख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हर शेयर बाजार से करोड़ों कमाते हैं. एक तरह से ये शेयर बाजार के धनकुबेर हैं. (Photo: Getty Images)

बिग बुल राकेश झुनझुनवाला

1. राकेश झुनझुनवाला: राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) को शेयर बाजार (Stock Maket) में निवेश का 40 साल से ज्यादा का अनुभव है. वे जिस शेयर में हाथ डालते हैं, वो दौड़ने लगता है. निवेशक उनकी टिप्स को ऐसे फोलो करते हैं. झुनझुनवाला को भारतीय शेयर बाजार का वॉरेन बफे भी कहा जाता है. उन्होंने 18 साल की उम्र में ही शेयर बाजार में कदम रखा. (Photo: Getty Images)

 5,000 रुपये से की थी निवेश की शुरुआत

झुनझुनवाला ने अपने करियर की शुरुआत महज 5,000 रुपये से की थी. दिग्गज निवेशक ने साल 1985 में दलाल स्ट्रीट (Dalal Street) का सफर शुरू किया था, तब BSE सेंसेक्स 150 अंक के स्तर पर था. राकेश झुनझुनवाला के मुताबिक 1988 में उनकी नेट वर्थ एक करोड़ रुपये थी, जो 1993 में बढ़कर 200 करोड़ हो गई. फोर्ब्स के मुताबिक आज राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala net worth) के पास 36,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की दौलत है. (Photo: Getty Images)

राधाकिशन दमानी

2. राधाकिशन दमानी: राधाकिशन दमानी (Radhakishan Damani) लाइमलाइट से दूर रहते हैं. लेकिन बड़े निवेशक के तौर पर गिने जाते हैं. दमानी एक सफल निवेशक के साथ-साथ सफल बिजनसमैन भी हैं. डी-मार्ट नाम के रीटेल चेन के मालिक भी राधाकिशन दमानी हैं. भारत के रिटेल किंग कहे जाने वाले दमानी दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के भी गुरु हैं. शेयर बाजार में उनकी टिप्स को फोलो किया जाता है. राधाकिशन दमानी भारत के टॉप 10 अमीरों की लिस्ट में शामिल हैं. हाल ही में दमानी ने दक्षिण मुंबई के मलाबार हिल्स इलाके में 1,001 करोड़ रुपये का बंगला खरीदा था.

राकेश झुनझुनवाला के भी गुरु हैं राधाकिशन दमानी

राधाकिशन दमानी ने शेयर बाजार में अपनी शुरुआत 1980 के दशक में की थी. उन्होंने 5000 रुपये से निवेश की शुरुआत की थी. राधाकिशन दमानी वह हमेशा सफेद कपड़े पहनते हैं और शेयर बाजार के दिग्गज निवेशकों के बीच 'मिस्टर व्‍हाइट एंड व्‍हाइट' के नाम से मशहूर हैं. उनकी सलाह है कि किसी भी शेयर में छोटी अवधि के लिए पैसा लगाने से बचें. एक सेक्टर के बजाए हर सेक्टर के अच्छे शेयरों पर नजर रखें. ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक राधाकिशन दमानी की दौलत 19.3 बिलियन डॉलर यानी 1.42 लाख करोड़ रुपये है. संपत्ति के मामले में दमानी दुनिया के अमीरों की सूची में 97वें स्थान पर आ गए हैं. दमानी ने इंडिया सीमेंट, वीएसटी इंडस्ट्रीज, ब्लूडार्ट, सिनेप्लेक्स कंपनियां और कुछ तंबाकू कंपनियों में निवेश किए हैं. राधाकिशन दमानी के पिता एक शेयर ब्रोकर थे.

डॉली खन्ना

3. डॉली खन्ना : पुरुषों के वर्चस्व वाले भारतीय शेयर बाजार (Share Market) में एक महिला निवेशक ने भी अपना लोहा मनवाया है. चेन्नई की दिग्गज निवेशक डॉली खन्ना (Dolly Khanna) ने शेयरों से करोड़ों की कमाई कर यह उपलब्धि हासिल की है. डॉली ने अपने पति राजीव खन्ना (Rajiv Khanna) के साथ मिलकर शेयरों में निवेश से मोटी कमाई की शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? है. डॉली खन्ना चमक-दमक से दूर रहती हैं.

इन शेयरों में डॉली खन्ना का निवेश

डॉली खन्ना के पोर्टफोलियो का प्रबंधन उनके पति राजीव खन्ना करते हैं. डॉली खन्ना के पास कई कंपनियों में बड़ी हिस्सेदारी है. मुथूट कैपिटल, टाटा मेटालिक्स, रेन इंडस्ट्रीज, बटरफ्लाइ गांधीमठी अप्लायंसेज, आरएसडब्ल्यूएम, श्रीकलाहस्ती पाइप्स. Polyplex Corporation, तिरुमला केमिकल्स, रेडिको खेतान (Radico Khaitan) और जेके पेपर (JK Paper) में निवेश हैं. डॉली खन्ना की फिलहाल 357.4 करोड़ रुपये की नेटवर्थ है. राजीव खन्ना का कहना है कि शेयर बाजार में सफलता के लिए सिर्फ मेरिट काफी नहीं है. थोड़ा किस्मत का भी साथ होना चाहिए.

रामदेव अग्रवाल (Raamdeo Agrawal)

4. रामदेव अग्रवाल (Raamdeo Agrawal): दिग्गज निवेशक और मोतीलाल ओसवाल फाइनेंस सर्विसेज लिमिटेड (Motilal Oswal Financial Services) के प्रबंध निदेशक रामदेव अग्रवाल दलाल स्ट्रीट के मंझे हुए खिलाड़ी हैं. साल 1983 में सीए के पढ़ाई पूरी करने के बाद रामदेव अग्रवाल को कई नौकरियों के कई ऑफर आए. लेकिन उन्होंने शेयर बाजार की राह चुनी. उन्होंने 25 साल पहले 4-5 लाख रुपये से निवेश की शुरुआत की थी. रामदेव का कहना है कि उसी कंपनी में निवेश करें, जिसका बिजनेस अच्छा हो और उस बिजनेस को चलाने वाला मैनेजमेंट अच्छा हो. उनके पोर्टफोलियो में Maharashtra Scooters, Bharat Wire Ropes लिमिटेड और Motilal Oswal Financial Services लिमिटेड हैं.

अनिल कुमार गोयल

5. अनिल कुमार गोयल : इस दिग्गज निवेशक को स्मॉलकैप शेयरों में खास दिलचस्पी है. क्वालिटी स्मॉलकैप शेयरों में निवेश कर मोटी कमाई करने में ये माहिर हैं. गोयल के पास बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स की कम से कम 30 कंपनियों में अच्छी-खासी हिस्सेदारी है. अनिल कुमार गोयल (Anil Kumar Goel) का जेबीएम ऑटो, श्रीकलाहस्ती पाइप्स, तिरुमला केमिकल्स, कॉस्मो फिल्म्स, द्वारिकेष शुगर इंडस्ट्रीज, ओपी चेन्स, सांघ्वी मूवर्स और वर्धमान होल्डिंग्स में बड़ा निवेश किया है. गोयल की कुल नेटवर्थ (Anil Kumar Goel Net Worth) 1,330.9 करोड़ रुपये की है.

शेयर मार्केट में करना है शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? काम तो ऐसे बने स्टॉक ब्रोकर

शेयर मार्केट की दुनिया में अक्सर लोग पैसा लगाकर ही मुनाफा कमा पाते हैं लेकिन आप अपने टैलेंट के दम पर यहाँ अपना करियर बना सकते हैं. शेयर मार्केट के अंदर एक खास करियर (Stock Broker kaise bane?) ऑप्शन स्टॉक ब्रोकर है. जिसमें करियर बनाकर आप खूब सारा पैसा कमा सकते हैं.

By रवि नामदेव On Aug 23, 2022 675 0

शेयर मार्केट आपको इतना पैसा कमाकर दे सकता है जितना आप पूरी ज़िंदगी में नहीं कमा सकते. वहीं दूसरी ओर आप इसमें पैसा लगाकर बुरी तरह कर्ज में भी डूब सकते हैं. लेकिन यदि आप इसमें करियर बनाना चाहते हैं तो आप स्टॉक ब्रोकर बनकर (Stock Broker Career) खुद भी मुनाफा कमा सकते हैं और दूसरों को भी कमाकर दे सकते हैं.

शेयर मार्केट की दुनिया शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? में अक्सर लोग पैसा लगाकर ही मुनाफा कमा पाते हैं लेकिन आप अपने टैलेंट के दम पर यहाँ अपना करियर बना सकते हैं. शेयर मार्केट के अंदर एक खास करियर (Stock Broker kaise bane?) ऑप्शन स्टॉक ब्रोकर है. जिसमें करियर बनाकर आप खूब सारा पैसा कमा सकते हैं.

स्टॉक ब्रोकर क्या होता है?(What is Stock Broker?)

स्टॉक ब्रोकर को समझने के लिए पहले आप ये समझिए कि भारत में आप स्टॉक कैसे खरीदते हैं?

कोई कंपनी जब अपना शेयर लाती है तो वो शेयर मार्केट में लिस्ट होता है. इस शेयर को खरीदने और बेचने का काम करती है ब्रोकरेज फर्म. इन ब्रोकरेज फर्म पर बल्क में कंपनियों के शेयर होते हैं.

इन ब्रोकरेज फर्म में ही काम करते हैं स्टॉक ब्रोकर. स्टॉक ब्रोकर का काम होता है आम लोगों के लिए शेयर को खरीदना और बेचना. मतलब आप कोई शेयर खरीदना चाहते हैं तो आपको स्टॉक ब्रोकर को ही कहना होगा और साथ ही बेचने के लिए भी आपको उसी को कहना होगा.

स्टॉक ब्रोकर इसके अलावा आपको दूसरे स्टॉक भी सजेस्ट करते हैं. स्टॉक ब्रोकर कमीशन और सैलरी दोनों के आधार पर कार्य करते हैं.

अतः स्टॉक ब्रोकर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो शेयर की खरीद और बिक्री का कार्य करता है.

स्टॉक ब्रोकर के लिए योग्यता (Stock Broker Eligibility)

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपको शेयर मार्केट की बेसिक स्किल्स के बारे में अच्छी तरह पता होना चाहिए. क्योंकि आपको जिस जगह पर काम करना है उसके बारे में पहले से जानकारी होना चाहिए.

आपने फाइनेंस, कॉमर्स या अकाउंटेनसी में ग्रेजुएशन करना होता है. क्योंकि इनमें आपको अच्छे से शेयर मार्केट के बारे में समझाया जाता है.

आपकी कम्यूनिकेशन स्किल बहुत अच्छी होनी चाहिए. आपमें लोगों को कन्वेंस करने का गुण होना चाहिए.

आपकी गणित और रिजनिंग बहुत ही स्ट्रॉंग होनी चाहिए. क्योंकि शेयर मार्केट में सारा खेल आंकड़ों का है.

स्टॉक ब्रोकर कैसे बने? (How to become stock broker?)

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपके अंदर जरूरी योग्यता है तो आप नीचे दिए गए सर्टिफिकेट कोर्स को करके स्टॉक ब्रोकर बनने की ओर अपना कदम बढ़ा सकते हैं.

NSE’s Certification In Financial Markets
NSE’s Certified Market Professional
Certificate Program On Capital Markets
A PG Diploma In Capital Market And Financial Services
Post Graduate Diploma In Fundamentals Of Capital Market Development

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए बेस्ट कॉलेज (Stock broker best college)

भारत में यदि आप स्टॉक ब्रोकर शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ब्रोकर अच्छा है? बनना चाहते हैं और इन कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको ये सारे कोर्स नीचे दिए गए कॉलेज में मिल जाएंगे.

Institute Of Company Secretaries Of India
Institute Of Capital Market Development
All India Center For Capital Market Studies
Mumbai Stock Exchange Training Institute
Institute Of Financial And Investment Planning
Institute Of Chartered Financial Analysts Of India
The Orion Institute Of Capital Market
The UTI Institute Of Capital Market

स्टॉक ब्रोकर कितना कमा सकता है? (Stock broker salary)

Stock Broker बनना कोई हंसी खेल नहीं है. इसमें एंट्री पाना तो आपके लिए आसान रहेगा लेकिन यहाँ टिके रहना मुश्किल है. इसमें शुरुआती तौर पर आप सैलरी के रूप में 20 से 25 हजार रुपये प्रतिमाह कमा सकते हैं.

जब आपको अनुभव हो जाता है और आप सीख जाते हैं कि कब कौन सा शेयर ऊपर जाने वाला है और कौन सा शेयर नीचे आने वाला है तो आप उनमें निवेश करके खुद भी मुनाफा कमा सकते हैं. इसमें कमाई की कोई सीमा नहीं है.

भारत में किसी स्टॉक में निवेश करने का काम काफी हद तक ऑनलाइन हो चुका है और लोग अपनी मर्जी से अपने फोन या कंप्यूटर से पैसा निवेश करके अपनी पसंद का शेयर खरीद लेते हैं. लेकिन स्टॉक ब्रोकर का रोल फिर भी महत्वपूर्ण होता है. क्योंकि ये ही आपको बताता है कि ये नया शेयर आया है आप इसमें निवेश कीजिए, कौन सा शेयर आपके लिए फायदेंमंद रहेगा. ये सारी जानकारी बिना स्टॉक ब्रोकर के आपको नहीं मिल पाती है. साथ ही आपके Demat account को मैन्टेन करने का काम भी एक स्टॉक ब्रोकर ही करता है.

रेटिंग: 4.20
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 633
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *